Drink Water (Health Tips) - पानी पीने का सही तरीका | Thoughtinhindi.com

Drink Water (Health Tips) - पानी पीने का सही तरीका। Hello दोस्तों, जब हमारा जन्म होता है तो हमारा शरीर 75% पानी से बना होता है, लेकिन बढ़ती उम्र के साथ-साथ यह पानी कम होता जाता है।

 Adult होने के बाद एक सामान्य पुरुष के शरीर में पानी की मात्रा 60% होती है, वहीं महिलाओं के शरीर 55% पानी से बना होता है।

 आखिर यह पानी हमारे शरीर में होता कहां है? कुछ पानी हमारी किडनी और लिवर में मौजूद होता है, हमारे पेट, मूत्राशय और रीड की हड्डियों में spinal fluid कि तरह जमा होता है।

 हमारे दिल और दिमाग लगभग 75% पानी से बने होते हैं, वही हमारे फेफड़ों में लगभग 83% पानी मौजूद होता है।

 लेकिन पूरे शरीर में सबसे ज्यादा पानी हमारी कोशिकाओं में मजबूत होता है, आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारी हड्डियां जो की पूरी तरह सख्त और सूखी दिखाई देती है उनके अंदर भी 31% तक पानी होता है,

 इस तरह से कुल मिलाकर अगर देखा जाए तो हमारी शरीर में सभी अंगों को अपना काम सही तरह से करने के लिए पानी की जरूरत पड़ती ही है और इसी वजह से एक व्यक्ति चाहे खाना खाए बिना लंबे समय तक रह ले, लेकिन पानी पिएं बिना 1 दिन भी नहीं रह सकता।


Drink Water - Pani Pine Ka Sahi Tarika

Drink Water (Health Tips) - पानी पीने का सही तरीका




 पानी हमारे शरीर के लिए इतना अधिक जरूरी होने की वजह से हमें इससे जुड़े नियमों का पालन करना बहुत आवश्यक हो जाता है,

 क्योंकि पानी पीने का तरीका, पानी पीने का समय और पानी पीने की मात्रा का हमारे शरीर पर अच्छा और बुरा दोनों तरह से असर पड़ता है।

 हमें रोजाना कितना पानी पीना चाहिए ? किस तरह पानी पीना चाहिए ? किस समय पर और कैसा पानी पीना चाहिए ?

 इन सभी बातों का हमें पता होना बहुत जरूरी है क्योंकि पानी से जुड़े किसी भी तरह की लापरवाही बरतने से हमारे शरीर को बहुत ज्यादा नुकसान होता है।




पानी को सही तरीकेसे नहीं पीने से क्या क्या बीमारी हो सकता है ?

 जोड़ों में दर्द, कब्ज, migraine, त्वचा पर दाग धब्बे और पिम्पल्स होना, बालों का झड़ना, लगातार पेर और आंतो से जुड़ी समस्याएँ बने रहना, भोजन ठीक तरह से ना पचना, शरीर में कमजोरी और आलच रहना, रात में अच्छी नींद ना आना, किडनी से जुड़ी बीमारियां, त्वचा में सूखापन और झुर्रियां होने के साथ-साथ गैस, यूरिक एसिड, मोटापा और शरीर की नसों में कमजोरी आने जैसी लगभग 40 से ज्यादा बीमारियां सिर्फ पानी पीने से जुड़ी हुई गलतियों के कारण होती है।

 आजकल कई लोग इन समस्याओं से केवल इसलिए परेशान है क्योंकि वहां जाने अनजाने पानी पीने से जरूरी बातों को ध्यान नहीं दे रहे होते हैं, और शरीर में हो रही किसी भी तरह की बीमारि के ठीक नहीं होने की वजह उन्हें कभी भी नहीं पता चल पाती।


 जो व्यक्ति अपनी लाइफ में केवल पानी को सही तरीके से पीने की आदत डाल लेता है वह हर मौसम में स्वस्थ और निरोगी बना रहता है।


 लंबी उम्र तक आँखें, हड्डियाँ, बाल और त्वचा जवान बनी रहती है। पेट हमेशा साफ रहता है और स्किन हमेशा glow करती रहती है और इतना ही नहीं कई तरह की बीमारियों को केवल पानी पीने का तरीका बदल देने से पूरी तरह ठीक किया जा सकता है,


 और सिर्फ और सिर्फ पानी की मदद से ही बिना diet और exercise के महीने में 5 किलो से ज्यादा वजन घटाया जा सकता है।


 पानी पीने से जुड़े हुए नियम वैसे तो बहुत आसान है, लेकिन इनके फायदे अद्भुत है, तो आइए जानते हैं -


 हमें पानी कैसे और कितनी मात्रा में पीना चाहिए ? कब और किस तरह पीना चाहिए ? अलग-अलग समस्याओं से केवल पानी के सही इस्तेमाल से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है ?


No 1 - पानी कितना पिए ?

Drink Water - Pani Pine Ka Sahi Tarika

 दिन भर में पानी पीने की मात्रा हर व्यक्ति के शरीर के आकार, वजन, physical activity और मौसम पर निर्भर करती है।


 रोजाना हमारे शरीर से पेशाब, मल और पसीना के जरिए पानी लगातार कम होता रहता है, और साथ ही बोलने और सांस लेने की प्रक्रिया में भी शरीर का पानी भाप बनकर बाहर निकलता रहता है।


 इसी तरह से हम रोजाना 2 से 3 लिटर पानी हमारे शरीर से बाहर निकाल देते हैं, इसलिए सामान्यतः में तो है एक पुरुष को दिन भर में 2.5 से लेकर 3.5 तक पानी पीने की सलाह दी जाती है।


 पर महिलाओं को 2 से लेकर 3 लिटर पानी पीना शरीर के लिए अच्छा माना जाता है।


 अगर आप रोजाना सुबह या शाम के समय workout करते हैं तो उस स्थिति में पानी की मात्रा को थोड़ा बढ़ा देना चाहिए, और खासकर गर्मियों में बताई गई मात्रा से थोड़ा ज्यादा पानी पीना चाहिए। मतलब गर्मियों में एक दिन में आप 4-5 लीटर पानी पी सकते हो


 ज्यादा पानी पीना वैसे तो हमारी सेहत के लिए अच्छा होता है, लेकिन शरीर में पानी की जरूरत से ज्यादा अधिकता हमारी किडनी के लिए हानिकारक भी हो सकती है।



आपके शरीर को पानी चाहिए या नहीं ?

 आप दिन भर में सही मात्रा में पानी पी रहे हैं या नहीं इसे पेशाब के रंग से पहचाना जा सकता है। अगर आप की पेशाब का रंग पीला है तो यह निशानी है कि आपका शरीर dehydrated है, और आप को पानी पीने की आवश्यकता है।

 वहीं अगर आप के पेशाब का रंग पानी की तरह साफ होता है तो यह दर्शाता है कि आपकी शरीर पूरी तरह hydrated है।



No 2 - पानी कब पिएं और कब नहीं ?

 हमें कब पीना चाहिए इससे ज्यादा ध्यान देने वाली बात यह है कि हमें पानी कब नहीं पीना चाहिए, क्यूंकि गलत समय पर पानी पीने से हमारे शरीर पर सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता है।

 अच्छी सेहत और पानी से मिलने वाले सभी तरह की पोशाक तत्व का पूरी तरह लाभ उठाने के लिए आपने दिन की शुरुआत में चाय या कॉफी की जगह पानी से करे। चाहे प्यास लगी हो या ना लगी हो।


 रोजाना सुबह उठकर 1 से 2 ग्लास यानी कि लगभग 500 ml पानी जरूर पिएं।


 खाली पेट पानी पीने से हमारे पेट और आंतों की अच्छी तरह सफाई होती है, और साथ ही रात भर में जमा हुई मुंह की लार भी पेट के अंदर पहुंच पाती है।


 आयुर्वेद में सुबह-सुबह बनाने वाली मुंह की लार को सोने से भी ज्यादा महत्वपूर्ण बताया गया है।


 क्योंकि सुबह से के समय बनाने वाले मुंह की लार में हमारे शरीर के लिए आवश्यक सभी तरह की enzymes होते हैं, जो कि खाली पेट पानी पीने से हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं और हमारी सेहत पर अच्छा प्रभाव डालता है



 एक गिलास में लगभग 250 ml पानी आता है और इस तरह दिनभर में 2.5 से लेकर 3 लीटर पानी पीने के लिए -

  • सुबह खाली पेट 2 ग्लास यानी कि 500ml;
  • 1 ग्लास नाश्ते के आधे घंटे बाद;
  • 1 - 1 ग्लास दिन के खाना खाने के 40 मिनट पहले और 40 मिनट बाद;
  • दो ग्लास पानी शाम के समय 1 - 1 घंटे के gap में;
  • 1 - 1 ग्लास रात के खाने के 40 मिनट पहले और 40 मिनट बाद पिएं।

 इसके अलावा अगर आप रोजाना gym या workout करते हैं या आपकी job में बाहर घूमना, चलना-फिरना या शारीरिक काम करना शामिल है तो काम करने के दौरान बीच-बीच में आधा-आधा ग्लास करके लगभग 2 गिलास पानी जरूर पिएं।


 यह तो हो गई बात हमें कब-कब पानी पीना चाहिए। अब जान लेते हैं -



हमें पानी कब नहीं पीना चाहिए ?

 कभी भी खाना खाने के तुरंत पहले और तुरंत बाद पानी ना पिएं, क्योंकि ऐसा करने से खाया हुआ भोजन ज्यादा पतला हो जाता है और खाना ठीक से नहीं पच पाता।

 जब हम खाना खाते हैं तो खाना खाने के पहले निवाले के साथ ही उस खाए हुए भोजन को पचाने के लिए हमारे पेट में पाचक रस बनना शुरू हो जाते हैं,


 पाचक रस अपनी गर्मी से पेट में मजूद भोजन को पचाते हैं, ठीक उसी तरह जिस तरह से किसी कच्चे खाने को गर्म करके पकाते हैं।


 खाने के तुरंत बाद पानी पी लेने से खाना ठीक तरह से पचने की जगह सड़ने लगता है और गैस बनने लगती है।


 अगर आपका दिनभर बैठने का काम है तो खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने की वजह से बनी गैस हमारे शरीर के दूसरे अंगों में भी जाकर जमा हो सकती है,


 जिसकी वजह से समय के साथ-साथ पेट, सर और जोड़ों में दर्द रहने की समस्या होने लगती है।


 पेट का खाना नहीं पचने की वजह से जो सबसे बड़ी समस्या होती है वह है एसिडिटी Acidity और जो लोग लगातार खाना खाते ही पानी पी लेते हैं उन्हें लंबे समय तक पेट में जलन और एसिडिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है।


 अगर लगातार पेट का खाना ठीक तरह से नहीं पचे तो इसके चलते शरीर में कोलेस्ट्रॉल भी बढ़ने लगता है और साथ ही यह शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को भी बढ़ाता है।


 इसलिए कभी भी खाना खाने के तुरंत बाद या पहले पानी ना पिए हमेशा खाना खाने 40 मिनट से 1 घंटे बाद ही पानी पिएं।


 अगर आप बहुत ज्यादा सुखा भोजन करते हैं तो खाना खाने के तुरंत बाद 2 से 3 घूंट पानी पीया जा सकता है, लेकिन फिर भी अगर आपको ज्यादा पानी पीने का मन करें तो पानी पीने की जगह छाछ, नींबू पानी या फलों का रस पिया जा सकता है।


 इसके साथ ही रात के भोजन के बाद पानी की जगह दूध का सेवन करें



सुबह के समय पानी कैसे पिएं ?

 जब भी आप सुबह के समय खाली पेट पानी पीने से पेशाब करने के पहले ही पी ले और ठीक इसी तरह दिन में हर समय पानी पेशाब करने के तुरंत बाद कभी ना पिए।

 क्योंकि जब हम ऐसा करते हैं तो हमारे शरीर के अंदरूनी अंग तेजी से सिकुड़ते हैं और ऐसी स्थिति में तुरंत बाद पानी पी लेने से अंदरूनी अंग और नशे कमजोर होती है।


 जिसकी वजह से धीरे-धीरे पेशाब ना रोक पाने और बनी थी किस से ना पचने की समस्या पैदा हो जाती है और पानी पीते ही बार बार पेशाब आने लगती है।


 चाय या कॉफी जैसी गरम चीजों के तुरंत बाद ठंडा पानी ना पिएं क्योंकि ऐसा करने से हमारे गले और टॉन्सिल को नुकसान पहुंचता है।


 ठीक इसी तरह ठंडी फल, खट्टा फल या जिनमें पहले से ही अधिक मात्रा में रस पाया जाता है, उन्हें खाने के तुरंत बाद पानी पीना avoid करें,


 क्योंकि पानी पी लेने से यह हमारे पेट में पूरी तरह पच नहीं पाते जिसकी वजह से सर्दी, खांसी और पेट खराब होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।



No 3 - पानी कैसे पिए ?


Drink Water - Pani Pine Ka Sahi Tarika

 पानी हमेशा धीरे-धीरे पीना चाहिए, ठीक उसी तरह जिस तरह चाय या कॉफी पी जाती है।


 पानी पीते समय उसे पहले थोड़ी देर के लिए अपने मुंह में रखें मतलब 2-3 सेकंड के लिए, और फिर निगले। यह पानी पीने का सबसे बेहतर तरीका है।


 जो लोग इस तरीके की आदत डाल देते हैं उनके शरीर में कभी भी किसी भी तरह की बीमारी नहीं आती,


 क्योंकि थोड़ा थोड़ा पानी पीने से पानी के साथ सारे मुंह की लार भी पेट के अंदर जाती है और यह तरीका सबसे ज्यादा सुबह के समय फायदेमंद है।


 कभी भी जल्दी जल्दी पानी ना पिएं और एक ही बार में बहुत सारा पानी ना पिएं क्योंकि हमारे शरीर की एक बार में केवल एक गिलास यानी कि 250 ml पानी पचाने की क्षमता होती है।


 अगर आप ज्यादा पानी पीने की चक्कर में एक ही बार में जल्दी-जल्दी एक ग्लास से ज्यादा पानी पी लेंगे तो ऐसा पिया गया पानी हमारे शरीर को पूरी तरह नहीं लगाता और पेशाब के जरिए बहुत जल्दी बाहर निकल जाता है।


 इसलिए हर 40 मिनट से 1 घंटे के अंतराल में एक गिलास पानी थोड़ा-थोड़ा करके पिए और गिलास या बोतल में मुंह लगाकर ही पानी पिएं।


 कभी भी गर्दन ऊपर करके जल्दी जल्दी एक साथ में बहुत सारा पानी ना घटके, और साथ ही हमेशा पानी बैठ करके ही पिएं।


 कभी भी खड़े खड़े या चलते चलते पानी ना पिएं, क्योंकि ऐसा करने से पानी शरीर में तेजी से प्रवेश करते हैं और ऊपर से पीने की वजह से यह अपने साथ बहुत सारी gas को शरीर में ले जाते हैं, जिससे कि शरीर के अंदरूनी अंगों में दवाव और खिंचाव पैदा होता है।


 धीरे-धीरे पानी पीना, बैठ कर पानी पीना और जल्दी जल्दी या खड़े रह कर पानी पीने में एक ही पानी का असर हमारे शरीर में अलग अलग तरीके से होता है।


 धीरे धीरे मुंह लगाकर पानी पीने से हमारे शरीर का pH level control रखता है और पेट की एसिड को शांत करता है।


 इतना ही नहीं पानी के साथ साथ मुंह की लार पेट के अंदर जाने से हमारे पाचन अच्छा रहता है और पेट में चर्बी जमा नहीं होती।


 वहीं दूसरी तरफ अगर आप जल्दी या खड़े रह कर पानी पीते हैं, तो इससे हमारे शरीर के अंदरूनी अंग और नसे कमजोर होते हैं, शरीर में गैस की मात्रा बढ़ती है, जो कि बाद में जोड़ों में दर्द भी पैदा करने लगती है।



No 4 - कैसा पानी पिए ?

 चाहे कितनी भी ज्यादा गर्मी पड़ रही हो कभी भी फ्रीज का बहुत ज्यादा ठंडा पानी या बर्फ का पानी ना पिएं। हमेशा सामान्य तापमान का या हल्का ठंडा पानी ही पिएं।

 कई लोगों को लगता है कि फ्रीज की बहुत ज्यादा ठंडा पानी हमारे शरीर में ठंडक पहुंचता है बल्कि ऐसा नहीं है।


 बर्फ का पानी जब हमारे शरीर में जाता है तो शुरुआत में वह बहुत ठंडा होता है, लेकिन कुछ ही देर में वह बहुत ज्यादा गर्म हो जाता है, चूँकि हमारे शरीर को ठंडा करने की बजाय गर्म करने लगता है।


 ठंडा पानी पीने के बहुत फायदे होते हैं, जो लोग हमेशा ठंडा पानी पीना पसंद करते हैं उनके शरीर में पानी के साथ साथ खाना भी ठीक तरह से नहीं पचता है,


 और साथ ही सर में दर्द, अपाचन और कब्ज आदि जैसी समस्याएं ज्यादा ठंडा पानी पीने की वजह से हो सकती है,


 इसलिए हमेशा ठंडा पानी की जगह सामान्य तापमान का ही पानी पिए या फिर हल्का गर्म करके पिएं।


 ठण्ड और बारिश के मौसम में गर्म पानी पीने से हमारे शरीर को कई तरह के लाभ मिलते हैं क्योंकि गर्म पानी पीने से भोजन जल्दी पचता है,


 और खासकर जिन लोगों को अक्सर कब्ज या जोड़ों में दर्द रहता है उन्हें हमेशा हल्का गरम पानी ही पीना चाहिए


 गर्म पानी पीना सर्दी, जुकाम और साइनस की समस्याओं में बहुत लाभकारी होता है,


 लेकिन जिन लोगों को एसिडिटी या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हैं वह लोग गर्म पानी का सेवन ना करें।


 दोस्तों पानी पीने से जुड़ी हुई इतनी बातें पढ़ने में थोड़ी ज्यादा लगती है लेकिन विश्वास माने यह सभी नियम इतने सिंपल है कि मात्र एक हफ्ते तक अगर आप इन नियमों का पालन करते हैं तो धीरे-धीरे आप को इन तरीकों की आदत पड़ जाएगी,


 और उसके बाद बिना ध्यान दिए ही आप सब कुछ नियमों के अनुसार करने लगेंगे और उसका पूरा फायदा उठा पाएंगे साथ में आपके शरीर से बहुत सारे disease भी गायब हो जाएगी। तो आज से ही इसको follow करें।


 तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह Article (
Drink Water (Health Tips) - पानी पीने का सही तरीका) कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और आप इस article (Drink Water (Health Tips) - पानी पीने का सही तरीका) को अपने दोस्तों के शेयर करें।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद।

Wish You All The Very Best.

Comments

  1. Thanks bhai for your valuable advice...its really helpful for me and my family

    ReplyDelete

Post a Comment

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner