Personal Development Tips - Video Games अच्छा है या बुरा | Thoughtinhindi.com

Personal Development in Hindi - Video Games अच्छा है या बुरा। Hello दोस्तों, Video Games हमारे parents के लिए वह शैतान की छाया है, जो हमारी जिंदगियां बर्बाद कर रही है। बचपन से ही हमारे माता-पिता और even हमारे teachers हमें यह बताते आए हैं कि यह हमें real world से imaginary और fun world में जाते हैं।

 आपको यह भी बताए जाते हैं कि video games से आपकी आंखें खराब और आपकी दिमाग slow कर देते हैं। साथ ही साथ आप आलसी भी हो जाते हो, बिगड़ जाते हो और school में आपके कम marks आते हैं।

 तो यह सब सोच के naturally एक बच्चे के दिमाग में आएगा कि क्या video games सच में इतने बुरे होते हैं, जितना हमें बचपन से बताया जाता है, और ना खेलने की चेतावनी दी गई है।

 तो दोस्तों आज हम science की मदद से जानेंगे कि क्या video games सच में बुरे होते हैं या नहीं ?


Personal Development in Hindi - Video Games अच्छा है या बुरा

Personal Development in Hindi - Video Games अच्छा है या बुरा


 दोस्तों सबसे पहले आप यह बात जान लो कि जिंदगी में हर कोई चीज का excess हानिकारक होती है। अब फिर चाहे वह सेहत के लिए अच्छी चीज ही क्यों ना हो!

 अगर आप पूरा दिन सिर्फ चिप्स खा रहे हो और कोल्डड्रिंक्स पी कर video games खेल रहे हो। तो आप excess कि category में enter कर चुके हो,

 लेकिन modern research में पाया गया है कि जो लोग 1 - 1.5 hours video games खेलते हैं उनके दिमाग में ज्यादा ग्रे matter develop होता है, और उसकी overall संख्या दिमाग में बढ़ने लगती है।

 Gray matter का सीधा वास्ता आपके intelligence से होता है।

 South African neuroscientist De Fim De villiers के अनुसार video games खेलना हमारी दिमाग की special intelligent को improve करती है।

 Special intelligent वह किसम की intelligence होती है जो किसी भी object को एक बार देखने के बाद हमें उसे visualize करके analyze कर पाना संभव कराती है। इसी की मदद से हम 3 dimensional तरीके से प्रॉब्लम्स को solve भी कर सकते हैं।

 यह इसलिए possible है क्योंकि video games खेलते वक्त हम अपनी imagination, observation और हमारे reflexes को ज्यादा use करते हैं, और इसी practice से gamers के दिमाग में positive changes होने लगते हैं। बेहतर eye to hand coordination quick reflex action और छोटी-छोटी changes आने के बाद उनको spot करना यह सभी abilities भी आपकी games खेलकर improve होती है।

 कुछ studies में तो यह भी बताया गया था gamers, non-gamers की तुलना में driving जैसे motor न्यूरॉन्स की activities को बेहतर ढंग से perform कर सकते हैं।

 क्योंकि video games खेलने की वजह से उनके reflexes strong हो गए होते हैं। तो अगर आपको एक surgeon बनना है तो थोड़ा आप pubg भी खेलो यार, और सिर्फ surgeon ही नहीं बल्कि एक अच्छा rider, driver या even shooter बनना है तो भी आपको फायदा मिलेगा।

 आपने video games में car चलाई है और बहुत बार head shoot लगाए हुए होंगे। तो बेहतर eye to coordination, quick thinking और reflex action की वजह से आप non-gamers के मुकाबले इन्हीं activities का एक रियल लाइफ version जल्दी सीख सकते हो।

 कुछ researchers का तो यहां तक यह भी दावा है कि video action games job related skills, बच्चों में complex और difficult task और बूढ़े लोगों में mental health decline को रोकने के लिए एक therapy की तरह काम करते हैं।

 अब एक और चौंकाने वाली बात यह है कि video games खेलने की benefits medical science जैसे गीक की category पाए गए हैं। Researchers के अनुसार जो भी doctor/surgeon gamers है उनकी surgery skill काफी accurate है और वह surgery के दौरान काफी कम गलतियां करते हैं।

For example - laparoscopic surgery में शरीर के अंदर devices जैसे camera remote control tools द्वारा control करके surgery की जाती है।

 जो surgeons gamers भी होते हैं उनका बेहतर eye to hand coordination देखा गया। जिसके वजह से वह internal surgery को अच्छे से menuover और control कर पा रहे थे।

अब यह भी एक myth है कि video games खेलने से हमारी eyesight weak होती है, बल्कि researchers ने ठीक उसका विपरीत पाया है और moderately games खेला जाए तो वो eyesight को actually में improve करती है।

 लगातार खेलने से eyes में स्ट्रेंज जरूर आ जाता है, लेकिन अभी तक video games की वजह से eyes weak होने का लिंक या फिर scientific प्रमाण हमें नहीं मिला है।

 Eyesight weak होने के बहुत से कारण होते हैं, लेकिन surprisingly studies में पाया गया है कि moderate video games खेलना इनमें से एक कारण नहीं है। बल्कि games से brain visual information को और भी ज्यादा जल्दी process करता है।

 तो in short दिमाग slow नहीं होता बल्कि fast होता है। इसके अलावा हमारी आंखों की colors की बारीकियों को differentiate करने की खूबी भी  पाई गई। scientifically brain scans में देखा गया है कि video games खेलने से हमारे brain की 3 parts positively effect होते हैं।

 और इन्हीं से हमारा logical intelligence भी improve होता है। logical इंटेलिजेंस यानी information A और information B को logically connect करना और इनकी मदद से information C को निकालना।

 यह बदलाव हमें parietal lobe, frontal lobe, और anterior cingulate lobe में देखने मिले। anterior cingulate lobe ही आपकी attention की control करता है, जिससे games पर concentrate बना रहता है। pubg, clash of clans, dota 2 खेलने वाले players multiple task एक साथ भी handle करते हैं, और एक task से दूसरी task में आसानी से switch हो जाते हैं, बिल्कुल strong concentration के साथ और यह भी एक बहुत ही important ability है।


Conclusion:

 अब दोस्तों finally एक बहुत ही important चीज जिसे हर कोई miss कर देता है कि learning के काफी सारी तरीके हैं, उनमें दो मुख्य तरीके हैं। एक तो traditional तरीका जो हमें हमारे books, teachers, internet etc. द्वारा read करके हासिल होती है। यह तरीका अधिकतर लोग use करते हैं, लेकिन प्रॉब्लम यह है कि यह passive है।

 फिर आता है दूसरा और नया तरीका जो practical sides है और जिसे हम learning by actual doing कहते हैं। अगर आपको swimming, guitar etc. सीखना है तो यूट्यूब में वीडियोस देखकर सीखना अलग बात है, और उसको practically खुद करके, actual experience करके सीखना अलग बात है।

 तो strategic action games भी possibly एक तरीका हो सकता है learning by actual doing का ! क्योंकि इन games में हम planning, decision making, targets पर focus करना और दूसरे leaderships skills का use करना सीखते हैं।

 लेकिन बस इन्हीं games जैसे pubg का side effect यह भी है कि यह addictive होते हैं, और यहीं पर एक irresponsible इंसान फिसल सकता है अगर सही तरीके से और moderately खेलो, जैसे life में हर कोई भी चीज आप करते हो तो entertainment के साथ हमारे skills को भी हम improve कर सकते हैं।

 लेकिन यह भी याद रखिये के games के बाहर भी एक दुनिया हैं जो हमारे लिए और भी ज्यादा महत्व रखती है और stress relief के साथ उसी में आगे बढ़ने के साथ तो आप games खेल रहे हो बस सोचिये अगर आपको सिर्फ Games में जीत कर इतनी खुशी होती है, तो Real Life की Games में जीत कर कितनी होगी !!!!!

 इस खुशी के साथ आपका self-esteem भी बढ़ेगा, और आप समाज के लिए योगदान भी दे पाओगे। आप 1 दिन में कितने घंटे video games खेलते हो यह आप नीचे कमेंट करके जरूर बताना।

 तो दोस्तों आपको आज का हमारा ये "Personal Development in Hindi - Video Games अच्छा है या बुरा" कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस "Personal Development in Hindi - Video Games अच्छा है या बुरा" को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Post a Comment

0 Comments