Saturday

Motivational Speech in Hindi - लोगो को जल्दी प्रभावित करें (आसान तरीका)

  Rocktim Borua       Saturday

Motivational Speech in Hindi - मुस्कुराना जरुरी है


motivational-speech-in-hindi - laugh


 क्या आप हर वक़्त अपने काम कि वजह से दुखी रहते हैं ? क्या आपको हसना अच्छा नहीं लगता ? क्या आपको खुश रहना अच्छा नहीं लगता ? क्या आपको कभी हसने कि मन नहीं कर रहा है ? क्या आपका मन कर रहा है कि अपने व्यक्तित्व को सुधारे ?

 क्या आप जानते है कि ख़ुशी से काम करना या ख़ुशी ख़ुशी रहना आपके लिए कितना अच्छा है ? और क्या आप लोगों के सामने या लोगो के लिए Special इंसान बनना चाहते हैं ? तो आज मैं इसी के बारे में बात करने वाला हूँ कि आपकी एक मुस्कान आपको कितना Special और बाकि लोगो से अलग बनता है।

 तो आप इस Motivational Speech को 5 मिनट देकर जरूर पढ़ें, क्यूंकि आपकी जिंदगी में कुछ ना कुछ change आने वाला है -


 एक बहुत दुखी और उदास Businessman ने जब एक बहुत बड़े Personality Development Trainer से Training करके आया तो उसके कुछ ही दिन बाद उनका कहना है -

 “मैंने अपने ऑफिस के लोगों की बुराई करना भी छोड़ दिया है। मैं आलोचना करने के बजाय प्रशंसा और सराहना करने लगा हूँ। मैंने यह बोलना छोड़ दिया है कि मैं क्या चाहता हूँ। मैं अब सामने वाले व्यक्ति के नज़रिए को समझने की कोशिश करता हूँ। इन चीज़ों से मेरी ज़िंदगी में क्रांतिकारी परिवर्तन हुआ है। मैं अब पूरी तरह बदल गया हूँ और पहले से ज़्यादा खुश और अमीर हूँ। मेरे पास अब दोस्तों और खुशियों की दौलत है और यही तो वे चीजें हैं जो असली महत्व की हैं।"


दोस्त क्या आपको मुस्कराना मुश्किल लगता है ? तो फिर क्या करें ?


 आप दो काम कर सकते हैं। पहली बात तो यह कि खुद को मुस्कराने पर मजबूर करें। जब आप अकेले हों, तो सीटी बजाएँ या गुनगुनाएँ या गाएँ या डांस करें।

 इस तरह व्यवहार करें जैसे आप सचमुच खुश हों और कुछ समय बाद आपको जरूर खुशी का अनुभव होने लगेगा।


मुस्कराहट का मूल्य क्या है ?


इसमें कुछ ख़र्च नहीं होता, पर इससे मिलता बहुत है।

जिन्हें यह मिलती है वे समृद्ध हो जाते हैं, परंतु जो देते हैं वे गरीब नहीं होते।

यह एक पल में हो जाती है और इसकी याददाश्त कई बार हमेशा क़ायम रहती है।

कोई भी इतना अमीर नहीं, कि इसके बिना जी सके और कोई भी इतना ग़रीब नहीं कि इसका लाभ न उठा सके।

यह घर में सुख लाती है, बिज़नेस में सद्भावना भरती है और यह दोस्ती का हस्ताक्षर है।

यह थके हुओं के लिए आराम है, निराश लोगों के लिए आशा की किरण है, दुखी लोगों के लिए सूर्य की रोशनी और कष्टों के लिए प्रकृति की सबसे बेहतरीन दवा है परंतु इसे ख़रीदा या चुराया नहीं जा सकता, उधार नहीं लिया जा सकता, यह भीख में नहीं मिलती क्योंकि इसका तब तक कोई मोल नहीं है जब तक इसे किसी दूसरे को नहीं दिया जाता।

और क्या आपको पता है कि मुस्कराहट की उसी व्यक्ति को सबसे ज़्यादा ज़रूरत होती है जिसके पास देने के लिए मुस्कानें नहीं बची हैं!


एक मनोवैज्ञानिक ने इसी बात को इस तरह से कहा था:-


"हमें लगता है कि हमारे कार्य हमारी भावना का अनुसरण करते हैं, परंतु वास्तव में कार्य और भावना साथ-साथ ही चलते हैं और कार्य पर नियंत्रण करने से हम अपनी भावना को नियंत्रित कर सकते हैं, क्योंकि अपने कार्यों पर नियंत्रण करना ज़्यादा आसान है, जबकि अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना अपेक्षाकृत कठिन है।"

"तो खुश रहने का इकलौता रास्ता यह है कि चाहे हम खुश न हों, पर हम इस तरह बोलें और व्यवहार करें जैसे हम सचमुच खुश हों...।"

 क्या आपने कभी सोचा है कि लोग खुशी को ढूंढने के लिए कितना मेहनत करते हैं ? तो आपको ये बात बता दें कि दुनिया में हर व्यक्ति खुशी की तलाश में ही है।

 क्या आपको पता है कि इसे हासिल करने का सिर्फ एक ही रास्ता है - अपने विचारों को नियंत्रित करके खुशी हासिल करना।


motivational-speech in hindi - happiness


 खुशी हमारी बाहरी परिस्थितियों पर निर्भर नहीं करती। यह तो हमारी अंदरूनी परिस्थितियों पर निर्भर करती है।

 सुख या दुख का इस बात से कोई संबंध नहीं है कि आपके पास कितना है या आप क्या हैं या आप कहाँ हैं या आप क्या कर रहे हैं। इसका संबंध तो इस बात से है कि आप इस बारे में क्या सोचते हैं।

 मतलब सभी प्रॉब्लम का जड़ यही है कि अपने विचार को हम control नहीं कर पाते हैं।

 उदाहरण के तौर पर दो लोग एक ही जगह पर एक ही काम करें, और उनके पास एक बराबर पैसा और प्रतिष्ठा हो, तो भी यह हो सकता है कि एक दुखी होगा और एक सुखी। क्यों?

 क्योंकि उनका परिस्थितियों को देखने का नज़रिया अलग-अलग है। मैंने अपने देश में चिलचिलाती धूप में खेत में काम कर रहे गरीब किसानों को भी उतना ही सुखी देखा है, जितना कि बड़े बड़े कॉर्पोरेट के एयरकंडीशंड ऑफ़िसों में काम करने वालों को।

 "बल्कि उससे भी ज्यादा ख़ुशी किसानों को है" - अगर मैं ऐसा कहु तब भी मैं गलत नहीं हूँ, क्यूंकि मैंने खुद देखा है और शायद आपको भी ये दिखा होगा।

शेक्सपियर ने कहा था, “कोई भी चीज़ बुरी या अच्छी नहीं होती, हमारा नज़रिया ही उसे अच्छी या बुरी बनाता है।"

 लिंकन ने एक बार यह टिप्पणी की थी, “ज़्यादातर लोग उतने ही खुश रहते हैं, जितने खुश रहने का वे निर्णय करते हैं।" उन्होंने सच कहा था।

 मैंने इस बात का जीता-जागता उदाहरण तब देखा जब मैं एक स्टेशन की सीढ़ियाँ चढ़ रहा था तो मेरे ठीक सामने दस या पन्दरह लंगड़े बच्चे छड़ी और बैसाखियों को थामे हुए सीढ़ियाँ चढ़ रहे थे। एक बच्चे को तो ऊपर उठाकर ले जाना पड़ा।

 मैं यह देखकर हैरान हुआ कि वे हँस रहे थे और वे सभी मस्ती के मूड में थे। मैंने इस बारे में उनके इंचार्ज से पूछा।

 और उसने कहा कि “हाँ, जब किसी बच्चे को यह पता चलता है कि वह सारी ज़िंदगी लंगड़ा रहेगा तो पहले तो उसे सदमा पहुँचता है। पर आम तौर पर बाद में वह अपने future को स्वीकार कर लेता है और धीरे धीरे वे ये भूल ही जाते है कि वे फिजिकली वीक है और धीरे धीरे सामान्य लड़कों की तरह ही खुश रहने लगता है।"

उन्होंने मुझे एक ऐसा सबक सिखाया था, जिसे मैं कभी नहीं भूल पाऊँगा।

 और जब ये बातें आप भी जान गए हैं तो आपको तो खुश होना चाहिए कि आपके पास वो सभी है, जिसकी वजह से आपको उस लंगड़े बच्चे कि तरह छड़ी के सहारे किसी पर चढ़ना या चलना नहीं पड़ रहा है। और आपके पास खुश रहने के लिए एक वजह तो है ना !

 क्यों आप उसको छोड़ रहे है ? हाँ आपने कुछ चाहा और आपको नहीं मिला, लेकिन इसके लिए हर वक़्त दुखी रहना क्या ठीक है या फिर खुश रह कर उस चीज या इंसान को पाने की भी तो कोशिश कर सकते हैं।

 और क्या आपको पता है कि जब आप ख़ुशी ख़ुशी कोई भी काम करते हैं तो आपको उसमें Success मिलने की chances बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। चाहे आप खुश ना हो तब भी हस्ते रहो या खुश रहने कि कोशिश करो। हाँ आपको इसमें टाइम लग सकता है। और लोग आपसे प्रभावित जरूर होंगे।

Conclusion -


motivational-speech in hindi - happiness


 जब आप खुश रहने कि कोशिश करते रहेंगे ना दोस्त तो धीरे धीरे आपकी जिंदगी में भी बदलाव आने शुरू हो जायेंगे।

 अगर आपको लगता है कि तुम्हारे तो पास तो सब कुछ है, तुम तो ये बातें हमे इसलिए बता पा रहे हो और हमारे जैसे लाइफ बिता के तो देखो। तो मैं आपको ये बता दूँ कि मैं खुश इसीलिए हूँ क्यूंकि मैं खुश रहना चाहता हूँ और ना मेरे पास करोड़ों रूपए हैं ना मैं किसी बहुत धनी इंसान के बेटे हूँ। मैं भी Middle class background से ही belong करता हूँ।

 और आपको एक बात बता दूँ कि किसी को खुश रहने के लिए वही इंसान प्रोत्साहित कर सकता है जो सचमुच खुश है। और इसीलिए मैं खुश हूँ और आपको भी खुश रहने के लिए बता रहा हूँ, चाहे आपके पास बहुत सारे धन है या नहीं है, लेकिन एक दिमाग है और ख़ुशी को अभिव्यक्त करने के लिए चेहरा भी है तो आपको ये सोचना चाहिए कि मैं खुश क्यों नहीं हूँ ? एक ही तो जिंदगी है यार........खुश रहो, मुस्कुराते रहो।


और आर्टिकल पढ़ें -



 तो दोस्तों आपको आज का हमारा motivational speech कैसा लगा और क्या आप आज से खुश रहने और हसने कि कोशिश करेंगे और क्या आप लोगो को प्रभावित करना चाहते है, आपकी मन कि बात मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस motivational speech को अपने दोस्तों के साथ share जरूर करें।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.
logoblog

Thanks for reading Motivational Speech in Hindi - लोगो को जल्दी प्रभावित करें (आसान तरीका)

Previous
« Prev Post

No comments:

Post a Comment