ये 10 Best & Easiest Business Formula बिज़नेस को आगे बढ़ाने के लिए काफी है

Business Tips in Hindi - 10 steps business Formula (Summary of Startup Success Formula).

 Hello दोस्तों, आज में आपको इस एक ही article में पूरा business formula देने वाला हुँ, पूरा business को build करने के लिए आपको क्या क्या चाहिये, क्या business mindset, क्या business formula apply करना चाहिये, क्या business planning होना चाहिये,

 और आपको क्या करना चाहिये और क्या नहीं करना चाहिए, और सबसे जरुरी बात तो ये है की आप अपना Business आगे कैसे ले जा सकते है, ये सब कुछ आज में आपको बताऊँगा।

 एक साल अगर आप कहीं पे training लेने जाओगे और वहाँ पर आपको जो कुछ भी सिखने को मिलेगा वो सब आपको आज एक ही article में summarize करके बताऊँगा।

 10 points में बताऊँगा, अगर आप कुछ startup करने वाले हे या फिर आप already एक छोटे businessman हो, या फिर आप एक बहुत बड़े businessman भी क्यूँ ना हो, ये 10 points आपके लिए car की petrol की जैसे ही आपको आगे बढ़ने में जरूर मदद करेगी।

 ये मैं क्यों बता रहा हूँ क्योंकि मैं भी एक businessman हुँ, business के जो 10 points मैं आज आपको बताऊँगा वो पूरा 10 points होगा business में failure होने के कारण, जो अगर आप इसको follow करेंगे business के अन्दर तो आपकी business ठीक हो जाए और कभी भी आपको startup या बड़े business में failure का सामना नही करना पड़ेगा।


Business Ideas in Hindi - 10 Steps Business Formula

Business Ideas in Hindi - 10 Steps Business Formula


 एक research के अन्दर पता चला है कि 90% Indian Startups पहले 5 साल के अंदर ही fail हो जाते है, इसका कारण है - Lack of Exact Needed Innovation, ये है 2015-2016 के Patents Field -


 Forbes ने most innovation lists of companies निकाली उसके अन्दर 25 top companies निकाली, जहाँ सबसे ज़्यादा innovations होता है, India की 25 में से सिर्फ़ एक ही company आयी Asian paints.

 रतन टाटा जी continuously अपना dissatisfaction publically express कर रहे है, India में actual disruption और actual innovation कही देखनेको ही नही मिलता।

 अगर आप चाहते है की आप आपनी business को actually बड़ा करे तो इस article को पूरा पढ़े।

 2015 में इतने ख़राब experiences हुए की 2016 की startups funding बहुत नीचे चली गयी थी, 2015 में startups को funding मिली $7.5 Billion की, लेकिन 2016 के अंदर हमारे startups को लगभग 50% नीचे केवल $3.5 Billion का fund ही attract कर पाए।

 वह energy कम हो गई, आज investors पैसा डालना ही नहीं चाहते क्योंकि हमारे India में startups को develop और maintain करना आता नहीं लोगों को।

 startups के ecosystem को लेकर जो most popular 10 cities है दुनिया के अंदर, उनमें India कि किसी भी city का नाम ही नहीं आता। mostly सारि cities American है -


1. Silicon Valley,
2. New York,
3. Los Angeles,
4. Boston,
5. Tel Aviv-Yafo (Israel)
6. London,
7. Chicago,
8. Seattle,
9. Berlin,
10. Singapore.

 India का कहीं नाम ही नहीं आता।

तो वो 10 points आपको बताते हैं, जिससे आप भी हमारे देश को आगे ले जा पाए -


No 1 : Missing Innovation Around Customer's Money Making Model

 India में सारे जितने व्यापारी है पहले अपने money making model को calculate करते हैं, यह कभी नहीं देखते हैं कि उनका customers का money making model क्या होने वाला है, मेरे customers को exactly सफलता कहां से मिलेगी ये नहीं सोचते, मेरे को सफलता कहां से मिलेगी यह सब calculate कर रहे हैं।

 लेकिन जब तक customers की सफलता कैसे होगी उसकी profitability, उसकी growth, उसकी productivity, उसका gross margin, उसका revenue, उसका inventory turnover, उसका cash flow, उसका brand equity, उसका customer acquisition और retention, और उसकी velocity speed of transaction, किस प्रकार मेरे customers अपने money को लेकर grow करते हैं, किस प्रकार मेरे customers का money making model और recurring revenue model grow करता है जिस दिन वह समझ में आएगा, तो customers की need से मेरी greed पूरी होगी।

 पहला point innovation कैसे आता है, कि कौन सी problem आप solve करने वाले हो अपने customers के लिए, जिसको customers अपने आप को वह problem solve नहीं कर सकता।

 तो आपकी business में कैसे growth होगा, customers कि need पे, और अगर हम थोड़ा बहुत need समझ भी लेते हैं, customers की, Indian startups तो ऐसे हैं copy मारने में बहुत तेज है।

America में uber आया तो Indian startups ने ola की शुरुआत की।

America में Amazon की शुरुआत हुई, तो Indian startups ने Flipkart की शुरुआत की।


America में airbnb आया तो India में oyo को उसके against खड़ा कर दिया।


America में गाने सुनने के लिए spotify आया तो ganna.com की शुरुआत हो गया India में। ऐसे ही और बहुत कुछ है।


 Startups अगर customers की need को समझने की कोशिश भी कर रहे हैं, तो वह भी पूरा America startups को copy मारने के लिए India में कोशिश कर रहे हैं। अपना बड़ा Innovations अभी तक ऐसा कोई भी नहीं जो पूरी दुनिया की market को capture कर चुका हो।


No 2: Negative Cash Flow & Negative Working Capital

 Profit important है और Cash भी Important है। आपको दोनों चाहिए ही चाहिए, और यह दोनों ही अलग अलग चीज है।

 आपके Books of Accounts में हो सकता है profit आ रहा हो, लेकिन आपकी cash की payment delay होती जा रही है। Customers से आपके पैसा recovery ही नहीं हो रही है, उसको बोलते हैं Negative Cash Flow.

 आपकी invoices में आपके पास में margin हो, लेकिन धंदे में cash running business में working capital चाहिए होता है, इस problem को solve करने के लिए फिर आप बार-बार funding agencies ढूंढते रहते हैं और कहीं पर funding agencies एक level पे आने के बाद वह आपको fund देना बंद कर देती है।

 वह negative cash flow एक बहुत बड़े कारण होते हैं हमारे startups को बंद करने के लिए।

 कुछ Indian Startups जो बंद हो गए हैं, जैसे askme.com, autoraja, talentpad, fashionara, franklyme, यह सारे बड़े funded startups थे, जो इसी negative cash flow के कारण ही खत्म हो गई।

 तो आप हमेशा positive cash flow बना के रखिए, जो माल बेच रहे हैं कोशिश करिए आप payment advance में या time पे ले सके।


No 3: Expansion with Negative Margin

 अगर gross margin ही नहीं है तो !! बहुत सारे startups ने आजकल क्या सोचना शुरू कर दिया कि market को acquire करो, loss leading strategy पकड़ो, पूरी market को acquire करने के लिए सस्ते में माल बेचना शुरू कर दो।

 valuation बढ़ेगा तो बाद में बाहर से fund लेकर इसको बढ़ा लेंगे, अगर शुरू से आपको यह clear नहीं है ना कि आपका profit कहां से आएगा, बाद में मरेंगे पक्का।

 लोगों की दिक्कत क्या है कि यह business तो करते हैं, लेकिन सस्ता बेचने के चक्कर में शुरू से ही margin के साथ compromise कर जाते हैं, इस situation में क्या कर सकते हैं - आप पहले से ही plan बना के रखिये, जिससे यह situation आए ही ना।

 यह Plan कीजिए कि कब और कैसे अपने margin को cover करेंगे, यह जो सस्ता बेचने के चक्कर है, अगर आपके deep pocket में मोटा धन अगर नहीं है ना, तो जिंदगी भर आप कर्जे में डूबते रहेंगे। तो इसको शुरू से ही ध्यान रखें।


Don't Miss -

  1. Business Ideas in Hindi
  2. Walmart Case Study in Hindi
  3. Steve Jobs Biography in Hindi
  4. Elon Musk Biography Book Review in Hindi
  5. Digital Marketing Guide In Hindi for Beginners


No 4: Lack of Talented Manpower

  •  क्या आपके पास है talented high potential, high performance, high skill, high will?
  •  क्या आपने highly capable लोगों की manpower तैयार करी है ?
  •  क्या आप देख रहे हैं कि आपके पास ऐसे लोग हैं जो आपके vision को execute कर जाए ?
  •  क्या आपके पास ऐसे लोग हैं जो आपकी Idea को execute कर दे ?
  •  क्या आपके पास ऐसे लोग हैं जो most talented लोग हैं जो पूरे दिन बिना थके काम कर सकते हैं ?

 अगर आपके पास बढ़िया manpower नहीं है तो सब कुछ अच्छा होने के बावजूद भी आपकी बिजनेस कभी grow नहीं होगी। Manpower तो आपको चाहिए ही चाहिए।


No 5: Scalability with Recurring Revenue Model

 यहां scalability का मतलब है बिजनेस में बड़ा होने का model क्या है, कहां से बिजनेस बड़ा होगा, कई कई startups बहुत ज्यादा profitable होते हैं, और कई कई startups है margin बहुत अच्छा होता है, और बहुत सारे startups ऐसे भी हैं जो अपने region के अंदर तो बहुत अच्छा कर जाते हैं।

 लेकिन अब बात आता है कि वह बिजनेस बड़ा कैसे किया जाए ??

 उसकी तैयारी पहले ही करना चाहिए, और recurring revenue model का मतलब यह है कि जो अगर आपकी बिजनेस बड़ा होते जा रहे हैं, लेकिन क्या आपकी customers regular customer बन रहे हैं या नहीं!

 इसमें आप पहले से ही बिजनेस को बड़ा करने के साथ-साथ कैसे आपको आपकी customers से regular income होगा इसकी planning करना पड़ेगा आपको।

 लेकिन ज्यादातर लोग यही करते हैं कि नई नई customers के पीछे भागते रहते हैं, और पुराने customers को छोड़ देते हैं। उनको यही लगता है अरे यह पुरानी customer है, तो आते ही रहेंगे, माल लेते ही रहेंगे, क्या फर्क पड़ता है। तो आपको scalability के साथ-साथ recurring revenue model पर ज्यादा ध्यान देना होगा, और इसके लिए पहले से Plan करें।


No 6: Mixed Marketing Signal & Wrong Positioning

 लोगों को अच्छे से पता नहीं होता कि अपने products market में अच्छे से positioning कैसे कर सकते हैं, वह है कौन, आपकी identity है क्या, आपका perfect customer कौन है, आपका imperfect customer कौन है, आपका perfect products क्या है, आपका imperfect products क्या है, आपका products ठीक से plan नहीं किया, और customers का विभाजन अच्छे से नहीं किया,

 हर जगह जाकर बोल रहे हो तू भी खरीद लो, तू भी खरीद ले। हर एक को माल थोड़ी ना बेचते हैं, आपको perfect demography और psychography के हिसाब से ढूंढना है, और फिर जाके वही product present करना है।

 अपना single signal ढूंढिए कि आप कौन हैं, जिसे आपकी identity तैयार होगी। क्या आप newest है ? क्या आप problem solver हैं ? क्या आप best हैं ? क्या आप most convenient है ?

 positioning बहुत तरह की होती है। जब आपको पता चल जाता है कि आप हैं कौन, तब आप उसी हिसाब से packaging करेंगे, उसी हिसाब से branding करेंगे, उसी हिसाब से marketing करेंगे, उसी हिसाब से products को लेकरके market को present करेंगे, उसी हिसाब से ही scheme और policy लाएंगे, उसी हिसाब से ही backend की team तैयार होगी।

 आपकी marketing कि planning ठीक है कि नहीं है, यह जो thums up है उनकी single signal है - taste the thunder, आज कुछ तूफानी करते हैं, 4 तूफानी देना।

 उनको पता है कि market कौन है और कैसे बेचना है। इसको बोलते हैं - product positioning.


Don't Miss -

  1. Motivational Story in Hindi - जिंदगी जीने के कई तरीके
  2. Complete Guide How to Start a Blog 2019-2020


No 7: Releasing Product as a Laggard

 यह laggard मतलब जो product लेकर late से आती है, जो product market में established हो चुका है, उसके जैसा products लेकर लोग जो last में आते हैं market में, फिर discount देते रहते हैं, margin कम करते रहेंगे, और सबसे ज्यादा यह है कि उधारी देते रहेंगे।

 आपका business कितना safe है, उस पर depend करता है क्या आपकी product की timing ठीक है, क्या आप market की adoption curve को ढूंढ पा रहे हैं।

 एक बहुत बड़ा कारण है market में product late आने के कारण लोग struggle ही करता रहता है, कि कोई खरीद क्यों नहीं रहा है!!! चाहे product बहुत ज्यादा quality का है, तो भी नहीं खरीदते हैं लोग, तो आपको market के साथ साथ आगे बढ़ना है।


No 8: Save Yourself from Getting Outcompeted

 आपने अच्छा बिजनेस शुरू कर दिया, लेकिन आपका competitor आपको ध्यान से देख रहा है ये आदमी कर क्या रहा है, आपको पहले से तैयारी करके चलना है।

 आपको entry barrier create करके चलना है, intellectual property rights, patent & licensing, proprietary technology, आप कुछ ऐसी planning करके चलिए जिससे आपके competitor के पास राज खुलने नहीं चाहिए।

 कोशिश करिए अपनी brand equity अच्छी करने की, या फिर अपने माल इतना सस्ता खरीदें economics of scale build करके, तो competitor सोच ही नहीं पा रहा है कि इसने माल इतना सस्ता कैसे बेच पा रहे हैं, उसको पता ही ना लगे, कई तरीके है बिजनेस में entry barrier create करने के लिए।

 क्या आप आपकी business के अंदर शुरू से ही entry barrier create करके चले हैं ?


Don't Miss -

  1. Best Business Tips In Hindi - Under 5000 In India
  2. Business Quotes In Hindi
  3. Business Tips In Hindi - 5 Things for Successful Leadership
  4. How to Find Business Ideas in Hindi
  5. Network Marketing in Hindi (Full Information)


No 9: Missing the Process of Converting Feedback into Feed-Forward

 Customers आपको feedback देता है, आप उसको feed-forward में convert नहीं करते, customer आपको अपने existing products के साथ परेशानियां बताता है।

 आप सोच रहे हैं कि अरे इनको discount चाहिए होता है, इसलिए बता रहा है, आपके customers आपको signal दे रहा है, यह जो customers है न, यह आपके लिए सब कुछ होता है, अगर customers कि feedback या complaints है उनको सुधारने की कोशिश कीजिए।

 आपकी customers आपके साथ रहना चाहते हैं, इसलिए तो आपको वह बता रहा है कि आपकी products में जो कमियां है इन कमियों को दूर कर दो।

 अगर आपके customers आपको complaints नहीं कर रहा है तो वह बहुत dangerous है आपके लिए, वह चुपचाप आपके competitor के साथ घुल मिल जाए, तो इससे हजार गुना अच्छा है complaints देने वाला customers. क्योंकि वह आपके साथ रहना चाहता है, उनको गले लगा लो।

 आपके पहला product केवल trial के लिए होता है, कई improvement करना पड़ता है product के ऊपर according to customers feedback, और feedback को feed-forward में convert करें।

 नहीं तो शुरुआत तो आपकी अच्छी निकलेगी लेकिन बाद में पूरा company shutdown हो जाएगी।


No 10: Business Model of Building Complete Ecosystem

 यह ecosystem का मतलब है कि जैसे एक जीव अपने जीवन के लिए दूसरे पर निर्भर होता है, ये एक web बन जाता है बिजनेस में।

 अकेले में ना करें काम, पूरी society community के साथ मिलकर ecosystem तैयार करें।

 जैसे Google, YouTube, Facebook, Amazon, Flipkart, Uber, Ola etc. जैसे company है जो एक बहुत बड़ा ecosystem है, आप ऐसा कुछ करें जिससे दुनिया का फायदा आपके existence पर हो। जिस दिन आप चले गए पूरी दुनिया रुक जाए, और कम से कम अपने city से ही plan करिये। जिससे आप अपने जैसे और 10 लोगों के साथ मिलकर कुछ बड़ा करें।

 दोस्तों इसके अंदर अगर मैं लिखता जाऊं तो बहुत ज्यादा लंबा Article हो जाएगा, मैं नहीं चाहता कि आप बहुत सारे information लेकर आपके दिमाग confusion से फंस जाए इसलिए आप इस 10 points को ही जान ले और next एक एक point में बहुत कुछ detail में बताऊंगा आपको।

 अगर आप इन 10 points को अपने business में apply कर दिया न तो आप देखोगे की आपका business कहा से कहाँ तक पहुँच जायेगा।


Recommended Book -




 दोस्तों आपको आज का हमारा यह Business Ideas in Hindi - 10 steps business Formula कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस Business Ideas in Hindi - 10 steps business Formula को अपने दोस्तों के शेयर जरूर करें।


Don't Miss -

  1. Rich Dad Poor Dad Book Review In Hindi
  2. Zero to One Book Review In Hindi (Best Business Learning Book)
  3. The Lean Startup Book Review In Hindi
  4. Bouncing Back Book Review In Hindi
  5. The 10X Rule Complete Book Review in Hindi
  6. The 4 Hours Work Week Book Review in Hindi
  7. Copycat Marketing 101 Book Review in Hindi
  8. F. U. Money Book Review in Hindi


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Post a Comment

0 Comments