आपका सच्चा दोस्त कौन है | Who are your True Friends

आपका सच्चा दोस्त कौन है – Hello दोस्तों, जैसे आप मेरे ऑनलाइन दोस्त है, वैसे मेरा ऑफलाइन दोस्त भी है। आज हम ऐसे ही दोस्त के बारे में जानेंगे कि सच में आपका कौनसा दोस्त सच्ची दोस्ती निभाती है और कौन झूठा, तो जानने के लिए आगे पढ़े।

तो चलिए शुरू करते हैं –

 

आपका सच्चा दोस्त कौन है ?

 

दोस्ती हमारे लाइफ का सबसे खूबसूरत रिश्ता है, फॅमिली हम खुद नहीं चुनते।

लाइफ पार्टनर के लिए हमने कई बार सुना है कि जोड़ियां ऊपर से बनके आती है।

बचा तो एक ही रिश्ता, वो है दोस्ती का।

दोस्त हम खुद चुनते हैं, इसलिए ये बहुत जरुरी है हम ऐसे दोस्त चुने जो हमारे लिए सही हो।

दोस्त कितने हैं वो मायने नहीं रखता, लेकिन दोस्त कैसे हैं वो बहुत मायने रखता है।

एक पुराणी कहावत है – एक शत्रु भी, एक झूठे दोस्त के मुकाबले अच्छे होते है।

तो कैसे पता चले कि कौन है हमारी True फ्रेंड्स और कौन है हमारी Fake फ्रेंड्स।

दोस्ती का मतलब ये नहीं होता कि आप ट्रिप्स पे जाते हैं, कितनी पार्टीज करते हैं, कितना साथ चिल करते हैं।

सच्चे दोस्त वो होते हैं –

जो भले ही आपसे ज्यादा मिल नहीं पाते, फिर भी सबसे ज्यादा आपको समझते हैं।

जो हर वक़्त आपको सपोर्ट करते हैं।

जिसने कितना भी समय गुजर जाये बात किये बिना पर आपका bond कभी चेंज नहीं होता।

जो आपके पीछे भी आपके लिए स्टैंड लेते हैं।

आपके खिलाफ कुछ नहीं सुन सकते।

आपको खुद कितनी भी गालियाँ दे दें, लेकिन किसी और को एक शब्द भी नहीं कहने देते।

आपके सामने आपकी तारीफ करने वाले बहुत मिल जायेंगे, पर आपके पीठ पीछे तारीफ करने वाले सिर्फ आपके सच्चे दोस्त होते हैं।

 

एक कहानी से इसे समझते हैं –

 

दो दोस्त थे – अजय और विजय।

अजय ने अपने लाइफ में बड़े failures देखें। पर काफी मेहनत करने के बाद उसे सक्सेस हासिल हुई।

और वो बात उसने अपने दोस्त विजय के साथ शेयर करी।

विजय ने कहा अरे ये तो बहुत अच्छी बात है, क्यूंकि तुम्हें याद है तुम कितने बार फ़ैल हुए, कितने failures देखें, कितने लोगो ने रिजेक्ट किया, चलो अच्छा है फाइनली कुछ तो अच्छा हुआ।

यह बात यहाँ बोलने की जरुरत नहीं थी।

आज विजय ने अजय को सिर्फ appreciate भी कर सकता था।

लेकिन उसने वो नहीं किया, उसने अजय को उनके पुराने failures याद दिला के उसे फिर से underconfident करने की कोशिश की।

इससे हमें क्या समझ आता है – कि जो True Friends होते हैं, वो आपके साथ आपका प्रेजेंट सेलिब्रेट करते हैं। आपके सक्सेस को सेलिब्रेट करते हैं, आपके स्ट्रगल्स में जरूर वो आपके साथ थे, पर आपको बार बार याद दिला के आपको कमजोर नहीं करते।

वही आपके Fake Friends आपको बार बार आपके failures याद दिलाते हैं, आपकी गलतियां याद दिलाते हैं, आपकी कॉन्फिडेंस को तोड़ने को कोशिश करते हैं, क्यूंकि आपकी सक्सेस appreciate नहीं करना चाहते हैं।

 

हर कोई अपने जीवन में अलग चॉइसेस लेता है।

उनके decisions अलग होते हैं, उनके ambitions अलग होते हैं, उनकी सोच अलग होती है और उड़ान भी !

लेकिन True Friends आपके ambitions को, आपकी काम को, आपकी सीटुएशन्स को, respect करते हैं और अलग होने के बावजूद भी आपको अपना सा महसूस करवाते हैं।

वही Fake Friends आपसे इसलिए अलग हो जाते हैं क्यूंकि आप उनको उनके जैसे नहीं लगते हैं, आप उनकी जैसी सोच नहीं रखते, आपके सीटुएशन्स उनसे अलग है और वो अलग उनको अच्छा नहीं लगता।

कहते हैं कि दोस्त ऐसा हो जो हर वक़्त आपका साथ दे, आप अच्छे काम करें या बुरे, वो आपको सपोर्ट करेगा, लेकिन क्या सच्ची में यह True Friends है ???

क्या आप अपने दोस्त को सपोर्ट करेंगे ये जानते हुए कि वो गलत है ? क्या ये दोस्ती सच में सच्ची कहलाएगी ?

नहीं ! जो आपके सच्चे दोस्त यानी True Friends होते हैं वो कभी आपको गलत करने नहीं देते, वो आपके गलत कामों में आपका साथ नहीं देते, बल्कि आपको समझाते हैं कि आप क्या गलत कर रहे हैं, आप कहाँ गलत जा रहे हैं और इसके रिजल्ट्स क्या आने वाले हैं, क्यूंकि सच्चे दोस्त आपको सफर करते हुए नहीं देख सकते।

वही आपके Fake Friends आपके गलत कामों में भी support करते हैं, आपको तब भी सपोर्ट करते हैं जब आप गलत रास्ते पर जा रहे हैं, कुछ गलत काम कर रहे हैं।

क्यूंकि अगर आप गलत करते हुए पकडे गए और आपको उसकी consequences handle करने पड़े, तो भी उनको कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।

आपको लगेगा यही मेरा सच्चा दोस्त है, क्यूंकि मेरा ये गलत कामों में मुझे इतना सपोर्ट कर रहा, लेकिन जब आप फस जाओगे, तब वो सिर्फ दूर से देखते ही रहेगा।

 

 

Conclusion

 

दोस्तों ध्यान रखें इन बातों से जज करें कि कौन है आपके True Friends और कौन है आपके Fake Friends!

तो मुझे उम्मीद है आप अपने दोस्त को पहचान पाओगे आज के बाद।

आपको आज का हमारा यह आर्टिकल (आपका सच्चा दोस्त कौन है) कैसा लगा ?

आपके कितने सच्चे दोस्त है ?

क्या आपका कोई दोस्त है ? या फिर एक भी दोस्त नहीं ?

अगर आपके मन कोई सवाल या सुझाव है तो मुझे नीचे कमेंट में जरूर बताये।

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

 

सम्बंधित लेख –

  1. Power of Silence
  2. 9 Life Lessons from Dr A.P.J. Abdul Kalam
  3. 11 Body Language in Hindi
  4. आत्म नियंत्रण कैसे करें ?
  5. चतुर चालाक कैसे बने?
  6. सुबह जल्दी उठने के 7 फायदे
  7. सुबह जल्दी कैसे उठें?
  8. सपनो का असली मतलब
  9. Comfort Zone क्या है?
  10. 7 Traits of a High-Value Man
  11. 7 Traits of a High-Value Women
  12. 6 Miracle Morning Habits in Hindi
  13. 5 Things से Smart कैसे बने?
  14. Self Love कैसे करे?
  15. Patience कैसे रखे?

Leave a Comment