Complete Book Review in Hindi - The Five Love Languages | Thoughtinhindi.com

Hello दोस्तों, ये है Gary Chapman के द्वारा लिखी गयी बेस्ट selling बुक The Five Love Languages बुक की Review. इसमें author ने लव के ऊपर बहुत कुछ important lessons बताया है जिसको follow करके आप अपनी लव लाइफ सक्सेसफुल बना सकते हो, तो इस पुरे article को जरूर पढ़े और थोड़े ही नीचे एक animated video भी दिया है वो भी देखे।


The Five Love Languages Complete Book Review in Hindi


The Five Love Languages Complete Book Review in Hindi


दोस्तों, author Gary Chapman कहते है की लव एक ऐसी चीज़ है जिसकी शुरुवात घर से होनी चाहिए. लव के बारे में जो पहली चीज आप सीखते है वो है अपनी फॅमिली से प्यार करना.

 मेरे हिसाब से लव का मतलब है सैम और ग्रेस, जो मेरे मम्मी डैडी है जो मुझे 50 साल से भी ज्यादा प्यार करते रहे है. अगर ये लोग मुझे इतना प्यार नहीं देते तो शायद मै ये बुक लिखने के बजाये अभी तक प्यार ही ढूंढ रहा होता,

 मेरे लिए घर का मतलब कारोलीन भी है, जिसके साथ मेरी शादी हुए चालीस साल से भी ज्यादा वक्त हो गया है.

 लोग डिफरेंट लेंगुएजेस में बात करते है, मगर लव की लेंगुएज और फीलिंग्स को एक्सप्रेस करने का तरीका पूरी दुनिया में एक ही है.

 अपनी शादी के इतने सालो बाद मैंने ये रियालाइज किया कि लव की फाइव इमोशनल लंगुएजेस होती है. इन फाइव को यूज़ करके हर कोई अपने लव और इमोशन का इज़हार कर सकता है.

 मैं यकीन से कह सकता हूँ कि अगर आप अपने स्पाउस की प्राइमरी लंगुएज को समझकर उसे बोलना सीख गए तो एक लॉन्ग लास्टिंग और प्यार भरी मैरीड लाइफ के सीक्रेट की चाबी आपके हाथ लग जायेगी.



चैप्टर 1 : शादी के बाद प्यार का क्या होता है ?


 एक बार मैं एक आदमी से मिला जिसने मुझसे मेरे प्रोफेशन के बारे में पुछा. जब उसे पता चला कि मै एक मैरिज कांउसलर हूँ और मैरिज एनरिचमेंट सेमिनार्स लीड करता हूँ तो उस आदमी ने सवाल किया शादी के बाद प्यार का क्या होता है ?

 उस आदमी की तीन शादियाँ हो चुकी थी. उसकी पहली शादी दस साल टिकी, दूसरी शादी तीन साल और तीसरी शादी छेह साल तक. अब अपनी तीन-तीन शादियों के फेल होने के बाद वो हैरान है कि आखिर शादी के बाद प्यार कहाँ चला जाता है ?

 उसकी पहली शादी तीन-चार साल तक अच्छी चली फिर उनका बेबी हो गया. बेबी के आने के बाद उसकी वाइफ का सारा अटेंशन उनके न्यू बोर्न बेबी की ओर चला गया.


 पति को लगने लगा कि जैसे घर में उसकी कोई इम्पोर्टेंस ही नहीं है. जब उसने ये बात अपनी वाइफ को बोली तो उसका कहा कि चौबीस घंटे नर्स बनकर बेबी की देखभाल करना कोई मज़ाक नहीं है बल्कि उसे भी इस काम में उसकी हेल्प करनी चाहिए.

 अपनी वाइफ की ये बात सुनकर उसे और भी बुरा लगा और फिर उनके बीच दूरी बढती चली गई. दोनों एक दुसरे को समझ ही नही पा रहे थे जिसकी वजह से उनके बीच प्यार जैसी कोई चीज़ नहीं रह गयी थी. फिर एक दिन दोनों इस बात के लिए एग्री हो गए कि उन्हें डीवोर्स ले लेना चाहिए और इस तरह ये शादी टूट गयी. .

 उसकी दूसरी शादी शुरुवात से ही अच्छी नहीं थी. सिर्फ सिक्स मंथ्स की डेटिंग के बाद दोनों ने शादी कर ली थी. उन्हें अपने हनीमून पे इतना बुरा एक्स्पेरियेंश हुआ कि वे कभी इस बात को भूल ही नहीं पाए.


 शादी से पहले ये एक व्हर्लविंड रोमांस था और शादी के बाद असली जंग शुरू हुई. फिर जल्दी ही ये दूसरी शादी भी नहीं टिकी और उस आदमी का एक बार फिर से डीवोर्स हो गया.

 फिर तीन साल बाद वो और एक लड़की से मिला जिससे उसने दो साल डेटिंग के बाद शादी कर ली. इस लड़की के साथ शादी करने से पहले उनके रिश्ते बड़े अच्छे थे. इस लड़की के जितना पोजिटिव पर्सन उसे आज तक नहीं मिला था.

 मगर शादी के कुछ मंथ्स बाद ही वो छोटी-छोटी बात पर कम्प्लेंट करने लगी जैसे “तुमने कूड़ा बाहर क्यों नहीं रखा या कपडे सुखाने क्यों नहीं डाले”.

 फिर कुछ दिन बाद उसने उस आदमी के केरेक्टर पर सवाल उठाना शुरू कर दिया. वो उसे कहती थी कि “मै तुम पर ट्रस्ट नहीं कर सकती, तुम्हारा बाहर अफेयर चल रहा है. उसकी शिकायते रोज़-रोज़ बढती जा रही थी और वो नेगेटिव बिहेव करने लगी थी.

 उनकी मैरीड लाइफ में कुछ भी ठीक नहीं था और फिर एक दिन उस आदमी ने अपनी थर्ड वाइफ को भी छोड़ने का मन बना लिया. उसके दिल में उस लड़की के लिए प्यार खत्म हो चूका था. और इस तरह फिर तीसरी बार उसका डीवोर्स हो गया.

 ऐसे हज़ारो लोग है जो शादी करने के बाद डिवोर्स ले लेते है. ज्यादातर शादियाँ इसलिए नहीं टूटती कि उसे बचाने के लिए कोई सिंसियर एफर्ट नहीं हुआ, बल्कि इसलिए क्योंकि लव को रोंग वे में एक्सप्रेस किया गया.


 फिर वे अपने फ्रेंड्स, थेरेपिस्ट और काउंस्लर्स से वजह पूछते रहते है कि आखिर ऐसा क्यों हुआ. इस सवाल का सीधा जवाब ये है - मैरीड लाइफ में एक रोमांटिक लव की डिजायर होना ह्यूमन साइकोलोजिकल मेकअप है.

 इसलिए आपको अपने पार्टनर को अटेंशन देने की ज़रूरत है और आपको उसकी प्राइमरी लव लेंगुएज सीखनी पड़ेगी. हर इंसान की एक डिफरेंट लव लेंगुएज हो सकती है इसलिए आपको अपनी और अपने पार्टनर की लव लेंगुएज आइडेंटीफाई करनी होगी जिससे आप एक लॉन्ग लास्टिंग हैप्पी मैरीड लाइफ का मज़ा ले सके.



चैप्टर 2 : कीपिंग द लव टैंक फुल


 हर किसी का एक इमोशनल लव टैंक होता है. जब भी कोई पर्सन लव को प्राइमरी लेंगुएज में रिसीव करता है तो उसका लव टैंक भरने लगता है और इस तरह लोगो को लव की फील होती है.

 और जब हमें लव अपनी प्राइमरी लेंगुएज में नहीं मिलता तो ये टैंक खाली होता जाता है और हमें फील होता है कि हमारी लाइफ में लव की कितनी कमी है. जब ये टैंक्स खाली होने लगते है तभी रिलेशनशिप में इश्यूज आते है.

 इंसान जब प्यार में पड़ता है तो उसे लगता है कि ये रिलेशन अब हमेशा के लिए है. फिर कुछ टाइम बाद, जैसे कि 2 साल बाद, हर रिलेशनशिप में ये इश्यूज आने लगते है.

 अगर आप चाहते है कि आपका रिलेशन लॉन्ग लास्टिंग रहे तो आपको अपने स्पाउस की प्राइमरी लेंगुएज सीखनी पड़ेगी. अगर उनका लव टैंक फुल है तभी वो आपको भी भरपूर प्यार दे पायेंगे.



चैप्टर 3 : फालिंग इन लव


 ये चैप्टर थोडा पैसीमिस्टिक है और उदास करने वाला भी. मै आपको इस चैप्टर में किसी के प्यार में पड़ने का एक्जेक्ट प्रोसेस बताऊंगा.

 लेकिन हो सकता है कि बगैर किसी डिटेल्स के मै इस बात को एक फनी वे में ख़त्म करूँ. क्योंकि आपको “फालिंग इन लव” का प्रोसेस बताते हुए मै रियलिस्टिक रहना चाहता हूँ. हो सकता है कि ये आपको कुछ पैसीमिस्टिक लगे.

 इस पर्सपेक्टिव का मतलब समझ आता है क्योंकि ऐसे बहुत से कपल है जो प्यार में पड़ते है, शादी करते है फिर लास्ट में सेपरेट हो जाते है. ये दुःख की बात है मगर सच है कि हमारे कल्चर में आजकल डिवोर्स बहुत कॉमन हो गए है.

 मैंने देखा है कि दो साल के इन्शियल लव फेस के बाद लोग पार्टनर 
पाने के नेचर का दूसरा साइड देखना शुरू कर देते है, जो उन्होंने पहले कभी नहीं देखा होता है. उन्हें ये सोचकर ज्यादा पेन और हर्ट होता है कि वे प्यार में कितने अंधे थे.

 प्यार का नशा जब उतरता है, तो कडवी रियेलिटी नजर आती है जो उन्हें और भी रुड बना देती है. फिर उनके रिश्ते में छोटा सा रीजन भी जैसे सिंक में बाल मिलना, तकरार की वजह बन जाता है और लोगो के सामने उन्हें झूठ मूठ खुश होने का दिखावा करना पड़ता है.

 मै आपको इस बात का एक सोल्यूशन दे सकता हूँ, फालिंग इन लव हर किसी के साथ होता है. अगर हर कपल को ये रियेलाईज़ है कि वे अपनी किसी एक्टिव चॉइस की वजह से एक दुसरे से जुड़े हुए है, तो फिर वे फिर से एक दुसरे को प्यार करना भी सीख सकते है.


 इस चैप्टर में हमने कहा था कि फालिंग इन लव का प्रोसेस एक टेमप्रेरेरी इमोशनल एक्स्पेरियेसं होता है और रियल लव तब तक स्टार्ट नहीं होता जब तक कि इमोशनल फालिंग इन लव प्रोसेस शुरू ना हो जाए.

 फेक्ट तो ये है कि हर रिलेशनशिप डिफरेंट है और इस चैप्टर का मेन फोकस ये समझाना है कि फालिंग इन लव तो ईजी है मगर स्टेयिंग इन लव मुश्किल काम है. दरअसल ये एक बिलकुल अलग टास्क है.

 आपको प्यार के रास्ते में हज़ार मुश्किलें मिलेंगी, कई चैलेंजेस आपके सामने आयेंगे मगर आपको गिव अप नहीं करना है. हर हाल में अपने प्यार के लिए लड़ना होगा. और बेस्ट पार्ट है कि जब आप साथ मिलकर इन हर्डल और ओब्स्टेक्ल्स से बाहर आयेंगे तो आपका रिलेशन और भी स्ट्रांगर होगा.




चैप्टर 4 : लव लंगुयेज #1: वर्ड्स ऑफ़ अफरमेशन


 मेरे हिसाब से आपके पार्टनर के एक्सप्रेसिवली दिल खोलकर आपकी तारीफ़ करने से आपको हद से ज्यादा ख़ुशी मिलती है और आप पेम्पेर्ड फील करते है, तो आपको भी अपने पार्टनर को एप्रिशिएट करना चाहिए, उन्हें प्यार के बदले प्यार देना चाहिए. ये आपकी पार्टनर की लव लैंगुएज है, इसे समझे और इसी के हिसाब से अपने रिश्ते में आगे बड़े.

 एक बार एक लेडी नाइन मंथ्स तक ट्राई करने के बाद भी अपने हसबैंड को बैडरूम में पेंट करने के लिए मना नहीं सकी, तो वो मेरे पास अपनी प्रोब्लम लेकर आई.


 मैंने उसे एडवाइस दिया कि आपका हसबैंड जो कुछ करे उसे हर छोटी-बड़ी बात के लिए कॉम्प्लीमेंट दो और फिर देखो कमाल.

 उस लेडी ने ठीक ऐसा ही किया और ज़ादू चल गया. उसके हसबैंड ने ख़ुशी-ख़ुशी उनका बैडरूम पेंट कर दिया.

 ज़रूरी नहीं कि हर बार एक्शन वर्ड्स से लाउडर ही हो. वर्ड्स ऑफ़ अफरमेशन किसी का भी कांफिडेंस बढ़ा सकते है.


 अगर आपकी प्राइमरी लेंगुएज ये है तो इसका मतलब है कि जब कोई आपको रियल कॉम्प्लीमेंट दे, आपसे कहे आई लव यू”, साथ ही अगर दूसरी ओर किसी की इन्सल्ट से आपका हार्ट ब्रेक होता है जो आपके दिल में लॉन्ग लास्टिंग रहता है,

 तो मेरी एडवाइस यही है कि कभी भी अपने पार्टनर के इमोशंस को हर्ट ना करे, ये बात हमेशा याद रखे वर्ना एक ज़रा सी मिस्टेक भी आपके पार्टनर का दिल दुखा सकती है.



चैप्टर 5 : लव लेंगुएज #2: क्वालिटी टाइम


 इस चैप्टर में आपको मै कुछ ऐसे टिप्स दूंगा जिससे आप अपने स्पेशल पर्सन के साथ क्वालिटी कोंवेर्सेशन एन्जॉय कर सकेंगे. अगर ये आपके स्पाउस की प्राइमरी लव लेंगुएज है तो आपको ये टिप्स डेफिनेटली यूज़ करने चाहिए.

 अब हो सकता है कि ये आपकी प्राइमरी लव लेंगुएज ना हो फिर भी आप अपने पार्टनर के लिए ये करे. साथ ही अपने पार्टनर के साथ कुछ क्वालिटी एक्टिविटीज़ के लिए टाइम ज़रूर निकाले.

 एक्जाम्प्ल के लिए जैसे एक लेडी ने बताया कि “मेरी और डेरेक की कभी भी फाईट नहीं हुई” ऐसा इसलिए नहीं था कि उनमे रिश्ते में कभी कोई हार्डशिप नहीं आई थी, बल्कि इसलिए क्योंकि उन्हें किसी चीज़ के लिए फाईट की ज़रुरत ही नहीं पड़ी.


 उनका आपस में क्म्यूनिकेशन हमेशा बहुत बढ़िया रहा था, इसलिए उनकी कभी कोई फाइट नहीं हुई. अब उन्हें ये अच्छे से मालूम हो गया था कि अपने स्पाउस के साथ इफेक्टिव कम्युनिकेशन कैसे करे जिससे मिसअंडरस्टेंडिंग की प्रॉब्लम ही ना हो..

 किसी भी रिलेशनशिप में कम्यूनिकेशन बहुत मायने रखता है. ये आपके रिश्ते की चाबी है. जिसे आप बहुत प्यार करते है, अपना हर काम उसके साथ मिलकर करे.


 साथ में की गई एक्टिविटीज को पूरी वैल्यू दे फिर आपका पार्टनर भी आपको उतनी अटेंशन और भरपूर प्यार देगा. आपको ये बात याद रहे कि अटेंशन ना मिलने पर आपका पार्टनर हर्ट भी हो सकता है.

 कुछ ऐसी चीज़े होती है जो रिश्ते में दरार डाल सकती है जैसे अपने पार्टनर की बात ना सुनना, डिसट्रेक्शन और अपनी खास डेट्स पोस्टपोन करना, आप ये सब अवॉयड करे तो बैटर है.



चैप्टर 6 : लव लेंगुएज #3: रिसीविंग गिफ्ट्स

 गिफ्ट्स एक्चुअली लव का विजुएल सिम्बल होते है. वो इंसान जिसकी प्राइमरी लव लेंगुएज गिफ्ट्स लेना होती है, उन्हें अपने पार्टनर से गिफ्ट्स लेने में बेहद ख़ुशी होती है.

 गिफ्ट मिलने से उन्हें लगता है कि कोई है जो उनकी केयर करता है. उन्हें ये चीज़ इतनी ख़ुशी देती है कि एक स्माल डेली जेस्चर का एब्सेसं उन्हें हर्ट कर सकता है.

 गिफ्ट का मतलब सिर्फ एक्सपेंसिव चीज़ नहीं है. गिफ्ट वो होता है जो दिल से दिया जाए और उसमे देने वाले की सच्ची फीलिंग्स हो. फिर चाहे ये छोटा सा ही क्यों ना हो, लेकिन आपके पार्टनर को ख़ुशी दे सकता है अगर आपने उसे दिल से दिया है तो.

 आपका पार्टनर इसके पीछे आपका प्यार और इंटेंशन देखेगा. कभी कभी गिफ्ट देंने से आपको अपने पार्टनर की एप्रिशियेशन भी मिलती है, और जैसा कि हमने पहले कहा अगर ये आपके पार्टनर की प्राइमरी लव लेंगुएज है, तो अपने पार्टनर को गिफ्ट्स देकर खुश करते रहिये. पहले उनकी पसंद की चीजों की एक लिस्ट बनाये, फिर डिसाइड करे कि आपको कैसा गिफ्ट देना चाहिए.



चैप्टर 7 : लव लेंगुएज #4: एक्ट्स ऑफ़ सर्विस


 “एक्ट्स ऑफ़ सर्विस” का कोंसेप्ट लेंगुएज ऑफ़ लव का एक बेहद ज़रूरी पार्ट है. लोगो को फीलिंग् ऑफ़ नेसेसिटी के बजाये लव और कंपपैसन के साथ “एक्ट्स ऑफ़ सर्विस” पर एफर्ट करना चाहिए. किसी भी मैरीड लाइफ की ये एक बहुत डेलिकेट लेंगुएज होती है पर इसे अगर कंपपैसन के साथ केयरफूली एक्जीक्यूट किया जाए तो कोई भी मैरिड कपल कम्प्लीट हार्मोनी के साथ खुश रह सकता है.

 अगर आपने लव चूज़ किया है, तो इसे कुछ ऐसे एक्सप्रेस करे कि आपका स्पाउस उस लव को फील कर पाए और तब ये एक्ट इमोशनली इफेक्टिव होगा. ये एक्ट किसी गिल्ट,फियर या रीजेंटमेंट की वजह से नहीं होना चाहिए. अगर इन वजहों से आप ये एक्ट कर रहे है तो इसका कोई फायदा नहीं है.

 जैसे अब मै आपको जिम की स्टोरी का एक्जाम्पल देता हूँ. जेनिस नाम की एक औरत थी, उसने अपनी ये स्टोरी मेरे साथ शेयर की.


 उसने बताया कि बीस साल तक वो अपने हसबैंड की सेवा करती रही मगर उसके पति ने हमेशा उसे डोरमेट की तरह ट्रीट किया. वो उसे इग्नोर करता था और मिस्ट्रीट भी करता है. उसे अपने फ्रेंड्स और फेमिली के सामने ह्यूमिलेट किया करता था.

 उसे फिर भी अपने पति से नफरत नहीं थी. उसने कभी भी अपने हसबैंड का बुरा नहीं चाहा मगर लास्ट में वो इतनी तंग आ चुकी थी कि अब उसके साथ रहना नहीं चाहती थी.

 उस औरत ने एक्ट ऑफ़ सर्विस पूरे बीस सालो तक की मगर उसमे एक्सप्रेशन ऑफ़ लव नहीं था. वो एक्ट गिल्ट, रीजेंटमेंट और फियर की वजह से किया गया था.

 एक “एक्ट ऑफ़ सर्विस तब माना जाएगा जब उसे अपने पार्टनर का प्यार मिलेगा, जब उसका पार्टनर उससे ये कहेगा लाओ ये काम मै करता हूँ,” और दिल से आपकी हेल्प करेगा, आपका बर्डन कम करने की कोशिश करेगा और साथ ही अपनी रिसपोंसेबिलिटी भी समझेगा.



चैप्टर 8 : लव लेंगुएजेस #5: फिजिकल टच


 मुझे लगता है फिजिकल टच वो एक्शन है जो हमारी सोल को भी टच करता है. सिर्फ सेक्सुअल इंटीमेसी ही इसका मतलब नहीं है, आप सिम्पली अपने पार्टनर का हाथ पकड़े या उसके साथ बैठे.

 बहुत से रिलेशनशिप में ऐसा होता है कि एक पार्टनर फिजिकल टच को सिर्फ सेक्सुअल इंटीमेसी से जोड़कर देखता है, जबकि दुसरे पार्टनर के लिए इसका मतलब हाथ पकड़ कर बाते करना या क्वालिटी टाइम स्पेंड करना हो सकता है. इसे कम्बाइन करना बड़ा मुश्किल काम है.

 लेकिन इसका सोल्यूशन ये है कि हर किसी को अपने रिलेशनशिप में सेक्रीफाइज और कम्प्रोमाइज करना सीखना चाहिए. बहुत बार ऐसा होता है कि लोग किसी मुसीबत के वक्त एक दुसरे को गले लगाते है क्योंकि फिजिकल टच लव का एक पॉवरफुल कम्यूनिकेशन है.

 मुश्किल वक्त में हमें किसी भी चीज़ से ज्यादा प्यार और अपनेपन की ज़रुरत होती है. अगर आपको लगता है कि आपके पार्टनर की प्राइमरी लेंगुएज भी फिजिकल टच है तो जब भी वो उदास लगे उन्हें एक टाईट हग देकर उनका मूड लिफ्ट करे. इससे उनके चेहरे पे फिर से स्माइल आ जायेगी.



चैप्टर 9 : डिस्कवरिंग योर प्राइमरी लव लेंगुएज


 फाइव टाइप की डिफरेंट लव लेंगुएज को केयरफुली एलोब्रेट करने के बाद अब मै उन मेथड्स पर डिस्कस करूँगा जिससे आप अपनी और अपने पार्टनर की प्राइमरी लव लेंगुएज डिस्कवर कर पाएगे.

 इसे करने के पीछे दो बेसिक रीजन्स है. पहला तो ये कि आपको अपनी लेंगुएज समझ आ जायेगी और दूसरा ये कि आपको ये भी पता चल जाएगा कि आपका पार्टनर क्या प्रीफर करता है.

 मैं यहाँ बॉब की स्टोरी बताना चाहूँगा जिसे लगता है कि फिजिकल टच थ्रू इंटीमेसी के साथ-साथ वर्ड्स ऑफ़ अफरमेशन उसके लिए प्राइमरी लव लेंगुएज है.


 यहाँ मै ये बात भी क्लियर करना चाहूँगा कि बहुत से आदमी ये समझने की मिस्टेक करते है कि जो उन्हें पसंद है वही उनके पार्टनर को भी अच्छा लगता होगा.

 उन्हें लगता है कि औरते भी फिजिकल टच का मतलब सिर्फ सेक्स समझती है, जबकि ऐसा नहीं है. मुझे यकीन है कि अगर किसी औरत को अपने पार्टनर से एप्रीशियेशन, लव और केयर मिले तो वो खुद ही फिजिकली इंटीमेट होंना चाहेगी.

 पहले आप अपने लव लेंगुएज को आइडेंटीफाई करे, उसे समझे जिससे आपके पार्टनर के साथ आपका इमोशनल कोंफ्लिक्ट कम से कम हो. जो कपल अपनी प्राइमरी लव लेंगुएज समझ लेते है उन्ही के बीच ज्यादा गहरा प्यार होता है.



चैप्टर 10 : लव इज अ चॉइस


 अपनी मैरिड लाइफ को लॉन्ग लास्टिंग बनाने का एक ही तरीका है कि आप एक दुसरे की लव लेंगुयेज को समझे और हर रोज़ एक दुसरे को लव करने का वादा करे जिससे आपका लव टैंक हमेशा फुल रहे.

 इस चैप्टर में रीडर्स के लिए एक सवाल है और ये जानने की कोशिश की गयी है कि कितनी पोसिबोलिटी है कि कपल अपना गुस्सा और पास्ट की गलतियों को अनदेखा करके एक दुसरे की लव लेंगुएज में कम्यूनिकेट करे.

 मेरे पास इसका ये ज़वाब है कि बेसिकली प्यार सही और गलत दोनों रीजन्स की चॉइस है.

 प्यार में जब एक पार्टनर से कोई मिस्टेक हो जाती है तो उसे माफ़ी मांग लेनी चाहिए. एक मैरिज का मतलब यही है कि इसमें सही और गलत दोनों डिसीजन हो सकते है, तो दोनों पार्टनर को अपनी गलती के लिए सॉरी बोलना चाहिए और माफ़ करना भी सीखना होगा.

 हर किसी को अपने लाइफ पार्टनर की कद्र करनी चाहिए. हो सकता है कि उनमे लाख बुराईयाँ हो मगर उनके साथ राईट इमोशन के साथ डील करना ही सच्चा लव है. आपके बीच कितने भी आर्ग्यूमेंट्स हो फिर भी फोकस्ड रहे और प्यार करना कभी ना छोड़े.

 हर रिलेशनशिप में स्पार्क होना चाहिए, क्योंकि आदमी और औरत दोनों इसके लिए तरसते है. इस बुक के author ने यही एडवाइस किया है कि अगर अपनी लव लाइफ मेंटेन रखनी है तो एक दुसरे की लव लेंगुएज सीखे और साथ में माफ़ी माँगना और माफ़ करना भी, जो कि आपको किसी भी टफ सिचुएशन में एक साथ जोड़े रखेगा...




चैप्टर 11 : लव मेक्स द डिफ़रेंस


 साइकोलोजिस्ट ने ये डिक्लेयर किया है कि दरअसल लव आपकी दूसरी नीड्स जैसे सिग्निफिकेसं सिक्योरिटी और सेल्फ एप्रीशियेशंस के साथ भी एक कनेक्शन फॉर्म करता है.

 ये प्रूव हो चूका है कि जब आपके पार्टनर का प्यार आपको सेफ और वर्थी फील कराता है. ये आपको एक सेन्स ऑफ़ सिक्योरिटी देता है. ये दुनिया की सबसे बेस्ट फीलिंग् होती है, जब आप किसी को उतना ही प्यार करते है जब पहली बार मिले थे. आप इसे एक ब्लेसिंग समझ सकते है.

 जब आपको प्यार मिलता है तो आपको फील होता है कि आप कितने वैल्यूएबल है. आपकी सेल्फ एस्टीम बिल्ड होती है और ये आपकी क्वालिटी ऑफ़ लाइफ भी इम्प्रूव करता है.

 अगर मैरीड लाइफ में भरपूर प्यार है तो आप बिना किसी हेजिटेशन के अपने पार्टनर से कोई भी प्रॉब्लम शेयर कर लेते है. लव सिर्फ एक सोल्यूशन ही नहीं है बल्कि ये एक प्लेटफॉर्म भी है जहाँ एक अनलविंग स्पाउस भी आपसी अंडरस्टेंडिंग से लविंग बन जाता है.



चैप्टर 12 : लविंग द unlovely


 मेरा ये चैप्टर अपने रीडर्स के क्वेश्चन पर बेस्ड है. उस रीडर का नाम है एन जिसका सवाल है कि क्या कोई किसी अनलव्ड पर्सन को प्यार कर सकता है.

 ये सवाल सुनकर मुझे और मेरी वाइफ को हमारी मैरीड लाइफ के कुछ टफ एक्स्पिरियेंश याद आ गए थे. हम भी उस दौर से गुज़रे थे जब हम दोनों बहुत आर्ग्यूमेंट्स करते थे.

 हमें एक दुसरे पर इतना गुस्सा आता था कि हर छोटी-छोटी बात पर हमारी लड़ाई होती थी जिसका रिजल्ट ये हुआ कि हमें एक दुसरे की शक्ल से भी नफरत होने लगी थी.

 हमारे इश्यूज इतने बड गए थे कि हमारा मैरिड लाइफ में लव के कोंसेप्ट पर से ही यकीन उठ गया था. तब हमने एक साथ बैठकर एक दुसरे के इमोशंस को हर्ट किये बगैर सारी प्रोब्लेम्स डिस्कस की.

 गुस्से और हेट के बजाये हमने सॉफ्ट मैनर में एक दुसरे की बाते सुनी और समझी. हमने बिना किसी एक्स्ट्रा डिमांड के ओनेस्ट सजेशन दिए जिससे हमारा प्यार भरा रिश्ता बरकरार रहे. और इस सबका रिजल्ट ये निकला कि हमने अपने लेंगुएज ऑफ़ लव डिस्कवर की.

 किसी अनलव्ड पर्सन को प्यार करना किसी के लिए भी एक बेहद टफ जॉब हो सकती है. हेट का प्राइमरी रिएक्शन भी हेट और गुस्सा ही होता है.


 जब रिलेशन में प्यार की कमी होती है तो लव टैंक ड्राई हो जाता है, शेल्फ एस्टीम टूटने लगती है और फिर आपस में दूरियां बढने लगती है.

 इस सिचुएशन में आपको ध्यान रखना होगा कि कहीं आप अपने पार्टनर की लव लेंगुएज ना भूल जाए. इस लव लेंगुएज को उसके दिल के पास पहुँचने के लिए यूज़ करे. उसे यकीन दिलाये कि आप उसे समझते है और ये सब करके आप अपनी हेप्पीनेस फिर से पा सकते है.



चिल्ड्रन एंड लव लेंगुएजेस


 ये चैप्टर अपने बच्चो की लव लेंगुएज समझने के बारे में है. आपको अपने बच्चो के साथ एक स्टोंग कनेक्शन और लविंग रिलेशनशिप डेवलप करना सीखना होगा.

 यहाँ मैने अपनी शादी के बहुत से रियल लाइफ एक्जाम्पल यूज़ किये है. और उन कपल्स के भी जिन्हें मैंने इतने सालो में कांउसिल किया. ताकि मेरी इस बुक का एक्जेक्ट कॉन्सेप्ट सबको समझ आये. मैंने रिलेशनशिप और मैरिज में आने वाले ऐसे कई डिफरेंट सिचुएशन और इश्यूज भी डिस्क्राइब किये है जिन्हें मैंने काउंसिल किया है.

 इस चैप्टर में मैंने बताया है कि बच्चे अपनी प्राइमरी लेंगुएज ऑफ़ लव को शो करने के लिए कैसे डिफरेंटली एक्ट करते है. अगर किसी बच्चे की हैबिट है कि वो अपने पेरेंट्स से टोकन ऑफ़ एप्रिशियेशन लेता है तो उसे हमेशा पेरेंट्स के गिफ्ट्स मिलने की चाहत रहेगी. ये उसकी प्राइमरी लेंगुएज ऑफ़ लव है.


 अगर हर पेरेंट्स को अपने बच्चो की प्राइमरी लेंगुएज ऑफ़ लव मालूम हो तो वो इसी हिसाब से अपने बच्चे की परवरिश करके उसे एक मेंटली स्टेबल पर्सन बनने में हेल्प कर सकते है. और जब बच्चे की लव लेंगुएज को इग्नोर किया जाता है तो वो उनके बचपन को ही नहीं बल्कि पूरी लाइफ को बैडली अफ्केट कर सकता है.

 इस बुक में मैंने हर लव लेंगुएज के लिए दो एडिशनल सजेशन भी दिए है. मैंने हस्बैंड्स और वाइव्स के लिए प्रोफाइल सर्वेज भी डिस्क्राइब किये है क्योंकि इससे प्राइमरी लव लेंगुएज को आइडेंटीफाई किया जा सकता है.


 ये एक पेरेंट की रिस्पोंसीबिलिटी है कि वो अपने बच्चे की लव लेंगुएज की नीड समझे और उसे मेंटली, फिजिकली और साइकोलोजिक्ली पूरा प्यार और सपोर्ट दे. हर बच्चे को प्यार का एहसास कराया जाना चाहिए.



चैप्टर 13 : अ पर्सनल वर्ड


 मैं यहाँ फाइव लेंगुयेजेस ऑफ़ लव का रिकैप करता हूँ. कम्यूनिकेशन किसी भी रिलेशन का एक बहुत इफेक्टिव और ज़रूरी पार्ट होता है. और फाइव लव लेंगुयेजेस किसी सिचुएशन को बदल भी सकती है. मगर ये तभी होगा जब पार्टनर एक दुसरे की प्राइमरी लव लेंगुएज में बात करेंगे.

 लोग कई सारे इमोशनल एक्स्पिरियेंश, हिस्ट्री और बैगेज के साथ एक शादी शुदा लाइफ में एंटर करते है. हर किसी की डिफरेंट पर्सनेलिटी होती है, अपना एक डिफरेंट केरेक्टर होता है. हर कोई शादी को लेकर अपनी एक डिफरेंट सोच और अप्रोच रखता है.

 आपके बीच कई सारे डिफरेंसेस हो सकते है मगर फिर भी कभी अपने पार्टनर को इमोशनली हर्ट ना करे. जब कोई कपल आपस में अंडरस्टेंडिंग के लिए एक कॉमन ग्राउंड ढूंढ लेता है तो वे एक दुसरे के साथ रहने के लिए और शादी को बचाने के लिए कम्प्रोमाईज़ करना भी सीख लेते है.

 ये बुक का फाइनल चैप्टर है और इस चैप्टर में मैंने सारे लेसंस रिविजिट किये है जिससे रीडर्स को एक क्लियर कोम्प्रीहेन्शन मिल सके. इस बुक का असली मकसद सारे मैरीड कपल्स तक पहुंचना है.


 आपको बुक से समझ आ जाएगा कि लेखक इस बारे में कितना डेस्पेरेट है कि सारी मैरिजेस सक्सेसफुल और लॉन्ग लास्टिंग बने. मै हर कपल को उनकी लव लाइफ के लिए एक पोजिटिव इम्पेक्ट देना चाहता हूँ.



क्नक्ल्यूजन


 “द फाइव लव लेंगुएजलव के बारे में एक ग्रेट स्टोरी है जो आपकी रिलेशनशिप स्ट्रांग बनाती है.

 प्यार एक ऐसी चीज़ है जिसे फील किया जाता है. इसके लिए अपने पार्टनर को स्पेस और टाइम दे. उन्हें इम्पोर्टेंस दे और उन्हें स्पेशल फील कराये.

 मै यही सजेस्ट करूँगा कि अपने पार्टनर की लव लेंगुएज डिस्कवर करे ताकि आप भी उसे सीखकर उनसे उनकी लव लेंगुएज में बात कर सके जो उन्हें ढेर सारी खुशिया देगा.

 आप अपने पार्टनर से कैसे प्यार का इज़हार करते है इस बात पर ध्यान देने की ज़रुरत है. और अगर आपके पार्टनर को आपसे कुछ शिकायते है तो उस पर गौर करे, एनालाइज करे कि वो आपको किस तरह बिहेव करते देखना चाहते है.

 मैरीज में एक रोमांटिक लव की डिजायर हर ह्यूमन के साइकोलोजिकल मेक अप में डीपली रूटेड होती है. हर एक को चाहिए कि वो अपने लाइफ पार्टनर को वैल्यू दे और अपने रिश्ते में एफर्ट्स डाले। अपने प्यार को एक्सप्रेस करना सीखे और लव लेंगुएज के ये सिंपल बेसिक टिप्स फॉलो करके एक लॉन्ग लास्टिंग relationship एन्जॉय करे।


 तो प्यार के ऊपर लिखी गयी ये The Five Love Languages Book Review in Hindi कैसा लगा आपको, नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस बुक Review को हर couple के साथ शेयर करे जिसकी आप जानते है।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Comments

Popular posts from this blog

Top 16 Chanakya Niti in Hindi (Unique) - Best Quotes 2019 | Thoughtinhindi.com

Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Be Fearless | Thoughtinhindi.com

Motivational Thoughts in Hindi - 3 Best Tips to Wake Up Early Morning | Thoughtinhindi.com

Best Business Ideas In Hindi - Start A Business Under 5000 Rupees in INDIA | Thoughtinhindi.com