Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids | Thoughtinhindi.com

Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids. Hello दोस्तों, ये Article हर किसी के लिए नहीं है ये सिर्फ Parent के लिए है। इस article में आप ये जान पाएंगे क्यों हमें अपने बच्चों को किसी और बच्चो के साथ compare नहीं करनी है।
Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids

Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids


 हम बच्चों को बड़े बुरे तरीके से compare कर रहे हैं, तेरे इतने कम marks आए हैं, तेरे 66% क्यों आए हैं, यहां तक भी ठीक है, उसके 92% आए हैं यह बहुत गलत है, this create frustration in a child, frustration is the root of anger, it is the seed for anger.

 कभी भी यह देखना जब आपको गुस्सा आता है, बाहर तो बाद में आता है, पहले अंदर आता है, उससे पहले क्या होता है, उससे पहले frustration होती है। वह अंदर ही अंदर पनप रही होती है, कई दिनों तक, कई हफ्तों तक, कई महीनों तक...... फिर वो anger में convert हो जाते हैं, और फिर वह anger express होता है।

 क्या आप चाहते हैं कि आपके बच्चे frustration हो जाए ? क्योंकि frustration directly depression से connected है। अगर frustration है और आप express नहीं कर पा रहे हो तो आप depressed हो जाओगे। express कर दिया तो लड़ाई-झगड़े हो जाएंगे। दोनों ही तरफ से आपे फंसी परे हो आप।

ऐसा कैसे हो की frustration न आए -

 बच्चों को compare करने से पहले हमें अपने आपको शीशे में देखना है और अपने आपको सवाल पूछना है की अगर वह बच्चे हमें compare करें तो हमें कैसा लगेगा!!

 same जैसे हम बच्चों को compare कर रहे हैं बिल्कुल वैसे ही। यानी कि उसी स्कूल में जहां पर आपके बच्चे जाते हैं पढ़ने के लिए वहां पर एक बुक हो parents के लिए और आपको बोला जा रहा है रट लो इसको।

 आप गए वहां स्कूल पर साल में एक दिन और exam दे करके आए।

 आपके 100 में से number आ रहे 40, और बच्चे आपस में बात कर रहे हैं कि मेरे तो नाक कटवा दी मेरे बाप ने उनको देखो, और यह बात आपकी मुंह पर आकर बोल रहे हैं आपके बच्चे ने, यह क्या किया, यह spelling mistakes......

 और उसको एक step और आगे बढ़ाओ - हो सकता है आपके number कम आए, लेकिन किसी और के बहुत ज्यादा आये, क्योंकि वह तो रट्टो तोता है या तोती है, उसके आए 98%, parenting के subject में।

 वो तोता है वह actual में बिल्कुल बेकार parent है बस रट लिया है उस पूरी की पूरी किताब को, और आप एक बहुत ही अच्छे parent हो, मतलब parenting की जैसी quality होनी चाहिए, वह सब आपके अंदर है, लेकिन आपके number आए 40 यानी की fail.

 तो जिंदगी भर के लिए आपको एक खराब parent होने का title आपके नाम के आगे दे दिया जाएगा, आप अच्छे नहीं हो.........

 कैसा लगेगा आपको.......?? गुस्सा आएगा कि नहीं आएगा, frustration आएगा ना, ऐसे ही बच्चे भी हैं।

Don't Miss -

  1. Sandeep Maheshwari Thoughts - How To Stay Motivated All The Time
  2. Sandeep Maheshwari Motivational Speech - How to Learn From Everyone
  3. Sandeep Maheshwari Speech - Confident Body Language Tips in Hindi
  4. Sandeep Maheshwari Speech - 3 Best Easy Steps For Absolute Focus in Hindi

 एक एक बच्चे के अंदर क्या powers है, अगर आप अपने limited thoughts को छोड़ करके, अपना जो experiences है चिंदी सा, अपनी जो knowledge उसको छोड़ करके actual में उस बच्चे को देखो।

 हर बच्चे के अंदर कुछ कमाल कि चीजें होती है, और हम क्या कर रहे हैं उसको एक लिमिटेड दायरे में फंसा करके उसकी base पे उसकी जिंदगी भर के लिए उसके ऊपर थप्पा लगा रहे हैं। कि तेरे नंबर कम आए, इसका मतलब तू बेवकूफ है, उसके नंबर ज्यादा आए तो वह genius है।

 अरे genius का नम्बरों से क्या connection है......

 अगर इन सभी बात को अगर आप agree करते है तो आप भी एक कसम खा लो कि मैंने चाहे कुछ भी हो जाए मेरे बच्चों को किसी और के साथ compare नहीं करना है।

 अब यहां पर तो दो गलतियां हम करते हैं -
 या तो अपने बच्चों को चलने की झाड़ पर चढ़ाते हैं, इसको बोलते हैं flattery, या फिर उसको नीचे गिराते हैं, दोनों ही काम नहीं करने हैं।

Appreciation और flattery में फर्क आपको पता है -

 appreciation मतलब क्या - बच्चे ने कुछ अच्छा किया, हम appreciate कर रहे हैं, जितना किया उतना ही कर रहे हैं, और अगर उसने कुछ गलत किया तो अकेले में बैठ करके आराम से उसको समझाया, यह नहीं कि उसको बहुत बड़ा issue बना दिया।

 flattery मतलब मिथ्या-प्रशंसा - मतलब छोटी सी कारण के लिए अपने बच्चो से इतना ज्यादा attachment, किसी और के साथ compare करके अपने बच्चो को ही ऊपर उठा दिया, मेरे बच्चे ने तो 80% marks लेके आया उसको देखो सिर्फ 50% marks. और अगर ये आप बच्चो के सामने बातें कर रहे हो तो ये आप गलत कर रहे हो।

 ऐसा कुछ competition और comparison हम बच्चो के साथ अगर करते है तो ऐसे हम अपनी बच्चो को ही ज्ञान से दूर करते जा रहे है......, क्यूंकि competition के कारण जो ज्ञान मिलता है बच्चो को वो बेकार है, रट्टा मारके ही तो ज्ञान लेते है न.....

Competition और Comparison में difference क्या है ?

competition is comparison, competition मतलब race.

 race में कोई जीता और कोई हारा वह है comparison, जो जीता वो winner, जो हारा वो looser.

 तो जहां पर competition है, वहां पर comparison है, यानी बाहर की दुनिया में हर तरफ competition है तो comparison भी है।

 आप अपने बच्चों को compare ना करो, और यह तभी हो सकता है जो आप खुद अपने आप को किसी और से compare नहीं करते हो।

 जब आप खुद को किसी और से compare करना बंद न करोगे, तब आप अपने बच्चों को किसी और से करना बंद ही नहीं कर सकते।

 आपको ये बात समझ जाना चाहिए कि आप Unique हो, ऐसे ही मेरा बच्चा भी Unique है। अगर इतनी सी बात हम को पकड़ में आ जाए तो लाइफ बढ़िया हो जाएगी आपकी भी और आपके बच्चे की भी।


 तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Stop Comparing Kids को अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Comments

Popular posts from this blog

A Simple Step-by-Step Meditation Guide - Meditation कैसे करें | Thoughtinhindi.com

Meditation in Hindi- A Simple Meditation Guide and Benefits of Meditation in Hindi | Thoughtinhindi.Com

A Simple Step-by-Step Beginners Guide to SEO 2019-2020 | Thoughtinhindi.Com

Business Ideas in Hindi - 10 Easiest Formula बिज़नेस को आगे बढ़ाने के लिए | Thoughtinhindi.com

Popular posts from this blog

A Simple Step-by-Step Beginners Guide to SEO 2019-2020 | Thoughtinhindi.Com

Top 16 Chanakya Niti - Best Unique Quotes 2019 | Thoughtinhindi.com

A Simple Step-by-Step Meditation Guide - Meditation कैसे करें | Thoughtinhindi.com

Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - Be Fearless | Thoughtinhindi.com

Motivational Thoughts in Hindi - 3 Best Tips to Wake Up Early Morning | Thoughtinhindi.com

Best Business Ideas In Hindi - Start A Business Under 5000 Rupees in INDIA | Thoughtinhindi.com

Meditation in Hindi- A Simple Meditation Guide and Benefits of Meditation in Hindi | Thoughtinhindi.Com

A Simple Step-by-Step Detox Health Tips - अपने Body को Detox कैसे करें | Thoughtinhindi.com

Complete Book Summary/Review in Hindi - The Power of Habit | Thoughtinhindi.Com

Sandeep Maheshwari Speech - Top 10 Rules for Success | Thoughtinhindi.com