Cache Memory क्या है ? What is Cache Memory? Detail Explained in Hindi | Thoughtinhindi.com

Cache Memory क्या है ? What is Cache Memory?


cache memory

 दोस्तो आखिर Cache Memory होती क्या है ? अगर आप किसी भी कंप्यूटर में देखोगे तो आपको types of memory in computer मतलब कितने देखने को मिलेगा - तो देखिये आपकी computer में तीन तरह की memory लगी होती है मतलब computer memory -
  •  पहला जो हम Normal Storage के लिए use करते है जो आपकी Hard Disk Drive होती है,
  •  दूसरा जो आपकी Ram होती है, 
  •  तीसरा है Cache Memory.

Cache Memory क्या है ? definition :-

 Cache memory सबसे fast होती है लेकिन सबसे कम होती है capacity में, अब cache memory तीन types की होती है -
  •  L1(level 1),
  •  L2(level 2),
  •  L3(level 3); 

 आपका जो processor होता है - dual core होगा, quad core होगा, octa core होगा etc. तो देखिये हर एक core की दो जो memories होती है वो separate होती है - level 1, level 2 और level 3  जो cache होती है वो ज्यादा तर ऐसा देखते है जो बाकी सभी जो core है वो सब share करती है।



intel cache memory


  • यहाँ आपस में L1 (level 1) जो cache memory होती है वो सबसे तेज होती है, वो processor के अंदर ही लगी होती है, अंदर ही बनी होती है basically वो storage,
  • L2 (level 2) cache memory अंदर भी हो सकती है और या फिर वो processor के नज़दीक के दूसरी separate IC पे होगी लेकिन processor और उस IC के बीच में एक high speed bus होगी जिससे directly processor काफी तेजी से उसको access कर पायेगा,
  • L3 (level 3) cache एक separate memory होती है जो की RAM से करीब करीब double speed की होती है लेकिन वो memory सभी cores के बीच में  share होती है,

Cache Memory क्या है ? - अब आप cache की types को तो समझ गए होंगे अब हम ये जानते है की cache memory काम में क्यों आती है,
 for example -

office work मान लीजिये आप एक office पे काम कर रहे है और आप अपनी desk पे कुछ काम कर रहे है जो back office से वहा पे सारी की सारी files रखी है, जिनपे भी आपको काम करना होता है वो तो हो गयी आपकी hard drive जो आपकी desk है वो आपकी RAM, जब भी आपको कोई काम करना पड़ता है आप उठके जाते है या फिर peon को आप call करते है और peon आपको अंदर से जाके वो आपकी जरुरत की files लेके आ जाता है और आप अपनी desk पे रख के आप अपनी काम कर लेते है,

 अब आपकी desk जितनी बढ़ी होगी आप उतनी ज्यादा files एक साथ मई रख के काम कर पायेंगे, वो तो आप RAM वाला example समझ गए है, आपकी जो drawers है उस desk में आप मान लीजिये की वो cache memory है वो छोटी है, लेकिन वो easily accessible है आपकी एकदम reach में है आपने drawer खोला अपने काम का सामान निकाला और अपने काम कर लिया अब उन drawers पे आप वो सामान रखते है जिनकी आपको सबसे ज्यादा जरुरत होती है दिन के अंदर चाहे वो stepler हो, stamp हो, चाहे वो important documents हो, तो वो जो drawers है वो है आपकी cache memory, इसी तरीके से computer में भी क्या होता है जो आपका CPU है उसको बहुत सारा instructions का use करना परता है और उसको तो बहुत सारा data को read/write करना परता है, तो cache memory वो सभी frequently used जिनके बार बार जरुरत परती रहती है वैसे data को अपने पास stored रखी है।


 अब computer को जब कोई instruction execute करना हो तो वो RAM तक नहीं जायेगा, वो RAM से data fatch नहीं करेगा, उससे पहले वो cache में try करेगा अगर उसको cache memory में मिल जाते है तो वो process बहुत ज्यादा fast हो जाती है, वो वही से ही instruction pick करके उसको execute कर सकता है, वो वही से read/write commands दे सकते है, तो cache memory बहुत ज्यादा help करती है processors को तेजी से काम करने में।

 लेकिन कभी कभी क्या होता है की जब एक important चीज़ चाहिए हो और सोचा हो ऐसा की हमारे drawer में होगी मतलब हमारी cache memory में होगी लेकिन अगर वो हमे वहा पे न मिले उस time पे ऐसे में हमे delay का सामना भी करना परता है जिसको हम बोलते है 'Cache Latency'.

 यानि की अगर आपकी computer ने सोचा हो की ये file मैं यहाँ से ले लूँगा और उसके लिए उसे request भेजी की वो cache से file उसके पास तक आ जाये लेकिन cache 
में वो file नहीं है इसके बाद में फिर वो RAM में  जाएगी या hard drive से access होगी वो एक अलग बात है, तो इसको हम बोलते है cache latency.


all intel processors
 ज्यादा तर जो processors आपको देखने को मिलते है i3 हो, i5 हो, i7 हो, i9 हो या फिर intel xeon हो वगैरह वगैरह, इन सभी में आपको 2 mb, 3 mb, 6 mb, 8 mb, 12 mb, 16 mb तक की cache मिलती है अब आप सोच रहे होंगे की 2 mb, 3 mb, 6 mb, 8 mb, 12 mb या 16 mb तो बहुत ही एक छोटा size है लेकिन एक cache memory के लिए वो बहुत बहुत ज्यादा है उस 12 mb में या 16 mb में वो बहुत सारे ऐसे instruction store कर सकते है, बहुत सारे ऐसे read/write commands जो होते है वो store कर सकते है, बहुत सारे important files जो एकदम जल्दी जल्दी चाहिए होता है CPU को उनको stored करके जो process है आपकी accessing की वो काफी easy बना देते है।


 दोस्तों अब आप confused हो रहे होंगे की जो android phone में जो cache memory होती है वो क्या होती है, देखिये जो में आपसे अभी तक बात कर रहा था वो तो था processor की cache memory की, ये आपकी phone में भी मिलता है आपको देखने को, लेकिन जो आपके phone के जो software में दिखाता है cache memory वो एक अलग चीज़ हैवो वो चीज़ है जो आपकी कोई भी applications या आपकी mobile phone ने किसी भी application के through किसी भी data को temporary आपकी phone में save करके रखा है।


Cache Memory क्या है और कहाँ काम आता है ? for example -

 आप Google maps का use करते है और आपने अपनी city में जगह जगह पे आपने zoom in / zoom out किया हुआ है या आपने उनको access किया हुआ  locations को,

 तो वो जो locations आपने access की है वो temporarily आपके phone में as a cache file store हो जाती है,

 इसका मतलब ये है की जब आप अगली बार वापस से उसी locations पे जाते है और थोड़ा zoom करते है तो आपको data consume नहीं होता है आपके internet का,

 क्यूंकि temporary google maps ने automatically आपके phone में store करि हुई थी तो उसको सीधा वही से उसको access करके और आपको easily जो है rendering कर देता है।


 तो इसी तरीके से बहुत सारी अलग अलग applications है जो अपनी temporary files जिनको आप ज्यादा ज्यादा उसे करते है बार बार या जिनको आपने use किया होता है पहले वो उन सभी को आपके cache memory में store रखती है जिसकी मदद से आप आगे चलके इनको तेजी से access कर सकते है, लेकिन कभी कभी ये memory ज्यादा पर जाती है ऐसे में हमको cache clear भी करनी परती है।


clear cache memory
 तो वो आपने देखा होगा की जब आपको कोई भी application open किया होगा तो उसके अंदर cache का एक option होता है तो आप cache को clear कर सकते है, तो जो temporary files जो होती है उसके अंदर वो clear हो जाती है अगर आप data clear करते है तो उस application का जितना भी data है वो clear हो जायेगा, जो आपकी user details है या जो आपकी settings वगैरह है वो सब, तो ये जो है ये android phone में cache के बारे में है।


Don't Miss -

  1. Gaming PC vs Gaming Console Which One is For You
  2. What is 3D touch_3D Touch Explained in Detail_How It Is Works | Hindi
  3. What is 3D Scanning, 3D Printing Explained in Details | Hindi
  4. What is 4K_4K Technology Explained in Hindi

 दोस्तों मुझे उम्मीद है की इस Article (Cache Memory क्या है ?_Detail Explained in Hindi
) को पढ़ने के बाद आप cache memory के बारे में अच्छे से जान गए होंगे, अब आपको ये देखना है की जब आप एक नया computer लेते है तो आपको उसमें cache memory कितनी मिल रही है।

 हालांकि आपको ये नहीं पता चलेगा की 3 mb अच्छी है आपके लिए या 6 mb अच्छी है या 12 mb अच्छी है या फिर 16 mb. जो latest है वो अच्छी होगी, इसका मतलब ये है की जितनी ज्यादा होगी cache memory उतनी अच्छी होगी क्यूंकि इसको आप बाद में upgrade नहीं कर सकते RAM या फिर hard drive की तरह।

 दोस्तों इस Article (Cache Memory क्या है ?_Detail Explained in Hindi) को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Post a Comment

0 Comments