Powerful Tips - How To Be Happy Always ? - Motivational Speech in Hindi

हमेशा खुश कैसे रहे

How yourself always be happy motivational speech in Hindi


Hello दोस्तों, आज मैं ऐसा topic के ऊपर बात करने वाला हूँ title देख कर तो आपको पता चल गया होगा, तो देखिये आज कल हम ऐसे busy हो जाते है अपने काम में जो आपके लिए दुख को बढ़ाबा देता है और ऐसे कोई फस जाते है कही पर, मतलब कोई भी काम करो लेकिन ज्यादातर काम में आपको मतलब दुख ही मिलेगा,

  हम ऐसे busy हो जाते है हमे अपने ऊपर कोई ध्यान ही नहीं है, तो आप जब पुरे दुख में पर जाते हो कही भी कभी भी तो आपके mind में ऐसा thoughts जरूर आता ही क्या होगा की क्या हम हर समय खुश कैसे रहे ? क्या ऐसा तरीका है की हम हमेशा खुश ही रहे ? तो दोस्तों आज मैं इसी के ऊपर कुछ थॉट्स आपलोगों के साथ शेयर कर रहा हूँ -


2 Powerful tips - How to Be Happy Always - Motivational Speech in Hindi






'' दो तरीके है हमारे पास act करने कि -


 एक तरीका है - 


 ' हम खुश होने के लिए act करें, यानि की entrance crack करना है वो हो जाएगा तो में खुश हु, नहीं तो मैं परेशान हूं, ये person मुझे मिल जाना चाहिए, मिल गया तो मेरी life set है, नहीं मिला तो मेरी ज़िन्दगी झंड है। ऐसे ही हम जीतें है,

 तो ये एक तरीका है ज़िन्दगी को जीने का, यानि की खुश होने के लिए काम करो, खुश होने के लिए काम करके कुछ achieve करो, वो achieve कर लिया तो खुश हो जाओ कुछ देर के लिए फिर दुखी हो जाओ,

 क्योंकि फिर कुछ और achieve करने में लग जाओ फिर भागो। ये एक तरीका है यानि खुश होने के लिए struggle करते रहो मरते दम तक,

 पहले किसी से जुड़ने की struggle उसके बाद उससे पिछे चुराने की struggle, पहले पटाना है बाद में पीछा चुराना है, यही चलता रहता है, अब क्या करू? 

अब उस से अलग तो होना चाहता हूं लेकिन अलग हो नहीं सकता, अब में क्या करू ? में फस गया हूं मतलब यही फसे रह जाते है।

 इसका starting point क्या है - दुख, आपके mind में यही सब चलता रहता है - 'मैं दुखी हूँ अभी, अभी मैं incomplete हूँ, अभी मैं बेवकूफ हूँ, अभी मैं unsuccessful हूं, तो मुझे successful होने के लिए, मुझे complete होने के लिए, मुझे ये बनने के लिए मुझे ये करना परेगा,'

 वो हो गया तो मैं दुनिया की नज़रों में उठ जाऊंगा या उठ जाऊंगी नहीं तो मैं गिर जाऊंगा या गिर जाऊंगी ये एक तरीका है आपके पास act करने के लिए।


How To Be Happy Always




 दूसरा तरीका क्या है -


 if you understand deeply who you are? ' - तो वहा से जो starting point है वो change हो जाता है, अब आपको खुच होने के लिए और कुछ नहीं चाहिए,

 आप खुश हो इसी moment में खुश हो, तो चाहे कुछ करो या ना करो अब उस खुशी से act करो,

 मतलब अब चौबीस घंटे खुश रहो और खुशी खुशी कुछ करो, तो करना है तो करो, नहीं करना है तो मत करो। किसी के बाप का कर्जा देना है क्या ?

 सोचो, समझ गए ना, करना है तो खुशी से करो, नहीं करना है तो खुशी से मत करो, अभी दूसरा वाला तरीका है वहा पर जिस तरह से दुनिया जी रही है वहा पर दोनो ही जगह पर आप खुश नहीं हो सकते हो।




कुछ करना या ना करना इन सब में difference क्या है ?


 कुछ करोगे वहा पर भी competition है, लड़ाई झगड़ा है, मार काट है, ये है, वो है, तो जैसेहि कुछ आपके हिसाब से नहीं हो रहा होगा वहा पे आप दुखी होते रहोगे।

 दूसरा अगर आपको बोल दिए जाए कुछ नहीं करना है, कुछ time तक वहा पे भी आप और ज्यादा दुखी हो जाओगी, क्योंकि आपका mind restless हो गया है,

 तो लोग कुछ करने में भी दुखी है क्यूंकि जब करते है तो बहुत सारी चीज़ें ऐसे होते है जो हमारे हिसाब से नहीं हो रहे होते, वहा भी दुखी हो जाते है,

 कुछ नहीं करने में और ज्यादा दुखी हो जाते है, उनको बोला जाए ना आपको कुछ नहीं करना दस दिन के लिए यहां पर बैठ जाओ। मेरे साथ में meditation camp पे बस बैठे रहो चुप चाप, दस minute में आपकी हवा निकल जाएगी - ' ये क्या हो रहा है? मेरे mind में कैसे कैसे thoughts आ रहा है ? '

 तो ना लोग सेहन से सो पा रहा है, ना सेहन से उठ करके काम कर पा रहे। किस वजह से क्यूंकि foundation ही गलत है,



क्या हमारे जीवन का सभी system गलत तरीकेसे काम करता है ?


 जी बिलकुल, ये जो हमारे education system है, घर का जो पूरा atmosphere है, वो सारा structure ही बेकार है, वहा से सुरूवात ही यहां से करी जाती है, कि तुम बेवकूफ हो और तुमको कुछ करना है हमारी नज़रों में उठने के लिए तो सुरुवात ही दुख से हो रही है,

 जैसे एक building कि foundation कोई अगर खराब है, या एक पेड़ है उसका बीज ही कड़वा है तो उस पेड़ में जो आप कुछ भी कर लो, कड़वा ही रहेगा,

 जैसे नमक है उसको कहीं भी किसी भी सीज में मिला दो दूध में मिलाओ पानी में मिलाओ, cold drinks में मिलाओ, जिस में मिलाओगे वो भी नमकीन हो जाएगा, ये नमक दुख के जैसा ही है;


How To Be Happy Always Powerful Tips - Motivational Speech in Hindi



जीवन की सुरूवात कहाँ से होनी चाहिए ?


 चीनी को आप जहा भी मिलाओगे वहा पर मज़ा आ जाएगा, तो शुरुआत life की होनी चाहिए मीठास से ...

 ' in this very moment whether i am doing something or i am not doing anything, i am feel with happiness 24/7,' यहां से आपकी सुरूवाट होनी चाहिए,

 कभी life में कुछ ऐसी situation आती है जब चाहा करके भी आप कुछ कर नहीं पाते है, physically कोई problem आ गई health से related, दस दिन के लिए bed पे परे हुए हो तो परे हुए हो तो भी मजा आ रहा है .... खुच हो, समझ गए,


happy-life


 मतलब life कि हर state को आप पूरी तरह से enjoy कर रहे हो । ये खुश नाम की word हमारे mind में ही है, अगर इसको आप अपने mind में जाकरके अच्छे से समझ लिया तो आप पुरे जीवन ख़ुशी से जी सकते है।



क्या हमारे जीवन में कभी भी प्रॉब्लम नहीं आ सकता ?



 हमारे लाइफ में तो प्रॉब्लम आते ही रहेंगे जब तक हम जिन्दा है तबतक, अगर उस प्रॉब्लम से दुखी होने के वजाये हम खुश रहना सिख गए तो बड़ी से बड़ी प्रॉब्लम भी हम solve कर पाते है,

 ये आप practically करके देखिये, मैं कह रहा हूँ इसलिए मत करिये आप खुद आपके mind में जाकर देखिये। 

 इसका मतलब आप 24/7 खुश रहो और enjoy करो जीवन की हर second ... क्या पता अगली second मै कुछ हो जाए तो करने के लिए कुछ भी नहीं बचेगा। ''

 और सबसे ज्यादा आप ये सोचना बंद कर दो की आप अगर कुछ काम कर रहे हो तो लोग क्या सोचेंगे, जिस दिन से ये सोचना आप बंद कर देंगे न उसी दिन से खुशी खुशी जीवन जी पाओगे, ये लोग को छोड़ दो क्यूंकि लोगों का काम है ही ऐसा की आप क्या कर रहे हो और कहा जा रहे हो सब कुछ देखते रहते है और कुछ न कुछ बोलते रहते है।

 तो लोगों को छोड़ो, अपना सोचो जिंदगी जीने में मजा आएगा। 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यबाद,

Wish You All The Very Best.

Post a Comment

0 Comments