3 Subconscious Mind Power Hacks in Hindi - Think Fast and Slow Book


Hello दोस्तों, आज मैं आपलोगों के साथ Subconscious Mind से related information शेयर करूँगा, इसको आप Subconscious Mind hacks भी बोल सकते हो ये बातें मैंने Think Fast and Slow book से बताया है। पूरा पढ़े अगर आपको Subconscious Mind को hack करना है तो -



3 Subconscious Mind Hacks in Hindi - Think Fast and Slow Book



 एक इंसान जब कोई decision लेता है तो उसे लगता है वो decision सोच समझके और reasoning से ले रहा है, but mostly ये सच नहीं होती क्यूंकि decision लेते टाइम बहुत cognitive biases picture में आते है, जो एक इंसान के final decision बहुत ज्यादा impact करते है, जिसके बारे में हमे पता तक नहीं।

 
आज मैं आपलोगों को 3 cognitive biases के बारे में बताऊंगा, जिसकी मदद से आप लोगो के या अपने decision से आप actions को influence कर सकोगेhack कर सकोगे।

 
तो आइए जानते है वो 3 Subconscious Mind Hacks क्या है -


Subconscious Mind Hacks No 1 - Anchoring


 
एक experiment में 2 अलग अलग groups के लोगो से एक question पूछा गया था की आपको क्या लगता है आज तक का दुनिया का सबसे लम्बा red wood पेड़ कितने feet का हुआ होगा ?

 
दोनों groups को ये same question पूछा गया था, but दोनों की question में थोड़ा सा difference add किया गया था।


एक group को पूछा गया था की आपको क्या लगता है सबसे बड़ा पेड़ 1200 feet से कितना कम या ज्यादा का हुआ होगा ?
जब की दूसरे group को पूछा गया था की आपको क्या लगता है वो पेड़ 180 feet से कितना कम या ज्यादा का हुआ होगा ?

red wood tree

 
अब दोनों group को समझाया भी गया था की ये estimate जो उन्हें बताये गए है वो बिलकुल सही नहीं है, but फिर भी दोनों groups के answers पे इन anchors का बहुत significant impact देखने मिला।

 
पहले groups ने mean guess किया था 844 feet का, जब की दूसरे groups का mean guess था बस 282 feet .

 
इतना ज्यादा difference था दोनों groups की guess में और difference का reason था वो दोनों अलग अलग anchor,

 
क्यूंकि उन बड़े और छोटे anchor ने लोगों की दिमाग को उस estimate से अटका दिया था, जिसकी वजह से वो लोग ज्यादा दूर तक नहीं सोच पाए उस estimate के बारे में।

 
जब हमे किसी चीज के बारे में कुछ पता नहीं होता तब उस टाइम हमे जो भी information available मिलती है उसी की basis पे हम decisions लेने लगते है, फिर चाहे वो information सही हो या गलत, इस बात फर्क नहीं परता,

 
और इसी fact का use करके आप जो mental hack कर सकते हो उसे बोलेंगे anchoring .

 
जो मार्किट में हमेशा से use होता है।

Example -
दुकानवाले हमे पहले ही 500 के चीज के दाम को 2000 बोल देते है, जिसकी वजह से होता क्या है की हम 2000 रूपए से anchor हो जाते है,

 
और फिर जब हम कम करने का सोचते भी है तो हमारा brain हमे 2000 का पास ही रहने बोलते है, जिसे influence हो के हम कम से काम 1000 तक ही बोल पाते है, और उससे कम तो हमे बोलना अच्छा भी नहीं लगता।

 
इसके बाद जब वो चीज हमे 1000 की मिल जाती है तो फिर हमे लगता है की हमने कितना अच्छा कम कराया, जो की हम actual में वैसा की किया जैसा दुकान वाला चाहता था।

 Advertising 
में भी इसका बहुत अलग अलग तरीकेसे use होता है।


Subconscious Mind Hacks No 2 - Loss Aversion


 
अगर मैं आपको 2000 रूपए दूंगा तो आपको उसकी ख़ुशी होगी but ये ख़ुशी इतना ज्यादा नहीं होगी जितना आपको बुरा लगेगा। अगर एक आपकी वही 2000 वाली note कही गुम हो जाये तो।

 
मतलब same amount अगर हमे मिलेगा तो हमे इतना अच्छा नहीं लगेगा, जितना हमे बुरा लगेगा अगर वही शामे amount का हमे lost होगा तो।

 
आपके साथ भी कभी ना कभी ऐसा जरूर हुआ होगाstudies बताती है हमारे किसी भी चीज का lost होना हमारे लिए psychologically double painful होता है।

 compare 
तो उसी same चीज की gain करने की ख़ुशी से और इसलिए ही हम चीजों को खोने से ज्यादा डरते है, risk लेने से डरते है, और ज्यादा कुछ gain करने का नहीं सोचते, बल्कि बस lost ना हो ये सोचते है, जो हमे बहुत बार आगे बढ़ने नहीं देता।


advertising


 कई बार आपने advertisement में भी इस principle का use देखा होगा। जैसे की insurance companies अपने ad में बताती है की कैसे अगर आप insurance नहीं करोगे तो इससे आपका कितना lost हो सकता है,

 
और ऐसा कोई बड़ी companies आपको lost बता के influence करती है उनका products खरीदने के लिए, और use करने करने के लिए।

 
अब ये तो advertisement की बात थी।

 Main question ये आता है की इस principle का use कैसे कर सकते है?


 तो इसका answers कुछ ये है सबसे पहले तो आप risk लेते टाइम बस lost होगा तो क्या होगा ये ज्यादा मत सोचो बल्कि ये भी ज्यादा सोचो की risk लेने से आपको कितना फयदा मिल सकता है,

 
और दोनों तरफ से सोचने की कोशिश करो, और दूसरों के लिए हम उस principle का use कुछ ऐसे कर सकते है।

Example -
समझो अगर आपको किसी को books पढ़ने के लिए convince करना है तो उसे आप book पढ़ने से फायदे क्या क्या होंगे ये ज्यादा मत बताओ बल्कि उन्हें ये बताओ की book नहीं पढ़ने से उनका कितना नुकसान हो सकता है।
 वो कितने opportunities पैसे और happiness को miss कर सकते है, अगर उन्होंने अपने आपको बुक्स नहीं पढ़के future के तैयार नहीं किया तो, etc.


Subconscious Mind Hacks No 3 - Framing


 European Countries 
के ऊपर किये गए organ donation की study में पता चला था की कुछ countries जैसे की FrancePolandPortugalBelgium etc. इन countries में organ donation के rate बहुत ज्यादा थे।

 but
उनकी जैसी similar countries जैसे की Denmark, Netherlands, UK, Germany इन countries में donation rates बहुत ही कम थे, और ऐसा exactly क्यों था इस चीज के research चल रही थी, जिसे फिर at the end बहुत interesting बात पता चली।

organ donation

 
उन्हें पता चला की ऐसा बिलकुल नहीं था की donation ज्यादा करने वाली countries के लोग comparison में दिल के में दिल के ज्यादा अच्छे थे या उनका culturereligion factor था या ऐसा कुछ बल्कि surprisingly donation में इतनी huge difference का region था framing of a single question, बस और कुछ नहीं,

 
मतलब secret बस यही था की जो countries की donation rate बहुत कम था उनके लोग जब अपना DMV नाम का form भरते थे तो उसमें organ donation के ऊपर question कुछ ऐसे लिखा होता था -

 ⬜ tick if you want to opt in organ donation camp.

 अब इससे क्या होता था लोग देखते थे पढ़ते थे पर tick नहीं करते थे, जिसकी वजह से फिर वो join भी नहीं होते थे,

 
जब की दूसरी तरफ जो countries में organ donations ज्यादा होती थी वो countries के DMV form में कुछ ऐसा लिखा होता था -

⬜ tick if you do not want to opt in organ donation camp.


 अब interestingly ऐसा option मिलने के बाद भी लोग tick mark नहीं करते थे, जिसके वजह से automatically वो लोगो का participation हो जाता था - ये था framing का कमाल।

 
आप चीजों को कैसे frame करते हो ये चीज लोगो के decision making पे बहुत impact कर सकता है,

 
मतलब अगर आप एक अच्छी चीज को बुरी तरीकेसे frame करके लोगो को बताऊंगा तो अच्छी चीज भी लोगो को बुरी लगेगी,

 
और unfortunately इसका उल्टा भी सच है, की अगर आप एक बुरी चीज को अच्छे से frame करके बताओगे तो वो बुरी चीज भी लोगो को अच्छी लगने लगेगी,

 
और इस principle का उसे मार्किट में बहुत गलत तरीकेसे हो रहा है,

 
अब इस चीज से related एक अच्छा Example है -

 
एक experiment किया था। उसमें क्या होता था की 2 magician एक नकली restaurant बनाते हैजिसमे वो लोग सादे नल के पानी को अच्छे से frame करके अलग अलग attractive नाम देके French में Spanish में लोगो को बेचते है और वो भी ज्यादा ज्यादा पैसा लेके।


 
तो दोस्तों ये थे वो 3 प्रिंसिपल जो आपको लोगो को और खुद को subconscious level पर influence करने में help कर सकता है, और ये बातें मैं आपको Think Fast and Slow by Daniel Kahneman बुक से बताई है। अगर आपको psychologybiases और लोगो को कैसे influence करना है, उन सब चीजों के बारे में detail में सीखना है तो ये बुक आप जरूर खरीदो।


 
अगर आपको ये article 3 Subconscious Mind Hacks in Hindi - Think Fast and Slow अच्छा लगा तो इस article को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद।

Wish You All the Very Best.


Post a Comment

0 Comments