Tuesday

Loving Your Spouse When You Feel Like Walking Away Book Summary - बिगड़ते रिश्तों को टूटने से बचाये

  Rocktim Borua       Tuesday

Loving Your Spouse When You Feel Like Walking Away Book Summary in Hindi - किस तरह से बिगड़ते रिश्तों को टूटने से बचाया जा सकता है


Loving Your Spouse When You Feel Like Walking Away Book Summary in Hindi

 लविंग योर स्पउस व्हेन यू फील लाइक वाकिंग अवे (Loving Your Spouse When You Feel Like Walking Away) में हम देखेंगे कि किस तरह से आप अपने पार्टनर के साथ अपने बिगड़ते रिश्ते को बेहतर बना सकते हैं। यह किताब बताती है कि किस तरह से अपने पार्टनर को अच्छे से समझ सकते हैं और उसकी अनकही बातों को भी सुनकर उसके साथ अपने रिश्ते को पहले से बेहतर बना सकते हैं।


यह बुक समरी किसके लिए है -


  • वे जो अपने पार्टनर के साथ अपने रिश्ते को बेहतर बनाना चाहते हैं।
  • वे जो अपनी शादीशुदा जिन्दगी में एक मुश्किल वक्त से होकर गुजर रहे हैं।
  • वे जो जानना चाहते हैं कि किस तरह से बिगड़ते रिश्तों को टूटने से बचाया जा सकता है।


लेखक के बारे में


 गैरी चैपमैन ( Gary Chapman ) एक लेखक हैं जो कि अपनी फाइव लव लैंग्वेज किताबों की सिरीज़ के लिए जाने जाते हैं। वे कैल्वरी बैपटिस्ट चर्च में एक सीनयर पादरी भी हैं। वे पति-पत्नियों के साथ काम कर के उनके रिश्ते को पहले से बेहतर बनाने की कोशिश कर रहे हैं।


यह किताब आपको क्यों पढ़नी चाहिए


 रिश्तों में कड़वाहट आना आम बात होती है। हमारा दिमाग खुद कभी कभी एक चीज़ को लेकर हमें दो बातें बताने लगता है। जरा सोचिए जब आप खुद अकेले अपने खयालों को लेकर इतने उलझे होते हैं, तो जब एक और व्यक्ति आपकी जिन्दगी में आ जाएगा, तब आप कितने उलझ जाएंगे। बहुत से लोग अपने पार्टनर से परेशान हो जाते हैं और फिर उन्हें सिर्फ एक रास्ता दिखाई देता है - तलाक का।

लेकिन जब आपकी जिन्दगी में परेशानियां आती हैं तो आप उन्हें सुलझाने की कोशिश करते हैं ना कि आत्महत्या करने के बारे में सोचते हैं। उसी तरह से जब आपके रिश्ते में समस्याएं आएं, तो आप उन्हें सुलझाने की कोशिश कीजिए, ना कि रिश्ते को हमेशा के लिए खत्म करने के बारे में सोचिए। तो इस किताब की ये समरी आपको ये बताएगी कि किस तरह से आप अपने पार्टनर के साथ अपने बिगड़ते रिश्ते को बेहतर बना सकते हैं।


इस बुक समरी पढ़कर आप सीखेंगे -


  • तलाक लेना आपकी समस्या का समाधान क्यों नहीं है।
  • किस तरह से आप अलग अलग स्वभाव रखने वाले पार्टनर्स को समझ सकते हैं।
  • अफेयर का इस्तेमाल किस तरह से रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए किया जा सकता है।


तलाक लेना एक बार के लिए आसान रास्ता दिख सकता है, लेकिन यह है नहीं।


 हमारा समाज आज ऐसा हो गया है कि हम नई चीज़ देखते ही पुरानी चीज़ को फेक देते हैं। जब हम नए माडल का फोन देखते हैं, तो हम अपने पुराने फोन को फेक देते हैं। हमारी यह आदत हमारी शादीशुदा जिन्दगी में भी आ पहुँची है। हम शादी में थोड़ी सी परेशानी आते ही तलाक लेने के बारे में सोचने लगते हैं। बहुत से लोग जब अपने दोस्तों से अपनी शादीशुदा जिन्दगी में चल रही परेशानी के बारे में बात कर रहे होते हैं तो अंदर ही अंदर वे अपने दोस्त के मुँह से तलाक की सलाह सुनने की उम्मीद करते हैं।

 लेकिन आपका पार्टनर एक इंसान है जिसके साथ आप जिन्दगी भर का रिश्ता जोड़ते हो, ना कि कोई सामान जिससे ऊबते ही आप दूसरा सामान खरीदने निकल पड़ते हो। साथ ही तलाक आपकी समस्या का समाधान नहीं है। इसके बाद तकलीफ अक्सर ज्यादा बढ़ जाती है। अगर आपके बच्चे हैं, तो आप उन्हें छोड़ नहीं सकते। अगर वे आपके साथ रहते हैं, तो भी उन्हें एक पैरेंट की कमी

 हमेशा महसूस होगी। अगर बच्चे आपके साथ रहते हैं, तो आप खुद को सारा दिन काम करते हुए पाएंगे और ऐसे में आपके बच्चे अकेले रहेंगे और उन्हें एक पैरेंट का प्यार नहीं मिलेगा।

 साथ ही जिन वजहों से आप तलाक ले रहे हैं, उन वजहों को सुलझाया जा सकता है। जब आपका शरीर बीमार होता है, तो आप उसमें आग नहीं लगा देते, बल्कि उसका इलाज करवाते हैं। ठीक उसी तरह से अगर आपका आपके पार्टनर के साथ झगड़ा चल रहा है, तो यह जरूरी नहीं है कि उससे

 तलाक लेकर नए पार्टनर के साथ रहने से आपकी समस्या सुलझ जाएगी। आपको इस झगड़े का हल निकालना होगा।

 तलाक परेशानी से निकलने का इतना भी आसान रास्ता नहीं है। आपको अपने रिश्ते को बेहतर बनाने पर काम करना चाहिए, ना कि उसे खत्म करने पर।


मुश्किल वक्त से बाहर निकलने के लिए आपको पॉजिटिव चीजों पर ध्यान देना चाहिए।


 आपके उदास होने से आपके आस पास के बहुत से लोग भी उदास हो जाते हैं। साथ ही जब आप उदास होने पर नेगेटिव सोचते हैं, तो वो नेगेटिव सोच आपके लिए और उदासी लेकर आती है। इसलिए बुरे हालात में भी आपको यह देखना चाहिए कि आपके साथ क्या अच्छा हो रहा है।

 एक बात आपको अच्छे से समझ जानी चाहिए कि आपकी सोच ही यह तय करती है कि आप कितने खुश रहेंगे। अगर आप हर वक्त यह सोच रहे हैं कि आपके साथ क्या बुरा हो सकता है, तो जाहिर सी बात है कि आप दुखी रहेंगे। इसलिए आप पॉजिटिव सोच रखिए।

 एग्जांपल के लिए वेंडी को ले लीजिए जिसका पति काफी समय से बेरोजगार था। इस वजह से उन्हें अपने हर दिन के खर्चे में से बहुत कटौती करनी पड़ रही थी। वे फिल्में नहीं देख पा रहे थे और ना ही बाहर कहीं घूमने के लिए जा पा रहे थे। इस वजह से उनके रिश्ते में बहुत कड़वाहट आ रही थी।

 लेकिन तब वेंडी ने अच्छी चीजों पर गौर करना शुरू किया। उसने यह देखा कि क्योंकि अब वे फिल्में नहीं देख रहे हैं, वे अब एक दूसरे के साथ ज्यादा समय बिता रहे हैं और एक दूसरे को बेहतर तरीके से समझ पा रहे हैं। वेंडी ने अपने पति को यह भरोसा दिलाना शुरु किया कि जल्द ही उसे एक नौकरी मिल जाएगी और उसके बाद हालात अच्छे हो जाएंगे।

 नेगेटिव सोचना एक चक्र की तरह होता है। आप जितना ज्यादा नेगेटिव सोचेंगे, आपको उतना ज्यादा इसमें उलझते चले जाएंगे। इसलिए अच्छा सोचिए। अच्छा सोचने से आप यह जान सकते हैं कि किस तरह से आप हालात को पहले से बेहतर बना सकते हैं।


अगर आपका पार्टनर आपकी जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है तो उसकी मदद कीजिए।


 बहुत बार हम अपने दिमाग में अपने पार्टनर को पर्फेक्ट मान लेते हैं। हमें यह लगता है कि वो हमारे सारे काम कर लेगा और हमारी जरूरतों का खयाल रखेगा। लेकिन जब वो हमारी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरता, तो हमें उससे तकलीफ होने लगती है।

 कुछ ऐसा ही हुआ लेखक के क्लाइंट्स जमाल और सुजैन के साथ सुजैन एक बहुत काम्पटेटिव सेल्सवुमैन हुआ करती थी जो कि अपने काम में माहिर थी। जमाल से शादी करने से पहले ही उसकी एक बेटी थी, जिसका वो बहुत खयाल रखती थी। जमाल ने उसकी इन्हीं खूबियों को देखते हुए उससे शादी की थी। लेकिन शादी के बाद उसे वो नहीं मिला जिसकी उसे उम्मीद थी।

 वो यह सोच रहा था कि जब वो सुजैन से शादी कर लेगा तो घर जाने के बाद उसे हर रोज अच्छा खाना और एक साफ-सुथरा घर देखने को मिलेगा। लेकिन सुजैन अपनी पहली बेटी और अपनी शादी के बाद हुई दूसरी बेटी को संभालने में इतना व्यस्त हो जाती थी कि उसे यह सब करने का मौका ही नहीं मिलता था।

 यह सब देखकर जमाल को बहुत गुस्सा आ जाता था और वो सुजैन को बुरा-भला कह देता था। कुछ ऐसा ही शायद आपके साथ भी होता होगा, जब आपका पार्टनर आपके हिसाब से काम नहीं करता और आप उसे कुछ कह देते हैं।

 इसके ठीक बाद आपको एहसास भी हो जाता होगा कि ऐसा करने से समस्या खत्म नहीं होती बल्कि बढ़ जाती है।

 जमाल जब लेखक से मिला तो उनसे सीख लेकर उसने अपना रास्ता बदला। उसने सुजैन से माफी मांगी और एक अच्छा पति बनने का वादा किया। लेखक के कहने पर वो काम से घर आकर शिकायत करने की बजाय अपनी पत्नी को और अपनी बेटियों को गले लगाने लगा। इसके बाद से सुजैन उससे खुश हो गई और वो उससे पूछने लगी कि वो उसके लिए क्या कर सकती है। इसके बाद से हालात बेहतर होने लगे और जमाल को उसका अच्छा खाना भी मिलने लगा।


अपने पार्टनर से समस्याओं के बारे में बात करने के लिए कभी कभी आपको उसे एक झटका देना होगा।


 बहुत बार आप अपने पार्टनर कि किसी आदत की वजह से बहुत परेशान होते हैं लेकिन आपका पार्टनर उस आदत को बदलने का नाम भी नहीं लेता। ऐसे में आपको उसे एक धक्का देकर जगाना होगा, ताकि उसे समस्या का एहसास हो।

 आप अपने पार्टनर की जिस भी आदत से परेशान है, उसे उस आदत के नतीजे दिखाइए। एग्जांपल के लिए, अगर आपका पार्टनर बहुत सिगरेट पीता है, तो उसे यह दिखाइए कि सिगरेट पीने से फेफड़ों का क्या हाल हो जाता है। उसे यह बताइए कि जब वो बीमार हो जाएगा तो आपका परिवार किस तरह के हालात में फंसेगा। आपके बच्चे किस तरह से रहेंगे, आपके खर्चे किस तरह से बढ़ जाएंगे।

 लेखक के सेमिनार में जिम और एमी नाम के एक पति-पत्नि आए थे। जिम बहुत ज्यादा काम करता था, जिस वजह से वो एमी को और अपने बच्चों को समय नहीं दे पा रहा था। समस्या का एहसास दिलाने के लिए एमी जिम को रिटायरमेंट हाउस लेकर गई।

 वहाँ पर जाने के बाद जिम ने उससे पूछा कि वो उसे यहाँ क्यों लाई है, जबकि उनके रिटायर होने में तो 27 साल हैं। तब एमी ने कहा- इसका मतलब तुम मेरे साथ और अपने बच्चों के साथ समय बिता सको, इसके लिए मुझे अभी 27 साल इंतजार करना होगा। हमारे बच्चों को अपने पिता के बारे में पता लगे, इसके लिए मुझे अभी 27 साल इंतजार करना होगा।

 इसके बाद एमी ने कहा कि वो जिम के साथ बूढ़ी होने के बाद नहीं रहना चाहती, बल्कि जिम के साथ बूढी होना चाहती है। फिर जिम को अपनी गलती का एहसास हुआ। जिम के पिता ने कहा था कि वो अपनी जिन्दगी में कुछ कर नहीं पाएगा और उन्हें गलत साबित करने के लिए जिम इतना काम करता था। लेकिन उसे यह एहसास हुआ कि इस तरह से रहने पर वो अपने परिवार को खो देगा।

इसके बाद जिम ने एक दूसरा काम खोजा और अपने परिवार को समय देना शुरु किया।


अपने पार्टनर के कंट्रोलिंग बिहेवियर को समझने की कोशिश कीजिए।


 बहुत बार हमारा पार्टनर हमें अपने हिसाब से रखने की कोशिश करने लगता है। वो चाहता है कि हम उसे हमेशा यह बताते रहें कि हम कहाँ पर हैं और किससे मिल रहे हैं। इस तरह के बर्ताव से कभी कभी आपको यह लग सकता है कि आपको कैद में रखा जा रहा है। लेकिन असल में ऐसा नहीं है।

इस तरह के पार्टनर में दो तरह की बातें होती हैं। एक यह कि उन्हें अपनी आजादी बहुत पसंद होती है। इसलिए वे आप से अपने मन का काम करवाने की कोशिश करते हैं। दूसरा यह कि वे चाहते हैं कि आप उन्हें अपने लिए जरुरी महसूस कराएँ। वे चाहते हैं कि आप उन पर अपना ध्यान दें जिससे उन्हें यह लगे कि आप उनकी बहुत परवाह करते हो।

 यहाँ पर यह समझना बहुत जरूरी है कि आप उनसे बहस ना करें। बहस करने का कोई फायदा नहीं होता। बहस करने से वे भी आप से बहस करने लगेंगे और अंत में आप दोनों का झगड़ा हो जाएगा। इसलिए अपने पार्टनर की जरूरत को समझिए और उसे पूरा करने की कोशिश कीजिए, लेकिन अपनी खुशी को बीच में मत आने दीजिए।

 एक्जाम्पल के लिए -


 अगर आपका पार्टनर चाहता है कि आप घर में रहकर घर का काम करें बाहर काम करने के लिए ना जाए, तो सबसे पहले यह समझने की कोशिश कीजिए कि वो क्यों आपको बाहर नहीं जाने देता। इसके बाद आप उसकी उस जरूरत को किसी दूसरी तरह से पूरा करने की कोशिश कीजिए।

 एक्जाम्पल के लिए -


 अगर आपके पार्टनर को घर साफ सुथरा और अच्छा खाना चाहिए और इसलिए वो यह नहीं चाहता कि आप काम करने जाएं, तो आप घर का काम करने के लिए किसी को रख लीजिए। इस तरह से दोनों की जरूरतें पूरी हो सकेंगी।

 आप अपनी जरूरतों का खयाल रखना कभी मत भूलिए, क्योंकि इस तरह से आप खुद खुश नहीं रह पाएंगे। जब आप खुद खुश नहीं रहेंगे, तो आप अपने पार्टनर को भी खुश नहीं रख पाएंगे।


अगर आपका पार्टनर आपसे अच्छे से बात न करे, तो आपको एक प्लान की जरूरत होगी।


 बहुत बार हमें एक ऐसे पार्टनर के साथ रहना पड़ता है जो कि हमें गालियां देता है या फिर हमसे अच्छे से बात नहीं करता। इस तरह के लोगों से निपटने के लिए आपको एक प्लान की जरूरत होगी। लेकिन इसके साथ साथ आपको धैर्य और समझदारी से काम लेना होगा।

 अगर हम बात प्लान की करें तो सबसे पहले आपको अपने पार्टनर से उसके इस बर्ताव के बारे में साफ साफ बात कर लेनी चाहिए। उससे कहिए कि वो जिस तरह से आप से बात करता है, आपको वो बिल्कुल पसंद नहीं है। अगर इसपर वो मान जाता है, तो आपको प्लान की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर वो नहीं मानता, तो आपको कुछ कदम उठाने होंगे।

 एग्जामप्पल के लिए -


 आप यह फैसला कर सकते हैं कि अगली बार जब आपका पार्टनर आपसे गलत तरह से बात करेगा, तो आप उसे कुछ समय के लिए छोड़कर चले जाएंगे। आप अपने पार्टनर से यह भी कह सकते हैं कि अगर वो चाहता है कि आप उसके साथ रहें, तो वो खुद में सुधार ले आए।

 कुछ ऐसा ही किया मेगन ने अपने पति बैरी के साथा वो बैरी की कड़वी जबान से तंग आ गई थी और उसने यह फैसला किया कि जब अगली बार बैरी उसके साथ बुरी तरह से बात करेगा, वो उसे छोड़कर अपने परिवार के पास एक हफ्ते के लिए चली जाएगी। उसने ठीक ऐसा ही किया और उसके इस बर्ताव के बाद से बैरी ने भी अपनी जबान को काबू करना शुरू किया।

 आपको यहाँ पर सही तरह से काम करना है। आपको उसकी तरह उसे भी गाली नहीं देनी है, क्योंकि इससे झगड़ा बढ़ जाएगा। आपको यहाँ पर बहुत सारे प्यार की जरूरत होगी। प्यार का मतलब सिर्फ अपने पार्टनर से ही प्यार करना नहीं है, बल्कि खुद से भी प्यार करना है। अपने प्लान पर चलने के बाद, आप अपने पार्टनर से प्यार जताने के लिए एक छोटा सा गिफ्ट भी ला सकते हैं।

 अपने पार्टनर के साथ इस तरह के बर्ताव से छुटकारा पाने के लिए आपको उससे सहानुभूति जतानी होगी और साथ ही साथ अपनी जरूरतों का भी खयाल रखना होगा।


अपने शांत पार्टनर के साथ रहना बहुत मुश्किल हो सकता है।


 बहुत बार हमारा पार्टनर हमसे बातें नहीं करना चाहता। उसके बर्ताव से हमें लगता है कि कुछ तो ठीक नहीं है, लेकिन वो हमसे इसके बारे में बात नहीं करना चाहता। इस तरह का बर्ताव करने वाले लोग अपनी भावनाओं को अच्छे से दूसरों के सामने नहीं रख पाते। साथ ही, इन्हें किसी चीज़ की कमी महसूस हो रही होती है।

एक्जाम्पल के लिए -


 कैटलिन को ले लीजिए जिसका पार्टनर क्रिस उससे बहुत दिनों से बात नहीं कर रहा था। कैटलिन को बिल्कुल समझ में नहीं आ रहा था कि वो ऐसा क्यों कर रहा है। यह सारी समस्या तब शुरु हुई थी जब कैटलिन ने क्रिस को बताया था कि वो अपने दो दोस्तों के साथ एक ट्रिप पर जा रही है।

 लेकिन कैटलिन को बिल्कुल नहीं पता था कि यह समस्या की वजह थी। क्रिस अपने दोस्तों के साथ बहुत बार ट्रिप पर गया था, और कैटलिन ने कभी इस तरह से बर्ताव नहीं किया। वो जब भी क्रिस से बात करती, क्रिस कमरा छोड़कर बाहर चला जाता था।

 बाद में कैटलिन को पता लगा कि उसके बहुत से दोस्त थे जिस वजह से क्रिस को लगता था कि वो उसकी जिन्दगी का सबसे जरूरी शख्स नहीं है। कैटलिन को जब यह पता लगा, तो उसे भी यह एहसास हुआ कि वो कुछ दिनों से क्रिस के साथ सही से समय नहीं बिता रही थी और बहुत सारा समय अपने दोस्तों के साथ ही बिता रही थी और क्रिस को अपना समय बहुत कम दे रही थी।

 जब उसे यह बात पता लगी, तो उसने अपने ट्रिप पर जाने से पहले क्रिस के साथ खूब सारा समय बिताया। उसने अपने प्लान को कैंसल नहीं किया, बल्कि उसने समस्या को सुलझाने की कोशिश की। ठीक उसी तरह से आप भी अपने पार्टनर की अनकही बातों को समझने की कोशिश कीजिए और उसे सुलझाने की कोशिश कीजिए।


अफेयर को आप अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के एक जरिए की तरह देखिए।


 अब हम एक शादी को तोड़ने वाल सबसे बड़ी वजह पर नजर डालेंगे और वो है किसी एक पार्टनर का अफेयर होना। अगर आप इसे एक दूसरी नजर से देखें, तो आपको पता लगेगा कि इससे आप अपने रिश्ते को पहले से मजबूत बना सकते हैं।

 अगर आपके पार्टनर का अफेयर हो रहा है तो इसका मतलब है कि वो आप से खुश नहीं है। इसका मतलब है कि आप उसकी किसी जरुरत को पूरा नहीं कर पा रहे हैं और इस वजह से वो उस जरूरत को पूरा करने के लिए किसी और के पास जा रहा है।

 अगर आपके पार्टनर का किसी के साथ अफेयर है तो आप सबसे पहले यह देखिए कि आप उसके साथ किस तरह से बर्ताव कर रहे थे। आप यह देखिए कि आप उसकी किस जरूरत को पूरा नहीं कर रहे थे। इससे आपको अपने रिश्ते की कमियों के बारे में पता लगेगा।

 अगर आपका पार्टनर आपको माफ करने के लिए तैयार है तो आपको उसके साथ अपने रिश्ते को तोड़ने की कोई जरूरत नहीं है। इस तरह के मुश्किल हालात से गुजरने के बाद आपका रिश्ता और मजबूत हो जाएगा।


Conclusion -


 तलाक लेना आपकी समस्याओं का समाधान नहीं है। इसके बाद आपको अपने बच्चों को संभालने में और अपने खर्चे चलाने में बहुत समस्या उठानी होगी। इसलिए आपको अपने पार्टनर को समझ कर उसके साथ चल रही परेशानियों को सुलझाने की कोशिश करनी चाहिए। अपने पार्टनर को खुश करने के लिए कभी भी अपनी खुशी को कुर्बान मत कीजिए। आप अपने पार्टनर को तभी खुश रख पाएंगे जब आप खुद खुश रहेंगे।


क्या करें?


"तुम" की बजाय "मैं" कहना शुरु कीजिए।

 बहुत बार जब हम अपने पार्टनर से झगड़ा कर रहे होते हैं तो हम उससे कुछ इस तरह की बातें कहते हैं - "तुमने मुझे धोखा दिया", "तुम अब पहले जैसे नहीं रहे"। ऐसा कहने पर अपने पार्टनर को यह लगने लगता है कि आप उसपर इल्जाम लगा रहे हैं और वो खुद को बचाने के लिए आपकी शिकायत करने लगता है।

 आप उनसे यह बताइए कि आपको कैसा महसूस हो रहा है। आप कहिए - "मुझे बहुत ठेस पहुंची" या फिर "मुझे अब प्यार की कमी महसूस हो रही है"। आप अपनी भावनाओं को बाँटिए, ना कि अपने पार्टनर पर इल्जाम लगाइए।


और बुक समरी पढ़ें -



 तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह बुक समरी कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस बुक समरी को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करें।


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.
logoblog

Thanks for reading Loving Your Spouse When You Feel Like Walking Away Book Summary - बिगड़ते रिश्तों को टूटने से बचाये

Previous
« Prev Post

No comments:

Post a Comment