The Alchemist Book Summary in Hindi - खजाना ढूंढने की कहानी

Book Summary in Hindi - The Alchemist. Hello दोस्तों, ये Brazilian author Paulo Coelho की Best Selling बुक The Alchemist book की समरी.

 ये बुक एक Novel है और ये Novel में एक भेड़े चढ़ाने वाले एक लड़के के बारे में है जिन्होंने खजाना धुंध कर बिना अपना दिमाग लगाए बहुत जगह इधर-उधर भटके रहे और अंत में उसको पता होता है की वो जहा रहता था वही उसका खजाना था, और उसको कैसे उनका खजाना का पता चलता है, इसी के ऊपर पूरा Novel लिखी गयी है।

 दोस्तों हम भी ऐसे ही करते है की अपना छुपा हुआ खजाना मतलब ज्ञान को हम ढूंढ ही नहीं पाते, जिससे हम अपने जिंदगी में success हो सकें, तो इस बुक की summary को पढ़े और इससे इसका ज्ञान हासिल करें, Indirectly ये हमारे Life के बारे में ही बताता है। वैसे ये बहुत ही interesting कहानी है।


Book Review in Hindi - The Alchemist

Book Summary in Hindi - The Alchemist



पार्ट Ⅰ

 ये स्टोरी एक शेपहर्ड लड़के की है जिसका नाम सेंटीयागो था. वो स्पेन के एंडाल्यूसिया में रहता था और भेड़े चराता था. एक बार वो अपनी शीप्स चराते हुए किसी जगह पर पहुंचा जहाँ एक शॉपकीपर की काले बालो वाली सुंदर लड़की से उसकी मुलाकात हुई जो उससे उन खरीदने आती थी.

 सेंटीयागो को वो लड़की बड़ी अच्छी लगती थी और हर बार की तरह इस साल भी वो उस लड़की से मिलने की उम्मीद में उसी जगह पर वापस जाने की सोच रहा था. वो स्पेन के हिंटरलैंड एरिया में अपनी शीप्स लेके घूमता था जहाँ घास और पानी की कोई कमी नहीं थी.

 रात में ठंड से बचने के लिए वो एक जैकेट रखता था लेकिन दिन में बड़ी गर्मी होती थी इसलिए उसे जैकेट लेके घूमना पसंद नहीं था. “लेकिन लाइफ में किसी भी चेंज के लिए रेडी रहना चाहिए, चाहे दिन हो या रात या लाइफ में बड़ी चीज़े” ये खुद बात से कहा करता था क्योंकि जैकेट उसे रात में ठंड से बचाती थी.

 उस लड़के की फेमिली चाहती थी कि वो एक प्रीस्ट बने लेकिन उस लड़के को ट्रेवल करने का बड़ा शौक था इसलिए वो एक शीपहर्ड बन गया ताकि वो अपनी शीप्स के साथ हमेशा घूमता रहे.

 उसे एक ही ड्रीम दो बार आया जब रात में वो एक चर्च के एक टूटे हुए कमरे में सो रहा था जहाँ पर एक बड़ा सा पेड़ उग आया था. फिर वो एक मिस्टिक लेडी से मिलने तारीफा नाम के टाउन में चला, जो ड्रीम्स के मतलब बताती थी.

 तो उस जिप्सी औरत ने उस लड़के के ड्रीम का मतलब ये बताया कि उसे ईजिप्ट के पिरामिड जाना चाहिए जहाँ उसे एक खजाना मिलेगा. और जब उसे वो खजाना मिल जाए तो उसका दसंवा हिस्सा फीस के तौर पर वो उस जिप्सी लेडी को दे दे.

 लेकिन उस लड़के ने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और टाउन में घूमने लगा. फिर उसे एक ओल्ड मेन मिला. पहले तो सेंटीयागो उससे बात करने में ज़रा भी इंटरेस्ट नहीं था लेकिन उस ओल्ड मेन की विजडम ने उसे इम्प्रेस कर दिया और वे दोनों बाते करने लगे.

 उस ओल्ड मेन ने बताया कि वो सालेम का राजा है. उसने सेंटीयागो को अपने ड्रीम यानी खजाने तक पहुँचने में हेल्प भी की. उसने सेंटियागो को ये भी बताया कि वो अक्सर लोगो को उनकी डेस्टिनी तक पहुँचने में किसी ना किसी तरह से हेल्प करता है. अब क्योंकि सेंटियागो ने अपनी डेस्टिनी तक पहुँचने से पहले ही हार मान ली थी इसलिए वो उसे सही रास्ता दिखाने के लिए उसके पास आया था.

 उस ओल्ड मेन ने उससे कहा कि लाइफ हमेशा हमें कुछ साइन या क्ल्यूज़ देती है ताकि हम राईट डायरेक्शन चूज़ कर सके. फिर उसने सेंटियागो से कहा कि उसे बाकि की गाइडेंस लेसन के लिए फीस के तौर पे अपनी शीप्स का दंसवा हिस्सा देना होगा. अगले दिन सेंटियागो फिक्स टाइम पर उस ओल्ड मेन से मिला जिसने उसे दो स्टोंस यानी पत्थर दिए. इनमे से एक स्टोन ब्लैक था और दूसरा व्हाईट.

 उस ओल्ड मेन ने सेंटियागो से कहा कि अपनी मंजिल की तलाश में अगर उसे कभी भी कोई कन्फ्यूजन हो तो इन दोनों स्टोंस की हेल्प से वो अपना डिसीज़न ले सकता है. उसने उसे ये भी एडवाइस दी कि अगर उसे कोई गुड ओमेन दिखे तो ध्यान रखे जो उसे उसकी डेस्टिनी तक पहुँचने में हेल्प करेंगे. तभी अचानक एक बटरफ्लाई सेंटियागो के फेस के उपर से उडी जोकि एक गुड ओमेन था. ----------

 और फिर उसी दिन वो लड़का अफ्रीका के टंगीयर नाम की जगह पहुंचा. वहां पर वो एक बार में बैठा था कि एक आदमी उसके पास आया. उस आदमी में स्पेनिश में उससे पुछा कि वो इस नयी जगह में क्या करने आया है. अब उस लड़के के लिए ये एक और ओमेन था. सेंटियागो ने उसे कहा कि उसे पिरामिड्स तक जाना है और अगर वो आदमी गाइड बनाकर उसे वहां तक ले जाए तो वो उसे पैसे देगा.

 वो आदमी सेंटियागो से पैसे लेकर बिज़ी मार्किट में कहीं गायब हो गया और सेंटियागो देखता रह गया. वो बड़ा उदास हुआ फिर अचानक उसे वो दो स्टोंस याद आये. जब उसने वो स्टोंस अपनी पॉकेट से निकाले तो उसे उस ओल्ड मेन की बात याद आ गयी.

 उस ओल्ड मेन ने कहा था "अगर तुम किसी चीज़ को दिल से चाहो तो ये सारी कायनात उसे तुमसे मिलाने में मदद करती है"

 उन दो स्टोंस को देखके सेंटियागो को लगा कि जैसे वो ओल्ड मेन एक स्पिरिट की तरह उसके साथ है और उसे खजाने की खोज में आगे बढ़ने के लिए इंस्पायर कर रहा है. अपना पैसा खोने के बावजूद सेंटियागो ने हार नहीं मानी और अपने शिपहर्ड के एक्स्पिरियेंश से किसी तरह उस अजनबी शहर में सर्वाइव कर लिया. अब उसका सेल्फ बीलीफ़ और कोंफिड़ेंश और भी स्ट्रोंग हो गया था ------

 फिर उसे एक क्रिस्टल सेलर मिला. सेंटियागो ने उस क्रिस्टल सेलर से कहा कि अगर वो उसे खाना खिला दे तो बदले में वो उसका कुछ काम कर सकता है. उस शॉप कीपर ने उसे लंच कराया और फिर उससे अपनी शॉप में रखी ग्लास की चीज़े साफ़ करने को कहा. जब वो ग्लासवेयर साफ़ कर रहा था तो उसी टाइम शॉप में दो कस्टमर्स ने आकर कुछ सामान खरीदा. अब वो शॉप वाला भी ओमेन में बीलिव करता था तो उसने सेंटियागो को हमेशा के लिए काम पे रख लिया.

 लेकिन सेंटियागो को वहां काम नहीं करना था, उसे तो पिरामिड्स जाने के लिए पैसो की ज़रुरत थी. उसकी बात सुनकर वो शॉप वाला हंसा और उसने बताया कि पिरामिड्स वहां से हज़ारो किलोमीटर दूर है और वहां तक जाने के लिए ढेर सारा पैसा चाहिए. ये सुनकर सेंटियागो का इरादा बदलने लगा उसने सोचा क्यों ना काम करके इतना पैसा कमाया जाए कि वो वापस अपने नेटिव प्लेस जाकर शीप्स खरीदे और फिर से शिपहर्ड का काम शुरू कर दे. ------


पार्ट II

 वो लड़का क्रिस्टल्स के लिए एक नया केबिनेट बनाना चाहता था ताकि वो जल्द से जल्द ढेर सारा पैसा कमा सके और वापस अपने टाउन जाकर शिपहर्ड का काम शुरू कर सके. शॉप कीपर ने उसकी बात मान ली क्योंकि उसे सेंटियागो से सिम्पेथी थी.

 वो खुद कई सालो से मक्का जाने का ख्वाब देख रहा था लेकिन कभी जा नहीं पाया था, तो इसलिए वो चाहता था कि कम से कम सेंटियागो की विश पूरी हो.

 इसलिए उसने सेंटियागो को एडवाइस दी कि उसे क्रिस्टल के ग्लासों में चाय बेचनी चाहिए जिससे ज्यादा कस्टमर अट्रेक्ट हो सके. हालांकि उसकी शॉप अच्छी चल रही थी और उसे ज्यादा मेहनत करके शॉप को एक्सपेंड करने की कोई जरूरत नहीं थी फिर भी वो सेंटियागो की हेल्प करने के लिए तैयार हो गया. क्योंकि सेंटियागो की डेस्टिनी में उस शॉप कीपर के इस डिसीज़न का भी कंट्रीब्यूशन था.

 और इस डिसीज़न से एक बड़ा चेंज आया क्योंकि क्रिस्टल ग्लास में चाय बेचने से ये शॉप बड़ी फेमस हो गयी थी और इसे एक बड़ी कमर्शियल सक्सेस मिली थी. जब सेंटियागो के पास काफी पैसा जमा हो गया तो उसने अपने घर वापस जाने का डिसीजन लिया.

 लेकिन जाने से पहले वो शॉपकीपर से ब्लेस्सिंग्स लेना चाहता था. शॉप कीपर ने उसे ब्लेस्सिंग दी और साथ ही ये प्रेडिक्ट भी किया कि सेंटियागो वापस स्पेन नहीं जा पायेगा. सेंटियागो ने अपना सारा सामान समेटा और किंग के दिए दो स्टोंस भी अपनी पॉकेट में रख लिए. ---------

 जैसे ही वो एंडाल्यूसिया जाने के लिए तैयार हुआ कि तभी उसे एक ख्याल आया. जो कुछ भी अब तक उसके साथ हुआ था, उसने उस सब के बारे में सोचा.

 उसे अचानक ख्याल आया कि वो जब चाहे अपने देश जाकर शीप्सहर्ड बन सकता है लेकिन पिरामिड्स जाने का मौका उसे दुबारा नहीं मिलेगा. किंग के दिए उन दो स्टोंस को देखकर उसे ये ख्याल आया था. वो अपने डिसीज़न पर गौर करने लगा. अब उसने अपना माइंड चेंज कर लिया था और पिरामिड्स जाने के लिए निकल पड़ा.

 वो एक वेयर हाउस पहुंचा जहाँ उसे एक इंग्लिशमेन मिला जो काफी बातो मे सेंटियागो की तरह था. वो आदमी उन दो स्टोंस को भी पहचानता था जो सेंटियागो के पास थे. ये और ओमेन था सेंटियागो के लिए. फिर वे दोनों ईजिप्ट जाने वाले एक कारवाँ के साथ-साथ चलने लगे जिसका सरदार एक दाड़ी वाला आदमी था.

 वो कारवाँ एक रेगिस्तान से गुज़र रहा था. कारवाँ में पहले तो काफी चहल पहल हो रही थी लेकिन फिर सब चुपचाप चलने लगे. जर्नी के दौरान सेंटियागो की अपने ऊंट चलाने वाले से दोस्ती हो गयी और दोनों अपनी-अपनी लाइफ के बारे में एक दुसरे को बताने लगे.

 दोनों को एक फिलोसिफिकल ट्रऊथ का एहसास हुआ. उन्हें फील हुआ कि जैसे डेस्टिनी ने हर चीज़ पहले से प्लान कर रखी है क्योंकि लाइफ में हर एक चीज़ किसी दूसरी चीज़ से जुडी हुई है. जर्नी के बीच-बीच में उन्हें बेडूइन्स भी मिल जाते थे जोकि डेजर्ट के मिस्टीरिय्स प्रोटेक्टर ट्राइब थे. वे उन्हें डेजर्ट के डाकुओ और आने वाले खतरों के बारे में अलार्म करके फिर से गायब हो जाते थे. एक बार तो उन्हें ये भी इन्फोर्मेशन मिली कि ट्राइबल्स के बीच में वार होने वाली है जिसे सुनकर सारे लोग डर गए थे लेकिन वापस लौटना अब पोसिबल नहीं था. और जब वापस जाना मुमकिन ना हो तो आगे बढ़ते रहना ही एक पोसिबल रास्ता होता है. --------

 जैसे जैसे वे लोग आगे बढ़ रहे थे, वो इंग्लिशमेन डेजर्ट में और ज्यादा इंटरेस्ट लेता गया और वो लड़का उस इंग्लिशमेन की बुक्स में. तो ये एक तरह का छोटा सा रोल रिवर्सल था. वो इंग्लिशमेन किसी भी मेटल को गोल्ड में चेंज करने के आर्ट यानी कि अल्केमी में इंट्रेस्टेड था.

 लेकिन सेंटियागो जितना उन बुक्स को पढता गया उतना ही ज्यादा कन्फ्यूज़ होता गया क्योंकि उसे उन बुक्स की लेंगुएज और उनमे बने सिम्बल्स कुछ समझ नहीं आ रहे थे. वो ये सब ईजी वे में सीखना चाहता था लेकिन उस इंग्लिशमेन ने कहा "हायर नॉलेज उसी को मिलती है जो खूब सारा टाइम देकर बड़ी मेंहनत से ये किताबे पढ़ते है".

 अब उनका कारवाँ तेज़ी से आगे बढ़ता जा रहा था और वे लोग ट्राइबल वार से बचने के लिए रात-दिन बिना रुके चलते जा रहे थे. और फ़ाइनली उनका कारवाँ ट्राइबल वार से बचता-बचाता किसी तरह ओएसिस तक पहुँच ही गया. फिर वो अल्केमिस्ट अपने ओमेन के सजेशन पर बड़ी बेसब्री से एक आदमी का इंतज़ार करने लगा जो उसे कुछ सीक्रेट्स बताने वाला था. अपने हथियार उतारने के बाद कारवाँ के लोगो को ओयसिस में ठहरने के लिए जगह मिली. और फिर नेक्स्ट डे वो इंग्लिशमेन उस लड़के के साथ अल्केमिस्ट की तलाश में निकल पड़ा.



 वे एक कुंए के पास पहुंचे. वहां काले कपड़ो में कुछ औरते खड़ी थी. सेंटियागो को किसी ने बताया था कि वहां मैरिड औरतो से बात करना मना है इसलिए वे लोग वेट करते रहे. कुछ देर बाद उन्हें एक अनमैरिड औरत कुंए की तरफ आती दिखी. वो इतनी खूबसूरत थी कि सेंटियागो उसे देखता ही रह गया. और तब पहली बार उसे लव की लेंगुएज समझ आई जो सारी दुनिया में एक सी बोली जाती है. उसका दिल गवाही दे रहा था कि वे दोनों एक दुसरे के लिए ही बने है.

 सेंटियागो के पूछने पर उस लड़की ने अपना नाम फातिमा बताया. अब हर रोज़ वो उससे कुंए पर पन्द्रह मिनट के लिए मिलने जाता था जोकि उसकी लाइफ बन चुकी थी. फिर जल्द ही ये खबर भी उड़ने लगी कि ट्राइबल वार अभी लम्बी चलने वाली है और जब तक ये ख़त्म नहीं होती, वे लोग वहां से नहीं निकल सकते.

 अब उनके पास ओएसिस में रुके रहने के अलावा और कोई ऑप्शन नहीं था और शायद उन्हें कई और साल वहां गुजरने पड़े. वो लड़की भी सेंटियागो को उतना ही चाहती थी. दोनों अब बहुत क्लोज आ चुके थे. सेंटियागो ने उसे अपनी लाइफ के बारे में सब कुछ बता दिया था, खजाने के बारे में भी.

 फातिमा ने उसे कहा कि वो खजाने की तलाश ना छोड़े. उसके सामने दो रास्ते थे. या तो वो इसी ओएसिस में रहकर अपने सवालों के ज़वाब ढूढे या फिर डेजर्ट का रास्ता पकड़े. लेकिन फिर से एक बार वो इस खजाने की तलाश में निकल पड़ा. इस टाइम तक काफी अँधेरा हो चूका था.

 तभी उसे एक और ओमेन दिखा. दो बाज़ उसके उपर से उड़ रहे थे कि तभी एक ने दुसरे पर अटैक किया. उस टाइम  वो खुद भी जैसे इस दुनिया की आत्मा में घुस चूका था जिसकी वजह से उस ओमेन का इंटरप्रेशन ये था कि ओएसिस पर अटैक होगा. उसने ये बात अपने ऊंट ड्राइवर को बताई जिसने उसे कहा कि वो जाकर ये बात ओएसिस के चीफ को बताये. तो सेंटियागो ने ये बात जाकर चीफ को बताई.

 चीफ ने अपने साथियों से कंसल्ट किया और इस खबर की सच्चाई टेस्ट करने की सोची. सेंटियागो को बोला गया कि नेक्स्ट डे सब लोग वार के लिए रेडी रहेंगे और अगर उसकी अटैक वाली बात सच हुई तो सेंटियागो को रिवार्ड दिया जाएगा. और अगर उसकी बात झूठ निकली तो बदले में सेंटियागो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ेगा.

 सेंटियागो ने इस फैंसले को अपना “मकतब” यानी डेस्टिनी समझ कर एक्स्पेट कर लिया. फिर जब वो पीछे जाने लगा तो उसे एक हॉर्समेन मिला जो बड़ा हैरान था. उसने सेंटियागो से ओमेन का राज़ पुछा तो सेंटियागो ने बड़ी ब्रेवली उसे सब कुछ बता दिया और ये भी बताया कि उसे इसका प्रेडिक्शन मालूम नहीं था.


Don't Miss -

  1. Steve Jobs Biography in Hindi
  2. Monk Who Sold His Ferrari Book Summary In Hindi
  3. Elon Musk Biography Book Summary in Hindi

 उसके इस ज़वाब से वो हॉर्समेन सेटिसफाईड लग रहा था उसने उसे जाने दिया और सबसे कहा कि इस लड़के की हिम्मत ही वो चाबी है जिससे इस दुनिया की लेंगुएज समझी जा सकती है. उस हॉर्समेन के ऐसे डीप वर्ड्स सुनकर सेंटियागो को ओल्ड किंग की याद आ गई. उस हॉर्समेन के इस स्माल जेस्चर से उसे पता चल गया कि वो ही अल्केमिस्ट है और अगर अटैक में उसकी जान बची तो सेंटियागो को उससे मिलना था ------

 और नेक्स्ट डे उन पर सचमुच अटैक हुआ. फाइव हंड्रेड हॉर्समेन ने ओएसिस को घेर रखा था. लेकिन ओयसिस में रहने वाले भी पूरी तरह रेडी थे और सिर्फ आधे घंटे में ही उनके लीडर को छोड़कर सारे अटैकर्स मारे गए. लीडर को पूछताछ के लिए चीफ के पास लाया गया और बड़े ओनर के साथ उसे फांसी पर लटका दिया गया. सेंटियागो को ईनाम में 50 गोल्ड कोइंस मिले और साथ ही उसे ट्राइब का काउंसिलर बनाने की भी बात हुई. लड़ाई अब खत्म हो चुकी थी इसलिए सेंटियागो अल्केमिस्ट से मिलने गया जिसने उसे अपने टेंट में डिनर के लिए इनवाईट किया था.

 उसने सेंटियागो को खजाने की तलाश में पिरामिड जाने के लिए कहा. लेकिन जब सेंटियागो ने कहा कि उसे खजाने के तौर पर फातिमा मिल गयी है तो अल्केमिस्ट ने उसकी बात काटी. उसने सेंटियागो से कहा कि उसे फातिमा पिरामिड से नहीं मिली इसलिए वो खजाना नहीं हो सकती है. उसने फिर सेंटियागो को एडवाइस दी कि उसे अपने ऊंट बेचकर एक घोडा लेना चाहिए क्योंकि वो ज्यादा डिपेंडेबल रहेगा.

 नेक्स्ट नाईट वे दोनों एक साथ सफर पर निकल पड़े. अल्केमिस्ट ने सेंटियागो से कहा कि वो डेजर्ट में उसे लीड करे. स्टार्टिंग में सेंटियागो थोडा कन्फ्यूज़ हुआ फिर लड़के ने सीख लिया कि जहाँ रास्ता मिले बढ़ते जाओ. और इस तरह उसका घोडा उसे एक स्पॉट पर लेकर पहुंचा जहाँ उन्हें लाइफ फॉर्म एक स्नेक के रूप में दिखी. यही वो ओमेन था जो अल्केमिस्ट देखना चाहता था.

 वो सेंटियागो को खजाने तक पहुंचाने के लिए कमिटेड था लेकिन वो लड़का तो बस ओएसिस में रहकर फातिमा के साथ एक पीसफुल लाइफ गुजारना चाहता था. इस पर अल्केमिस्ट ने सेंटियागो से कहा कि कुछ टाइम तक तो उसकी लाइफ अच्छी गुजरेगी लेकिन अगर उसने अभी खजाना नहीं ढूँढा तो बाद में वो पछतायेगा और कभी खुश नहीं रह पायेगा. क्योंकि उसकी डेस्टिनी में यही लिखा है कि वो खज़ाना ढूंढें.

 वे दोनों रात काटने के लिए फिर से ओएसिस में लौटे. सेंटियागो ने फिर से एक बार मन बनाया कि वो अपनी डेस्टिनी फोलो करेगा और यही बात उसने अल्केमिस्ट को भी बताई. और नेक्स्ट डे वे दोनों सूरज उगने से पहले अपनी जर्नी पर निकल पड़े..-----

 वे डेजर्ट में घुमते रहे. फातिमा की जुदाई में सेंटियागो का दिल भारी हो रहा था. अल्केमिस्ट ने उससे कहा कि वो पुरानी बाते भूल कर आगे बड़े. अगर फातिमा का प्यार उसके नसीब में लिखा है तो उसे ज़रूर मिलेगा. लड़का उस डेजर्ट में बढ़ता जा रहा था, वो डेजर्ट से काफी कुछ सीख रहा था. वे वार जोन के रास्ते अवॉयड करते रहे, कभी-कभी तो उन्हें ब्लड की स्मेल से ही पता लग जाता था कि कहीं पास में ही वार हो रही है. और इस तरह बड़े केयरफूली चलते हुए वे अपनी जर्नी के काफी क्लोज आ गए थे. जहाँ डेजर्ट का एक बड़ा स्ट्रेच फैला हुआ था जिस पर बड़ी भारी लड़ाई चल रही थी.

 पूरी जर्नी के टाइम सेंटियागो के सामने काफी कोंफ्लिक्ट मोमेंट्स आये. वो कभी खुश होता था तो कभी उदास हो जाता था. उसने अल्केमिस्ट को ये बात बताई. अल्केमिस्ट उसकी बाते बड़े ध्यान से सुनकर अच्छी कांउसिलिंग करता था जिससे सेंटियागो उससे दिल खोलकर बाते करता और अपनी सर्च के बारे में अच्छा फील करता था. क्योंकि वो अपनी डेस्टिनी की तरफ बढ़ रहा था और इसका हर मोमेंट उसके लिए मायने रखता था.

 अब तक अपने पास्ट के एक्स्पिरियेंश से उसने काफी कुछ सीख लिया था और वो आज जो कुछ भी था, जहाँ पर भी था, अपनी लर्निंग की वजह से ही था. ये सब लाइफ की एक बड़ी प्लानिंग का पार्ट था, ये प्लानिंग अनदेखे हाथो ने लिखी थी जो सबकी लाइफ की प्लानिंग लिखते है. हार्ट ने ये सीखा कि सफरिंग और फेलियर का डर एक्चुअल सफरिंग और फेलियर से बड़ा होता है. ये सब जानकार अब सेंटियागो का मन शांत था. ये सब उसने अल्केमिस्ट से शेयर किया तो उसने कहा कि अब वो अपनी डेस्टिनी के लिए पूरी तरह प्रीपेयर है.

 लेकिन अभी उसे लड़के को एक लास्ट लेसन देना बाकी था और ये लेसन था "जो कुछ उसने अब तक सीखा उसका टेस्ट देने के लिए उसे प्रीपेयर रहना था", और ये इसलिए क्योंकि हर सर्च बिगेनर के लक से स्टार्ट होती है. ताकि जो कुछ लेसन हमने सीखे है वो पूरी तरह से जिंदगी भर के लिए हमारे अंदर समां जाये, और फिर जल्दी ही टेस्ट का दिन भी आया.

 उन्हें एक ट्राइब ने घेर लिया था. वे लोग उन्हें अपने चीफ के पास ले गए और पूछताछ शुरू कर दी. जान बचाने के लिए अल्केमिस्ट ने सेंटियागो का सारा गोल्ड उन लोगो को दे दिया. और साथ ही ये भी कहा कि उस लड़के में ऐसी पॉवर है कि वो उन्हें हवा बनके दिखा देगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो वो लोग उन्हें तीन दिन में मार सकते है.

 अब ये बात सेंटियागो के लिए कुछ ज्यादा हो गयी थी, वो बहुत डर गया था कि आगे क्या होगा. पहले दिन के खत्म होने पर सेंटियागो ने अल्केमिस्ट से कहा कि उसे हवा बनना नहीं आता. इस पर अल्केमिस्ट ने जवाब दिया कि वो उसकी प्रॉब्लम है क्योंकि उसे तो ये जादू आता है. दुसरे दिन वो लड़का दिनभर एक माउन्टेन के ऊपर बैठा रहा और डेजर्ट से बाते करता रहा.

 जब तीसरे दिन अपना जादू दिखाने का टाइम आया तो उसने डेजर्ट से हेल्प करने की रिक्वेस्ट की. डेजर्ट ने उससे कुछ सवाल किये जिसका जवाब उस लड़के बड़ी हिम्मत से दिया. डेजर्ट उसे अपनी सेंड देने के लिए तैयार हो गया और उससे कहा कि वो हवा से हेल्प मांगे. जब सेंटियागो ने हवा से हेल्प मांगी तो हवा ने भी कुछ सवाल किये और उन सवालों के जवाब भी उसने उसी तरह हिम्मत दिए.

 उसने हवा को कन्विंस किया कि वो इतनी तेज़ चले कि वो आसमान से हेल्प ले सके. हवा उसकी बात मान गयी और जोर जोर से चलने लगी. लड़के ने फिर सूरज से बात की और उसे भी तेज़ चमकने के लिए कन्विंस कर लिया. सूरज ने उसे कहा कि वो उन हाथो से बात करे जिन्होंने ये सब कुछ लिखा है. अब उस लड़के ने प्रे करना शुरू कर दिया. उसकी प्रेयर साइलेंट थी मगर उसका हार्ट उस ऊपर वाले से कनेक्ट था.

 उसे सोल ऑफ़ गॉड की पॉवर रियालाईज हुई और ये भी रियेलाईज़ हुआ कि उसके अंदर भी सोल ऑफ़ गॉड मौजूद है. वो इस सीक्रेट को समझ गया था कि इंडीविजुयेली किसी को भी नहीं पता होता है कि उन्हें क्या करना है क्योंकि सारा प्लान उन सुप्रीम पॉवर के हाथो लिखा होता है. और उसने सबके लिए एक प्लान लिखा होता है. कुछ लोग ये बात समझ जाते है और जो नहीं समझ पाते वो फना हो जाते है. सेंटियागो को जब इस सीक्रेट का पता चला तो उसे एहसास हुआ कि उसमे और उसकी डेस्टिनी लिखने वाले हाथो में कोई फर्क नहीं है, वे एक हो गए है. और जैसे ही उसे ये रिवील हुआ उसने ऊपरवाले की हेल्प से खुद को हवा में बदल कर दिखा दिया.

 सब हैरान रह गए और सेंटियागो शर्त जीत गया. उसे और अल्केमिस्ट को छोड़ दिया गया और ट्राइब की तरफ से साथ में चलने के लिए गार्ड भी दिए गए जिन्हें वो चाहे जितनी दूर तक साथ रख सकते थे. चलते-चलते वे लोग एक मोंटेसरी पहुंचे जहाँ उन्होंने गार्ड्स को गुडबाई बोला और आगे बड़े. अल्केमिस्ट ने उसे एक रास्ता दिखाया जो गोल्ड में टर्न हो सकता था. दोनों वहां से अलग हो गए. अल्केमिस्ट वापस ओएसिस में लौट गया और सेंटियागो खजाने की तलाश में आगे चलता रहा. वो अपने दिल की सुन रहा था और आगे बढ़ता जा रहा था.

 और फाइनली वो पिरामिड्स तक पहुँच ही गया. अपनी मंजिल देखकर वो रो पड़ा और जहाँ पर उसके आंसू गिरे वहां उसे एक बीटल दिखा जोकि उस इलाके में गॉड का सिम्बल माना जाता था. उसे ये एक और ओमेन लगा और उसने वहां पर खोदना शुरू कर दिया. उसने काफी गहरे तक खोदा मगर कुछ नहीं निकला.

 तभी उसके पास कुछ ट्राइब्स मेन आये जो वार से अपनी जान बचाकर लौट रहे थे. उन्होंने सेंटियागो का वो सारा गोल्ड छीन लिया जो उसे अल्केमिस्ट ने पार्टिंग गिफ्ट के तौर पे दिया था. उन्होंने सेंटियागो की ख़ूब पिटाई की और उसे सेंड में और डीप खोदने के लिए बोला. जब लड़के ने उन्हें बताया कि उसने ड्रीम में यहाँ पर खजाना गड़ा हुआ देखा था तो उन लोगो को लगा कि यहाँ उन्हें कुछ नहीं मिलने वाला क्योंकि ड्रीम कभी सच नहीं होते.

 जाते-जाते ट्राइब्समेन के चीफ ने उससे कहा कि उसने भी एक ड्रीम देखा था कि स्पेन के एक चर्च के अंदर खजाना छुपा है जहाँ एक टूटे हुए कमरे में साईंकामोर का पेड़ उगा है. ये बोलकर वो चीफ और उसके साथी वहां से चले गए.

 लड़का ख़ुशी से ठहाके लगाने लगा क्योकि ये एक्जेक्ट वही जगह थी जहाँ उसे ईजिप्ट के खजाने का ड्रीम आया था. तो वाकई में कोई खजाना था लेकिन उसे पाने का रास्ता इतना लंबा था उसे पहले डेजर्ट में पिरामिड्स तक पहुंचना था फिर किसी और के थ्रू उसके बारे में जानना था. अगर उसने अपनी डेस्टिनी फोलो नहीं की होती तो शायद उसे कभी भी उस खजाने का पता नहीं चल पाता जो उसके अपने ही देश में छुपा था.


Don't Miss -


  1. The Subtle Art of Not Giving A F*ck Book Summary in Hindi
  2. The Power Of Your Subconscious Mind Best Book Summary In Hindi
  3. Bouncing Back Book Summary In Hindi
  4. Book Summary in Hindi - Men are from Mars Women are from Venus
  5. Book Summary in Hindi - Original : How Non Conformists Move The World
  6. Book Summary in Hindi - Quiet The Power of Introverts


एपिलोग


 सेंटियागो चर्च में गया और खजाने को खोद निकाला. फिर वो उस जिप्सी औरत के पास गया जिसे उसने वन टेंथ देने का प्रोमिस किया था. उसके बाद उसे हवा में वो खुशबू महसूस हुई जो उसे बड़े अच्छे से याद थी और जो अभी उसके होंठो पर एक याद बनकर बैठी थी. ये खुशबू भी फातिमा की. उसने अपने प्यार को बड़ी जोर से आवाज़ दी "मै आ रहा हूँ, फातिमा!"


The Alchemist Full AudioBook :




 तो दोस्तों आपको आज का यह समरी (Book Summary in Hindi - The Alchemist | खजाना ढूंढने की कहानी)  कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस (Book Summary in Hindi - The Alchemist | खजाना ढूंढने की कहानी) को अपने दोस्तों के साथ share करना न भूले। वैसे आप तो भूलते नहीं हो......


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Post a Comment

0 Comments