HDD vs SSD vs SSHD में क्या अंतर है ? Explained in Details | Hindi | Thoughtinhindi.com

HDD vs SSD vs SSHD में क्या अंतर है ? HDD vs SSD vs SSHD Detail Explained in Hindi


HDD_vs_SSD_vs_SSHD_Detail_Explained_in_Hindi

 जब भी आप एक नया laptop ये एक नया computer purchase करते है तो storage के मामले में आपके दिमाग में confusion चल रहा होता है की ssd vs hdd, अभी दोनों क्या है इनमे क्या differences है किससे क्या फायदा है और क्या नुकसान है सभी के बारे में आज आपको बताऊंगा। 


HDD क्या है ?

 सबसे पहले हम बात करते है Hard Disk Drive (HDD) की, तो hard disk drive एक traditional storage device है जिसको हम पिछले काफी सालो से use कर रहे है और hard disk drive एक mechanical device है यानि की उसमें moving parts लगे होते है।

 आपने अक्सर सुना होगा hard disk drive की specifications में 5400 rpm या 7200 rpm तो basically उसके अंदर एक revolving head होता है जो बहुत ही तेजी से revolve करता है, जितनी rpm आपकी specification में है उतनी rpm पे वो move कर सकता है और वो move करके बहुत सारे platters होते है उसकी across वो data को access करता है। 


hdd


 अब बात करते है hard drive की कुछ advantages और disadvantages की तो 

उनकी advantages जो है -


  • पहला तो ये है की hard drive बहुत ही cheap है,
  •  दूसरा ये है की काफी बड़ी capacity में मिल जाती है, आपको 320GB, 500GB, 1 TB,से ले करके 6 TB, 8 TB तक की भी hard drive easily मिल जाएगी,
  •  तीसरा ये की easily सभी जगहों पर available है ऐसा कुछ नहीं है की आपको एक specific जगह पर जाना पड़ेगा उसको purchase करने के लिए, market में easily आप कोई भी hard drive आराम से ले सकते है।



 अब हम बात करते है की थोड़े disadvantages की -

  • एक तो ये है की क्यूंकि ये एक mechanical device है इसलिए खराब होने के chances बहुत ज्यादा है और पाँच, छह सालों के अंदर अंदर लेकिन वो depand करता है आपके uses पे वरना hard drive आपकी corrupt हो सकता है, hard drive fail हो सकती है, तो ये जो है पाँच, छह साल normal use के अंदर ऐसा दिखने को मिल सकता है।
  • दूसरा disadvantage ये है की अगर कोई भी उसकी mechanical damage अगर होगा तो आपकी hard drive को बिलकुल crash होने के chances है, मान लीजिये आपके हाथ से गिर गए या आपकी hard drive अगर portable है वो running state में आपकी हाथ से नीचे गिर गयी या बिना running भी अगर नीचे गिर गयी तो वो एकदम corrupt हो सकती है, fail हो सकती है और आपका जो data है वो उसके अंदर waste हो सकता है।
  • तीसरा जो disadvantages है वो है speed का क्यूंकि ये एक mechanical device है तो आप कुछ भी data access करते है तो उसमें आपको ये बार बार move करेगा तो आपको जो है इसके अंदर speed काफी कम मिलेगी आपको जितनी ज्यादा speed देखने को नहीं मिलती है।
  • चौथा disadvantage ये है की क्यूंकि एक mechanical device है इसमें एक moving parts लगा होता है ये move करते है थोड़ी bulky है size में तो इसका जो power consumption है वो भी ज्यादा होता है।


SSD क्या है - ssd vs hdd

 SSD को हम बोलते है Solid State Drive - ssd full form, solid state drive का मतलब ये है की ये एक solid state में है इसमें कोई moving parts नहीं है ये एक flash base storage है जिस तरीके से RAM वगैरह बनती है उसी तरीके से flash की मदद से ये storage जो है बनाई जाती है, कुछ लोग बोलते है ssd drive, और कुछ तो बोलते है इसको ssd hard drive, लेकिन  इसका simple सा नाम यही है  - solid state drive .


SSD के अगर हम advantages और disadvantages की बात करे तो

Advantages है -


  • सबसे ज्यादा बड़ा फयदा मतलब advantage तो ये है इसकी जो speed है वो एक normal hard drive से कोई गुना तेज़ है बहुत बहुत अच्छी आपको performance मिलती है, 
  • दूसरी advantage ये है की ये impact resistant है, अगर आपकी SSD नीचे गिर भी जाये या आपकी laptop में SSD है वो अगर गिर जाये तो ये काफी हद तक आपकी data ख़राब होने से बचा लेती है, 
  • तीसरी जो advantage है वो है की power consumption बहुत बहुत कम है
  • चौथा जो advantage है वो ये है की इसकी जो life है वो बहुत ज्यादा लम्बी है क्यूंकि कोई moving parts इसके अंदर नहीं है तो as it is जो आपको देखने को मिलता है वैसी इसकी life आपको आगे भी मिल जाती है .
मतलब आपको hdd to ssd पर आपकी storage device को ले ही जाना है और या फिर आपको एक नया लैपटॉप purchase करते टाइम इसको ध्यान रखना चाहिए।
     अगर हम SSD की disadvantages की बात करे तो कुछ disadvantages SSD में भी है,


    • पहला तो ये है की इसकी price मतलब cost बहुत ज्यादा है, एक normal hard drive की comparison में जो कीमत है वो बहुत बहुत ज्यादा है SSD की, 
    • दूसरा disadvantage ये है की आपको जो storage capacity मिलती है वो आपको एक normal hard drive की जितनी नहीं मिल पाती है क्यूंकि अभी ये एक नयी technology है काफी costly है, तो इसलिए अगर में आपको बोलूंगी की 4TB या 5TB के SSD तो rarely भी आपको तो नहीं मिलेगी, अभी market में है भी नहीं और जब होगी तब भी बहुत ज्यादा costly होगी और rarely available होगी, तो अगर आप एक normal SSD लेना चाहते है तो आपको 256 GB या 512 GB या 1 TB तक की easily मिल सकती है लेकिन वो भी बहुत ज्यादा costly होगी। 
     फिर एक नाम आपने सुनी होगी SSHD तो देखिये - sshd vs hdd या फिर sshd vs ssd.


    SSHD क्या है:


    solid state hard drive

     ये आपको कुछ नया laptops में देखने को मिलेगा जिसमें क्या होता है की वो ये बोलते है की 1TB की hard drive है और साथ में 24 GB या कुछ 8GB की या 16GB के आपकी SSHD लगी है, तो उसमें क्या होता है की जो आपका operating system(OS) है उसको वो SSHD में install कर देता है।

     जिससे जब आप अपना computer ON करते है या restart करते है तो आपका जो OS है वो बहुत जल्दी load हो जाता है, बहुत जल्दी आपका system boot हो जाता है और normal जो आपकी जितने भी files है, programmes वगैरह जो है वो hard drive में stored करते है।

     तो अगर आप एक नया laptop लेना चाहते है या अगर आप अपने पुराने system को upgrade करना चाहते है तो आप अपने laptop में या desktop में अगर सिर्फ एक SSD को upgrade कर लिए तो आपका system जो है वो बहुत अच्छा perform करेगा क्यूंकि जो डाटा है, जो उसकी speed होगी processor तक पहुँचने की, वो बहुत ज्यादा तेज हो जाएगी और आपके जो programmes है - अगर आप कोई भी program open करते है तो बहुत ही तेजी से open होगी और आपको performance बहुत अच्छी दीखने को मिलेगी।



    external hard drive
     तो आप SSD में सारि programmes install करके रख सकते है और बाकि जितनी photos, audio, videos वगैरह है वो आप एक external hard drive में रख सकते है, जब आपका मन किया तो वो laptop में connect करके देख लिया, तो आपको आपकी laptop या desktop की performance बहुत ही अच्छा दिखनेको मिलेगी।

     उसकी वजह से जो आज-कल जितने भी laptop है वो एकदम slim हो गया है, आज कल जितनी SSD वाले laptops आते है वो एकदम slim आते है, weight कम करने के लिए, size कम करने के लिए SSD का use करते है उससे performance भी बढ़ती है, आप अपना जितना भी media files, photos वगैरह है वो आप portable hard drive 1 TB, 2 TB या 3 TB तक की लेके आप आराम से उसमें stored कर सकते है, तो ऐसी कोई दिक्कत नहीं है की 256GB के अगर आपके पास में SSD है तो उसमें आपको कोई storage की कमी आएगी या ऐसा कुछ problem आएगी।  - यही थी basic theoretical knowledge HDD, SSD और SSHD की


    Don't Miss -

    1. Gaming PC vs Gaming Console Which One is For You
    2. What is 3D touch_3D Touch Explained in Detail_How It Is Works | Hindi
    3. What is 3D Scanning, 3D Printing Explained in Details | Hindi
    4. What is 4K_4K Technology Explained in Hindi
    5. Cache Memory क्या है ?_Detail Explained in Hindi

    आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

    Wish You All The Very Best.

    Post a Comment

    0 Comments