मंगलवार

Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - खुद को Job Interview के लिए Perfect कैसे बनायें ?

  Rocktim Borua       मंगलवार
Motivational Speech in Hindi - खुद को Job Interview के लिए Perfect कैसे बनायें ?



Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - अपने आपको Job Interview के लिए Ready कैसे करें ?


 दोस्तों आजकल खास कर इस समय ज्यादातर लोग Job के Try कर रहे हैं, मतलब Interviews दे रहे हैं या अपनी Job Change करना चाहते हैं और अलग अलग Exam दिया है और Interviews में जा रहे हैं।


दो Extremes है एक है Negative Thinking. - आप Interview देने के लिए जा रहे हो, और पहले ही क्या सोच रहे हो अपने माइंड के अंदर कि यार मेरा तो होगा ही नहीं मैं 4 बार गया interview देने के लिए तब भी मेरा नहीं हुआ, मेरी तो किस्मत ही ख़राब है, मुझे तो नौकरी मिल ही नहीं सकती, मेरे तो शकल देख के मुझे अंदर नहीं घुसने देते, पहले ही बाहर निकाल देते हैं 4-5 घंटे wait कराते हैं। 

 ऐसी ऐसी चीजें ज्यादातर लोगों के दिमाग में आते हैं, तो ये हो गया एक extreme, और ये thinking आपको कभी Job दिला ही नहीं सकता। और ये आपको अंदर ही अंदर खत्म करता चला जायेगा। इसमें कोई डाउट ही नहीं है।


Two Types of Job Seeker -


 दूसरी Extreme है - जिसको लोग Positive Thinking बोलते हैं। और जो सिर्फ एक Wishful Thinking है, positive thinking नहीं है। वो असल में क्या है की Unrealistic Wishful Thinking, कि मैं जा रहा हूँ ये Interview देने के लिए, 4 books पढ़ी, motivate हो गए, कुछ article पढ़े, कुछ मोटिवेशनल videos देखा एकदम से energy भर उठी, और काम ही नहीं किया उस Interview के लिए मतलब मेहनत ही नहीं किया उस इंटरव्यू के लिए और Result को पकड़ लिया, Outcome को पकड़ लिया।


 क्या दिमाग में भर दिया कि मैं जा रहा हूँ ये interview देने के लिए और ये job हर हालत में मुझे मिलेगी ही मिलेगी। ये है Attitude और झूठा कॉन्फिडेंस।


 तो क्यों मिलेगी आपको ये Job ? आपमें ऐसा क्या है ? आप और लोगों से कौन सी चीज के बारे में ज्यादा जानते हो ? क्या आप हर उस चीज के बारे में जानते हो जो Interview में पूछे जाने वाले हैं ? और क्या interview देने के लिए बाकि जो और लोग आये हैं उसको कुछ नहीं पता ? जब Interviewer ने आपके साथ English पर बात करेंगे तो उसके साथ आप बात कर सकते हो ? आपके family में बहुत problems तो आपको जब चाहिए और क्या बाकि जो इंटरव्यू देने के लिए आये हुए हैं उनके घर में प्रोब्लेम्स नहीं हैं ? उनको Job नहीं चाहिए ? उन्हें पैसा नहीं चाहिए ? तुम्हें ही क्यों मिलनी चाहिए ? क्या वे बेवकूफ हैं जो वहां पर आ रहे हैं interview देने के लिए ? और स्मार्ट हो ?


 तो ये क्या है Unrealistic Wishful Thinking. जो लोगों को खत्म कर देता, अंदर से खोखला बना देता है। किस तरीकेसे ?


 अगर आप अपने दिमाग में बोलते जाओ कि मुझे ये नौकरी मिलेगी मिलेगी मिलेगी... तो क्या होगा कि temporary basis पे आपको Confidence बढ़ जायेगा, और सच में बहुत ज्यादा बढ़ जायेगा और जरुरत से ज्यादा बाद जायेगा, जैसे Under-confidence ख़राब है, वैसे Overconfidence भी ख़राब है, आपका confidence इतना बढ़ जायेगा की आपको विश्वास होने लग जायेगा कि यार ये तो नौकरी मुझे मिलेगी ही मिलेगी और जैसे ही आपको बिलीफ हुआ, जैसे ही आपको ये अंदर से आया कि ये नौकरी मुझे मिलेगी ही मिलेगी तो क्या होगा ? उसके base पे ऑटोमेटिकली सपनों का महल खड़ा होना शुरू हो जायेगा।

 की अच्छा ये कंपनी है, कितनी बढ़िया कंपनी है! जब मेरा यहाँ पे सिलेक्शन हो जायेगा तो मैं जा करके ये करूँगा, वो करूँगा, मैं खुद की एक bike खरीदूंगा, उस पैसे से मैं अपना एक बड़ा फ्लैट लूंगा, एक अच्छा सा गाड़ी लूंगा, ऐसे ऐसे बहुत बड़े बड़े planning करना शुरू कर देते हैं और ये सच में होता है। आप खुद सोचके देख सकते हो।


 जैसे ही आपका ध्यान काम से हट करके Outcome की तरफ गया, एक्सपेक्टेशंस का पूरा का पूरा महल खड़ा हो गया। वो होना ही होना है। और उस महल के साथ साथ डर भी आपका दिन व् दिन बढ़ता ही चला जायेगा। कि अगर ये महल टूट गया तो क्या होगा ! कि अगर ये job नहीं मिली तो क्या होगा ! कहाँ जाऊंगा, क्या करूँगा, मेरी फॅमिली का क्या होगा ! मम्मी का ऑपरेशन भी कराना है, फॅमिली में बहुत बड़ी problems चल रही है, पापा का बिज़नेस भी फ़ैल गया है।


 ऐसी चीज जिसका job से कोई कनेक्शन नहीं है ? सोचो ! ये सब problem जो है वो सब आपकी problems है कि मुझे पैसा चाहिए, मेरे पास survival के लिए भी पैसा नहीं है, घर खर्चे के लिए भी पैसा नहीं है, मुझे नौकरी चाहिए भाई। बिना नौकरी के शादी भी नहीं होगी। सब मेरा मजाक उड़ा रहे हैं दुनिया में, सबकी job लग गयी, मैं ही अकेला रह गया, मेरी अकेले की किस्मत ख़राब है। मुझे job चाहिए।


अब देखो Reality में और Imagination में कितना फर्क है ?


 Reality क्या है ?


 की वो बंदा जो आपका interview ले रहा है, जिसकी वजह से आपको job मिलने वाली है, उसको रत्ती भर भी फर्क नहीं पड़ता कि आपकी problems क्या है ! आप जिओ या मरो ! आपके पास खाने के लिए पैसा है या नहीं है। उसको इससे बिलकुल ही फर्क नहीं पड़ता और पड़ना भी नहीं चाहिए, क्यूंकि वो भीख थोड़ी दे रहा है, वो तो नौकरी दे रहा है ना !

तो उसको किस चीज से फर्क पड़ता है, उसको सिर्फ एक चीज से फर्क पड़ता है कि मेरा फायदा किस चीज में है ! मेरी कंपनी का फायदा किस चीज में हैं ! कि आपको recruit करके। आपका confidence कैसा है, कैसा नहीं है कोई फर्क नहीं पड़ता भाई !


क्यों ? क्यूंकि अगर 100 चीजें देखि जाती हैं किसी को recruit करने से पहले, आप किसी भी ऐसे इंसान से पूछना जो HR department में हो या किसी सीनियर पोजीशन पे, जिसने कभी किसी के interviews लिए हों तो अगर recruitment के अंदर 20 qualities देखि जाती है तो उनमें से Confidence सिर्फ एक है। सब कुछ नहीं हैं।


 किसी के अंदर confidence तो बहुत है skills ही नहीं हैं, किसी के skills है, experience नहीं हैं ! Experience है, Attitude नहीं हैं ! कुछ भी हो सकता है जिसकी वजह से आपको नौकरी ना मिले। मतलब की वो नौकरी मिलना या ना मिलना आपके हाथ में है ही नहीं।


 और इस चीज को हम जितनी जल्दी समझ जाये उतना ही अच्छा है हमारे लिए, तब हम प्रॉब्लम का सलूशन निकाल सकते हैं। जो चीज हमारे हाथ में है ही नहीं उसके बारे में हम सोचते रहेंगे तो क्या होगा एक imagination create होंगी जो again आपके हाथ में नहीं हैं। क्यूंकि उसकी जड़ ही ख़राब है। Foundation ही ख़राब है।


 तो करना क्या है अपने फायदे से हट जाओ, आपको क्या चाहिए नौकरी चाहिए ! भूल जाओ अपनी नौकरी को, भूल जाओ अपने फायदे के बारे में ! उस Company के फायदे के बारे में सोचो ! उस company के लिए आप क्या अच्छा कर सकते हो उसके बारे सोचो !

- ये है Realistic Positive Thinking.


How to Prepare for Job Interview ?


How to Prepare for Job Interview ?

 जिस company में interview देने के लिए जा रहे हो, अब आप कुछ ऐसा करने जा रहे हो जो बाकि के 100 लोग नहीं कर रहे हैं ना करेंगे। बाकि के जो 100 लोग है वहां पर वो भी नौकरी मांगने के लिए आ रहे हैं।

आप क्या कर रहे हो आप नौकरी मांगने के लिए नहीं जा रहे। उस कंपनी के study कर रहे हो, देख रहे हो उस कंपनी के products और services क्या हैं, उसकी website को monitor कर रहे हो, जो job profile आपकी जिसके लिए आपको बुलाया जा रहा है उसको study कर रहे हो, उसको समझ रहे की किस तरह की role आपको दी जाने की बात कर रही है और अपनी strength की according आप देख रहे हो कि उस Job Profile में आप किस तरह से fit हो सकते हो, क्या ऐसा कर सकते हो जिससे कि उस company का कुछ फायदा हों। ये सब चीजें आपको बोलने की जरुरत नहीं हैं, अगर ये सब आपने research ही कर ली और माइंड में जाकरके बैठ गया तो आपकी आँखों की अंदर ये सब चीजें ऑटोमेटिकली नजर आएंगी सामने वाले बंदे को।


 मतलब आप कहाँ Goal setting कर रहे हो, कहाँ काम कर रहे हो, वो काम जो अभी करना हैं। और जब आप Job Interview देने के लिए जा रहे हो, जब उस कमरे में enter करने वाले हो, तो आप क्या सोच रहे हो। देखो वहां पे जो बाकि के लोग हैं, वो दो ही चीजें सोच सकते हैं, या वे डरे हुए होंगे ज्यादा से ज्यादा लोग वहां पर, कि पता नहीं मुझे मिलेगी या नहीं मिलेगी ......, ये सब बकवास है, जिसके अंदर पहले ही इतना डर आ गया उसको Job मिलने chances वैसे ही कम हो गए।


 दूसरे कुछ लोग सोचेंगे अरे ये job तो मुझे ही मिलेगी, मुझे ही मिलेगी........., क्यों मिलेगी कोई वजह ही नहीं हैं। तो फिर आप क्या कर रहे हो उस समय, आप वहां पर बैठ करके बड़े ठंडे दिमाग से ना ये सोच रहे हो की नहीं मिली तो क्या होगा, ना ये सोच रहे हो मिल गयी तो क्या होगा, बड़े आराम से अपने अंदर अंदर बोल रहे हो कि भाई मैं जितना research कर सकता था इस कंपनी के बारे में वो मैंने करि, जितना रिसर्च कर सकता था इस job प्रोफाइल के बारे में वो मैंने करि, जितना मैं effort डाल सकता था उतना मैंने डाला इस job इंटरव्यू के लिए अपना 100% लगाया, पूरी तैयारी के साथ आया और अंदर जा करके भी अपनी पूरी तैयारी के साथ बोलने वाला हूँ जो भी वो पूछने वाले हैं।


 उसके बाद में अगर मुझे नौकरी मिली तो अच्छा है मेरे लिए भी और उस कंपनी के लिए भी, क्यूंकि मैं सिर्फ Job इंटरव्यू में ही अपना 100% नहीं दूंगा भाई, जब ये Job मुझे मिलेगी न अपने काम में भी अपना जान लगा दूंगा। 100% दूंगा।


 और ये चीजें आपको बोलने की जरुरत नहीं पड़ेगी, जब आप वहां बैठे रहोगे न आपकी आँखों में दिख रही होंगी। ये चीजें decide करेगी की नौकरी आपको मिलेगी या किसी और को मिलेगी।


और दूसरी तरफ आप सोच रहे होंगे कि अगर मिली मतलब मिल गयी तो अच्छा है मेरे लिए भी और उस कंपनी के लिए भी और अगर नहीं मिली तो मेरे लिए तो बहुत अच्छा है लेकिन बेचारी कंपनी का नुकसान हो गया। इनको पता ही नहीं है इन्होने क्या खो दिया। भाई मैंने तो काम करना था इस कंपनी में, मैं काम करने के लिए Join कर रहा था, धोखा देने के लिए नहीं।


 और जब ये ईमानदारी आपकी आँखों में दिखना शुरू हो गयी तो आपको सिर्फ job ही नहीं मिलेगी, जो किसी को भी मिल सकती है, उस company में promotions भी मिलती चली जाएगी भाई। यहाँ आपका Foundation strong है। नींब मजबूत है, आप हवाई महल खड़ा नहीं कर रहे हैं। आप सीधी सी बात कह रहे हो कि job इंटरव्यू है मुझे आज क्या करना है - job interview की तैयारी करनी है।


 Interview दिया नौकरी मिली बहुत बढ़िया है मिलेगा ही। थोड़ी देर तक खुश होना है जितनी देर तक मन कर रहा है, पार्टी करनी है कर ली एन्जॉय करना है कर लिया, मिठाई खिलाना है खिला दिया, अब क्या करना है, अब बैठना नहीं है, नौकरी मिल तो अब लाइफ set है, ऐसा बहुत सारे लोगों का Attitude होता है। नहीं Job मिल गयी तो यहाँ ही आपका काम खत्म नहीं होता, लाइफ तो आगे चली जा रही है, उस कंपनी में तो बहुत सारे काम करना पड़ेगा, अगर नहीं करोगे तो आपकी नौकरी फिर से जा भी सकती है न।


 अब आपको अपना 100% लगाना है उस कंपनी के अंदर। आप को ये सोचना चाहिए की जब तक इस काम को मैं इस हद तक कर नहीं लेता, जिस हद तक कोई सपने में भी करने का नहीं सोच सकता, जब तक इस काम को मैं इतने परफेक्शन के साथ नहीं कर लेता, इस काम में मैं excellence achieve नहीं कर लेता, तब तक मैं रुकने वाला नहीं हूँ भाई। तो आपको job मिलने के बाद promotion होनी ही होनी है। आगे बढ़ना ही बढ़ना है।


Conclusion -

 अगर किसी वजह से आपको निकाल भी दिया उस कंपनी से तो आपको डर नहीं होगा। क्यूंकि आप एक पक्के खिलाड़ी होंगे। आपको विश्वास होगा और वो विश्वास अंधविश्वास नहीं होगा की मैं ये कर सकता हूँ मैं वो कर सकता हूँ। विश्वास इसलिए होगा क्यूंकि आप उस काम के पक्के खिलाडी हो, चाहे वो सिंपल सी एकाउंटिंग की job है।


 यहाँ जो कुछ भी मैंने कहाँ वो सब काम के बारे में हैं कि अगर आपका focus हमेशा काम पे रहा तो क्या होगा आप एक परफेक्ट अकाउंटेंट बन गए, वो कंपनी बंद भी हो गयी आप किसी दूसरी कंपनी में भी गए वो confidence आपकी आँखों पे नजर आएगा। आप जा करके बोलोगे मुझे कोई सैलरी मत देना एक महीने के लिए मेरा काम देखो और अगर काम पसंद ना आये तो मुझे जाने के लिए बोलना। आप बोल ही नहीं सकते मुझे जाने के लिए, काम तो देखो मेरा !


 क्या आपमें है इतनी ताकत ये बोलने की, है इतना confidence बोलने का, वो कहाँ से आएगा ! - वो हवाई confidence से नहीं आएगा, वो किसी अंधविश्वास से नहीं आएगा, वो आएगा विश्वास से जो Based होगा आपकी Knowledge के ऊपर, आपकी Experience के ऊपर, आपकी Excellence के ऊपर, आपकी जूनून के ऊपर, आपकी जज्बे के ऊपर। उस काम को करने का Perfection, अगर आप किसी छोटे से छोटे काम में Excellence Achieve कर गए न भाई, लोग तो ढूंढते हुए आएंगे आपके पास, कोई जाने नहीं देगा आपको अपनी कंपनी से, कोई नहीं निकलेगा आपको।


मतलब अगर आप इस रास्ते पर चले तो आपको नौकरी मिलना secure नहीं हैं, आपकी पूरी की पूरी Life Secure है।


 तो दोस्तों आज का हमारा यह Motivational speech Job Interviews के लिए Ready होने का टिप्स आपको कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और मुझे ये भी बताये की आप कौनसी Job के लिए Try कर रहे हैं Government Job या Corporate Job. क्या ऐसी Article आपको और चाहिए मुझे जरूर बताये।

 इस Motivational speech Job Interviews के लिए Perfect होने का टिप्स अपने दोस्तों के साथ Share जरूर करें।


और Motivational Speech पढ़ें -

  1. Inspirational Story in Hindi - Success Tips
  2. Hindi Story - एक व्यक्ति को सफलता का रहस्य मिलने की एक कहानी
  3. Best Inspirational Quotation in Hindi - ये प्रेरक बातें आपकी जिंदगी बदलने के लिए काफी है
  4. Sandeep Maheshwari Speech - Be Fearless
  5. जिंदगी की गाड़ी का Fuel - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  6. पढ़ो और आगे बढ़ो और पढ़ो - Students के लिए Best Study मोटिवेशन हिंदी में
  7. Motivational Speech - जो पाना चाहते है वो कैसे मिले
  8. 4 Steps to Overcome Failure in Your Life - Sandeep Maheshwari Motivational Speech
  9. How to be Happy Always - Motivational Speech in Hindi
  10. How to Overcome laziness in Hindi - by Sandeep Maheshwari
  11. आज में जीना सीखो - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  12. Sandeep Maheshwari Thoughts - How To Stay Motivated All The Time
  13. Sandeep Maheshwari Motivational Speech - How to Learn From Everyone
  14. Sandeep Maheshwari Speech - Confident Body Language Tips in Hindi
  15. Sandeep Maheshwari Speech - 3 Best Easy Steps For Absolute Focus in Hindi
  16. Listen To Your Heart - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  17. Be Powerful - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  18. How to Increase Your Intelligence - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  19. Sandeep Maheshwari Speech - How to Overcome Fear in Hindi
  20. Feelings Are a Temporary - Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi
  21. Tips of Success in Hindi - Just do it motivational speech in Hindi


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,


Wish You All The Very Best.

logoblog

Thanks for reading Sandeep Maheshwari Motivational Speech in Hindi - खुद को Job Interview के लिए Perfect कैसे बनायें ?

Previous
« Prev Post

2 टिप्‍पणियां: