शुक्रवार

Epic Content Marketing Book Summary in Hindi by Joe Pulizzi - कंटेंट मार्केटिंग सीखने के लिए बढ़िया बुक

  Rocktim Borua       शुक्रवार
Epic Content Marketing: How to Tell a Different Story, Break through the Clutter, and Win More Customers by Marketing Less Book Summary in Hindi. Hello दोस्तों, एपिक कंटेंट मार्केटिंग (Epic Content Marketing) में हम देखेंगे कि किस तरह से आप कंटेंट मार्केटिंग कर सकते हैं।

 यह किताब हमें बताती है कि कंटेंट मार्केटिंग का मकसद क्या है, यह क्यों आपके लिए जरूरी है और किस तरह से आप इसे कर के बेहतर नतीजे पा सकते हैं।

 साथ ही यह किताब आपको उन टूल्स के बारे में भी बताती है जिसे इस्तेमाल कर के आप आसानी से कंटेंट मार्केटिंग कर सकते हैं।

यह बुक समरी किसके लिए है -

-वे जो एक मार्केटर हैं।
-वे जो एक बिजनेस चलाते हैं और अपने ब्रांड को मार्केट करने के
तरीके जानना चाहते हैं।
-वे जो कंटेंट मार्केटिंग के बारे में जानना चाहते हैं।

लेखक जो पुलिज़ी (Joe Pulizzi) एक कंटेंट मार्केटिंग एक्सपर्ट, स्पीकर,
लेखक और आन्त्रप्रीन्योर हैं। वे अपनी कंटेंट मार्केटिंग की किताबों
के लिए जाने जाते हैं।

 दुनिया में आज शोर बढ़ रहा है। हर कोई आज अपने बेसमेंट में बैठकर नए प्रोडक्ट डिजाइन कर रहा है और उसकी मार्केटिंग कर रहा है। हमारे आस पास इतनी ज्यादा जानकारी हो गई है कि हम उसे इस तरह से अनदेखा करते हैं जैसे हम पार्क में घूमते वक्त घास को अनदेखा करते हैं। वो हर जगह फैली है, लेकिन हमारा ध्यान उसपर कम जाता है।

 अच्छी बात यह है कि आप घास नहीं हैं और इसलिए आप खुद को भीड़ से अलग करने के लिए कुछ कर सकते हैं। यह किताब हमें बताती है कि किस तरह से आप कंटेंट मार्केटिंग का इस्तेमाल कर के लोगों तक अपनी बात
को पहुंचा सकते हैं। यह किताब हमें बताती है कि कंटेंट मार्केटिंग के मकसद क्या क्या हो सकते हैं, किस तरह से आप अपनी कंटेंट मार्केटिंग टीम तैयार कर सकते हैं और किन टूल्स का इस्तेमाल कर के आप अच्छे नतीजे पा सकते हैं।


 इस समरी को पढ़कर आप सीख सकते हैं -

-कंटेंट मार्केटिंग के क्या फायदे होते हैं।
-आपकी कंटेंट मार्केटिंग टीम में कितने लोग होने चाहिए।
-किस तरह से आप अपनी वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ा सकते हैं।



Epic Content Marketing Book Summary in Hindi by Joe Pulizzi - कंटेंट मार्केटिंग सीखने के लिए बढ़िया बुक



Epic Content Marketing Book Summary in Hindi by Joe Pulizzi - मार्केटिंग सीखने के लिए बढ़िया बुक




कंटेंट मार्केटिंग की मदद से आप अपने ग्राहकों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकते हैं


 आज इंटरनेट पर बहुत से लोग अपना प्रोडक्ट बेचने में लगे हुए हैं। वे यह सोचते हैं कि प्रोडक्ट में अच्छे फीचर्स होने से उनका प्रोडक्ट बिकने लगेगा। लेकिन वे एक बात भूल जाते हैं कि आज के वक्त में हमारे आस पास इतने सारे प्रोडक्ट और इतने सारे एड्स हैं कि हम उनमें से ज्यादातर चीजों को
अनदेखा कर देते हैं।

 मार्केटिंग का सबसे पहला नियम यह है कि आपके ग्राहकों को कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके प्रोडक्ट में क्या खासियत हैं। उन्हें बस इससे फर्क पड़ता है कि वो प्रोडक्ट उनकी जिन्दगी को कितना आसान या मजेदार बना सकता है। अगर आप चाहते हैं कि आप इस भीड़ को चीर कर अपने
ग्राहक तक पहुंच सकें, तो आपको कंटेंट मार्केटिंग का सहारा लेना होगा।

 कंटेंट मार्केटिंग का मतलब है अपने ग्राहकों को वो जानकारी देना जिसकी उन्हें तलाश है। इसका मतलब है अपने ग्राहकों को अच्छी सर्विस देना, ताकि वे खुद इस बात को समझ जाएं कि आप से उन्हें फायदा हो रहा है। इससे आप सबसे पहले अपने ग्राहकों का भरोसा जीतते हैं और उसके बाद उन्हें अपना प्रोडक्ट बेचते हैं।

 एक्जाम्पल के लिए डीयरी एन्ड कंपनी को ले लीजिए, जो कि किसानों के लिए एक "द फरो" (The Furrow) नाम का पब्लिकेशन निकालता है। इस कैटालाग में वो किसानों को नई टेक्नोलॉजी के बारे में बताता है और उन्हें
यह भी सिखाता है कि किस तरह से वे उसे इस्तेमाल करके फायदा पा सकते हैं। इस तरह से अच्छी सलाह देकर वो अपने प्रोडक्ट की डिमान्ड को भी बढ़ा देता है।

 कंटेंट मार्केटिंग के जरिए आप लोगों का भरोसा जीतते हैं, भीड़ भरी जगह में उनका ध्यान खींचते हैं और साथ ही उनमें अपने प्रोडक्ट की माँग पैदा कर के अपने बिजनेस को ऊपर ले जाते हैं। लम्बे समय में यह एडवर्टाइजिंग के मुकाबले आपको बहुत सस्ता पड़ता है।



कंटेंट मार्केटिंग 3 तरह से की जा सकती है और इसके 3 गोल हो सकते


 इससे पहले आप कंटेंट मार्केटिंग करने के लिए जाएं, आपको यह पता होना चाहिए कि आप उससे हासिल क्या करना चाहते हैं। इसके 3 लेवेल हो सकते हैं और हर लेवेल का अपना काम होता है। सबसे नीचे आता है कंटेंट अवेयर होना, जिसका मतलब है कि आप अपने कंटेंट के जरिए लोगों तक पहुंच कर उन्हें अपने बारे में बताना चाहते हैं। आप उन्हें यह बताना चाहते
हैं कि आप भी मार्केट में हैं और आपके भी अपने प्रोडक्ट हैं। इस तरह की मार्केटिंग के जरिए लोग आपको जानने लगते हैं, वे आपका कंटेंट पढ़ते हैं और फिर वे आपके प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने लगते हैं।

 लेकिन अगर आपको सिर्फ अपने बारे में बताने के अलावा भी कुछ करना है, तो आप एक थाट लीडर (thought leader) बन सकते हैं। इसका मतलब है कि आप सिर्फ अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए नहीं, बल्कि एक मकसद के लिए मार्केटिंग कर रहे हैं जो कि आपके प्रोडक्ट
का हिस्सा नहीं है।

 बिल गेट्स अक्सर इस तरह की मार्केटिंग कर के समाज
को एक संदेश देने की कोशिश करते हैं। एक्जाम्पल के लिए एक बार उन्होंने एक पूरे सेमिनार हाल में मच्छर से भरा एक जार खोल दिया था। इसके जरिए वे यह दिखाना चाहते थे कि एफ्रिका के देश के लोग किस तरह के हालात में रहते हैं। ऐसा कर के वे पैसा कमाना नहीं चाहते थे, बल्कि वे एफ्रिका में मलेरिया को खत्म करने के अपने मकसद को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे थे।

 मार्केटिंग करने की तीसरी वजह है अपनी कहानी को लोगों तक पहुंचाना। आप ने कुछ कामयाब लोगों को देखा होगा जो कि अपनी कहानी के लिए बहुत फेमस हैं। साथ ही वे अपनी कहानी का इस्तेमाल अक्सर करते रहते हैं।

 एक्जाम्पल के लिए नरेन्द्र मोदी को ले लीजिए, जिनकी रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने की कहानी फेमस है। इस कहानी का इस्तेमाल कर के वे लोगों को यह बताते हैं कि उन्होंने गरीबी देखी है और इसलिए वे उसे खत्म करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

 दूसरी तरफ दूसरी पार्टियों के लीडर्स के पास इस तरह की कहानी नहीं है, जिस वजह से वे जनता के साथ एक रिश्ता नहीं बना पा रहे। और इसका नतीजा हम सभी देख रहे हैं।



अपनी आडिएंस को जानिए और उनकी पसंद के हिसाब से कंटेंट पैदा कीजिए


 आप मार्केटिंग कर के कुछ खास तरह के लोगों को अपना ग्राहक बनाने की कोशिश करते हैं। हर कोई आपका प्रोडक्ट इस्तेमाल नहीं करेगा। अगर आप एक रीयल एस्टेट एजेंट हैं, तो आपके ग्राहक वो लोग हैं जो कि रीयल एस्टेट से जुड़े हैं और जिनके पास पैसा है। साथ ही इस तरह के लोग उम्र में 40 साल से बड़े होंगे और इनका एक परिवार होगा।

 अब अगर आप इस तरह के लोगों के लिए कंटेंट लिख रहे हैं तो आपको वो लिखना होगा जो इन्हें पसंद आए। आपको यह जानना होगा कि जो व्यक्ति आपका प्रोडक्ट इस्तेमाल करेगा, उसके दिमाग में एक दिन में किस तरह के खयाल आते हैं।

 आपको यह जानना होगा कि वो किस तरह के ख्वाब देखता है, किस तरह के लोगों के साथ रहता है, कितना पैसा कमाता है और आपका प्रोडक्ट क्यों खरीदना चाहेगा। इस तरह से अपनी आडिएंस को जानकर आप उन्हें वो दे
पाएंगे जिसमें उन्हें दिलचस्पी है। इससे वे आपके पास बार बार आते रहेंगे क्योंकि आप उनकी जरुरतों को पूरा कर रहे हैं। साथ ही, जब आप यह समझने लगेंगे कि यह लोग आपका प्रोडक्ट क्यों इस्तेमाल करेंगे, तो आप उन्हें अपने प्रोडक्ट को खरीदने की बेहतर वजह दे सकते हैं। उनके दिमाग में चल रही बातें उनसे कीजिए और आप उनका दिल जीत लेंगे।



Don't Miss -

  1. The Subtle Art of Not Giving A F*ck Book Summary in Hindi
  2. The Power Of Your Subconscious Mind Best Book Summary In Hindi
  3. Bouncing Back Book Summary In Hindi
  4. How To Stop Worrying and Start Living Hindi Book Summary in Hindi


अपने कंटेंट को बेहतर बनाने के लिए आपको एक अच्छी टीम तैयार करनी होगी


 एक बिजनेस में बहुत से काम होते हैं। उस काम का एक हिस्सा होता है मार्केटिंग करना, और मार्केटिंग का एक हिस्सा होता है कंटेंट बनाना। इसलिए आप शायद यह सारे काम अकेले ना कर पाएं और आपको इसके लिए एक टीम की जरूरत होगी।

 इस टीम में कम से कम तीन लोग होने चाहिए। सबसे पहला व्यक्ति होगा चीफ कंटेंट आफिसर। यह व्यक्ति पूरी मार्केटिंग की देख-रेख करेगा और उस मार्केटिंग को कंपनी के मकसद के साथ जोड़कर रखेगा। उसका काम होगा यह देखना कि कंपनी जो हासिल करना चाहती है उसके हिसाब से मार्केटिंग की जा रही है या नहीं। यह व्यक्ति थोड़ा जर्नलिस्ट टाइप का होना चाहिए, जिसके पास एमबीए की डिग्री हो। साथ ही, इसे अलग अलग तरह के मार्केट के हिसाब से कंटेंट बनाना आना चाहिए और अगर कोई गलती हो जाए, तो उसे सुधारना भी आना चाहिए।

 इसके बाद आपको जरूरत होगी एक मैनेजिंग एडिटर की जो कि आपके कंटेंट को आपकी कंपनी के मैसेज के हिसाब से क्राफ्ट करेगा। इस व्यक्ति का काम होगा समय से कंटेंट को लाना, लिखे गए कंटेंट को एडिट कर के उसे इस तरह से लोगों के सामने रखना जिससे लोग कंपनी के साथ जुड़ पाएं। साथ ही यह व्यक्ति कंटेंट को सर्च इंजन के हिसाब से लिखने का काम करता है ताकि उसे अच्छी रैंकिंग मिले।

 अंत में आता है आपका लिसनिंग आफिसर। इस व्यक्ति का काम होता है यह देखना कि मार्केटिंग का क्या असर हो रहा है। यह व्यक्ति लाइक्स, कमेंट्स और शेयर्स को देखता है और लोगों के सवालों का जवाब देता है। इस व्यक्ति का काम नतीजों को देखकर यह पता लगाना होता है कि उन
नतीजों से कंपनी को फायदा हो रहा है या नहीं। इन सबके अलावा आपको एक कैलेंडर की भी जरूरत होगी जिससे आपको यह पता रहे कि कब आपको अगला कंटेंट अपलोड करना है। इस कैलेंडर में एक लिस्ट होती है जो कि आपको यह बताती है कि इस समय आपके लिए क्या जरूरी है। हो सकता है आपके कुछ पुराने कंटेंट हों जिसे अपडेट करने की जरुरत हो। इस तरह की जरुरी चीजों को यह कैलेंडर एक साथ रखता है ताकि आपको
यह पता लग सके कि इस समय आपके लिए सबसे जरूरी क्या है।



कुछ खास तरीकों का इस्तेमाल कर के आप अपने कंटेंट को ज्यादा लोगों तक पहुंचा सकते हैं


 अब जब आपको यह पता लग गया है कि किस तरह से आप कंटेंट मार्केटिंग कर सकते हैं, तो वक्त आ गया है यह जानने का कि किस तरह से आप ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सकते हैं। इसके लिए आपको सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना होगा, लेकिन आपको यह तय करना
होगा कि कौन सा प्लैटफार्म आपके लिए अच्छा होगा। एक्ज़ाम्पल के लिए अगर आप ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचना चाहते हैं, तो आप फेसबुक को चुन सकते हैं।

 लेकिन अगर आप सिर्फ कुछ खास लोगों तक पहुंचना चाहते हैं तो आपको दूसरे प्लैटफार्म को चुनना होगा। इसके बाद कंटेंट को अपलोड करने के लिए आप 4-1-1 स्ट्रैटेजी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 आप हर 6 कंटेंट में से 4 कंटेंट को उन लोगों से लीजिए जो कि आपकी इंडस्ट्री में सबसे ऊपर हैं। आप उनका कंटेंट अपने लोगों के साथ शेयर कीजिए ताकि आप उन लोगों की नजर में आ सकें। जब वे देखेंगे तो वे आपका कंटेंट भी पढ़ेंगे। अगर उन्हें आपका कोई कंटेंट पसंद आ गया और
उन्होंने उसे शेयर कर दिया, तो आपको बहुत फायदा होगा।

 इसके बाद 1 कंटेंट आप खुद का अपलोड कीजिए और 1 कंटेंट में अपना ऐड कीजिए ताकि आप लोगों को अपना प्रोडक्ट बेच सकें। इसके बाद आप एसईओ को इस्तेमाल कर के अपने पेज की रैंकिंग को बढ़ा सकते हैं। जब लोग गूगल पर कुछ सर्च करते हैं, तो वे कुछ खास तरह के शब्दों का इस्तेमाल कर के उसे खोजने की कोशिश करते हैं। गूगल उनके लिखे गए
शब्दों के हिसाब से उन्हें सबसे अच्छे रिजल्ट्स लाकर देता है। तो अगर आपके वेबपेज पर वो शब्द हैं जिन्हें लोग खोज रहे हैं, तो आपका पेज सबसे ऊपर आ जाएगा।

 लेखक के हिसाब से अगर आप हर 150 से 200 शब्दों में बीच में एक टार्गेट कीवर्ड का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपका ट्रैफिक काफी बढ़ सकता है।



Don't Miss -

  1. Book Summary in Hindi - The Compound Effect
  2. You Can and You Will Book Summary in Hindi


अपने कंटेंट मार्केटिंग को बेहतर बनाने को लिए आपको अलग अलग मेट्रिक्स पर ध्यान देना होगा


 अब आपको यह देखना होगा कि आपकी मार्केटिंग कितनी कामयाब रही, ताकि आप उसे पहले से बेहतर बना सकें।

इसके लिए आपको चार मेट्रिक्स पर ध्यान देना होगा -

-कितने लोगों ने आपका कंटेंट देखा
-कितने लोगों ने उसे शेयर किया
-कितने लीड्स उसके जरिए आपके पास आए
-कितने सेल्स उसके जरिए आपके पास आए

 सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि कितने लोगों ने आपका कंटेंट देखा। इसके लिए आप गूगल एनालिटिक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही Mention.net और Salesforce.com के जरिए आप यह देख सकते हैं कि लोग आपके ब्रांड के बारे में कितनी बात कर रहे हैं। इसके बाद आपको यह देखना होगा कि लोग आपके कंटेंट को कितना शेयर कर रहे हैं। इसमें आपको उनके लाइक्स, शेयर्स और कमेंट्स देखने होंगे। यहाँ भी गूगल
एनालिटिक्स आपके काम आ सकता है।

 अगर आप गूगल एनालिटिक्स से बेहतर साफ्टवेयर चाहते हैं तो आप ओपन साइट एक्सप्लोरर, रेवन टूल्स या मैजेस्टिक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 अगर आपके पोस्ट पर ज्यादा शेयर्स नहीं आ रहे हैं, तो इसका मतलब वो ज्यादा सोशल नहीं है। ऐसे में अपने मनचाहे नतीजे को पाने के लिए आपको दूसरा कंटेंट अपलोड करना होगा।

 इसके बाद आपको यह देखना होगा कि उस कंटेंट के जरिए कितने लीड्स आपके बिजनेस में आए। इसे पता करने के लिए आप यह देखिए कि आपके पास कितने सब्सक्राइबर्स, कंप्लीशन और कंवर्शन्स आए। इससे
आपको यह पता लगेगा कि कितने लोग आपके साथ जुड़े रहना चाहते हैं।

 अंत में आपको यह देखना होगा कि आपके पास कितने सेल्स आए। यह करना बहुत आसान और बहुत मजेदार काम है, क्योंकि पैसा गिनना किसे नहीं पसंद। अगर एक कंटेंट से आपके पास ज्यादा सेल्स आ रहे हैं, तो आप यह देखिए कि उसमें आप ने क्या अलग किया है और उसका इस्तेमाल अपने अगले कंटेंट में कीजिए, ताकि उसमें भी आपको वही नतीजे मिल सकें।


Conclusion -


ग्राहक को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके प्रोडक्ट में क्या खास बात है। उन्हें सिर्फ इससे फर्क पड़ता है कि आपका प्रोडक्ट उनकी जिन्दगी किस तरह से आसान बना सकता है। कंटेंट मार्केटिंग के जरिए आप अपने ग्राहकों तक वो जानकारी पहुंचा सकते हैं जो वो खोज रहे हैं ताकि वे आपके पास बार बार आते रहें। इस तरह से आप उसे अपने फैन बना सकते हैं और बाद में उन्हें अपना प्रोडक्ट बेच सकते हैं।


क्या करें?


 कंटेंट मार्केटिंग के साथ साथ ट्रेडिशनल मार्केटिंग को मत भूलिए। कंटेंट मार्केटिंग, मार्केटिंग का एक छोटा सा हिस्सा है जिसका काम है ग्राहकों को आपके प्रोडक्ट के बारे में बताना। आपके कंटेंट के जरिए आपके ग्राहक को आपके प्रोडक्ट में दिलचस्पी आती है। लेकिन इसके बाद भी उसे कुछ जानकारी चाहिए होगी ताकि वो यह समझ सके कि अपने पैसे खर्च करने के बाद उसे अलस में क्या मिलने वाला है। यहाँ पर ट्रेडिशनल मार्केटिंग का रोल शुरू होता है, जिसमें आप ऐड कर कर अपने प्रोडक्ट को बेचते हैं।


Don't Miss -

  1. Book Summary in Hindi - Why A Students Work for C Students
  2. Elon Musk Biography Book Summary in Hindi
  3. The Power Of Habit Book Summary In Hindi
  4. The Miracle Morning Book Summary In Hindi
  5. Zero to One Book Summary In Hindi (Best Business Learning Book)
  6. The Lean Startup Book Summary In Hindi


 तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह Epic Content Marketing बुक समरी कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और अपने दोस्तों के साथ इस बुक समरी को share जरूर करें जो अभी Blogging कर रहे हैं या Content Creator हैं तो।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.
logoblog

Thanks for reading Epic Content Marketing Book Summary in Hindi by Joe Pulizzi - कंटेंट मार्केटिंग सीखने के लिए बढ़िया बुक

Previous
« Prev Post

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें