What is Aura in Hindi ? Aura Kya Hota Hai ? – Explained in Detail

Aura Kya Hota Hai – Hello दोस्तों, आज मैं आपको बताने वाला हूँ Aura के बारे में कि Aura क्या है, ये काम कैसे करता है और क्या हम अपनी और दुसरो की Aura को देख सकते है ?


 अगर आपको इन सबके बारे में जानना है तो आप ये Article आगे पढ़ सकते है।

What is Aura in Hindi ? Aura Kya Hota Hai ? Explained in Detail – क्या हम अपनी और दुसरो की Aura को देख सकते है ?




What is Aura in Hindi ? Aura Kya Hota Hai ?

 ये Aura शब्द Trending तब आया, जब अक्षय कुमार और रजनीकांत जी की Film Robot 2.0 आयी।


 इससे पहले ज्यादातर लोग इस शब्द के बारे में नहीं जानते थे।


Aura को हिंदी में आभामंडल कहा जाता है।


Aura दीखता कैसा है – देखिये इस दुनिया में जितने भी चीजे है, जिन्हें आप पदार्थ कहते है, दरअसल वो ऊर्जा है।


 यानी आप किसी भी चीज के गहराई में जायेंगे, तो आपको finally जो हाथ में लगेगा, वो केवल ऊर्जा होगी।


 इसीलिए तो आज विज्ञान भी कहता है, कि पूरा अस्तित्व केवल ऊर्जा है।


 आप अपने आसपास जितनी भी चीजे देखते है, उन सभी चीजों के आस-पास ऊर्जा का एक क्षेत्र होता है, एक घेरा होता है, और इस ऊर्जा का एक आकार होता है।


 हालांकि ये ऊर्जा का आकार भौतिक नहीं होता, आप इसे अपनी आम आँखों से नहीं देख सकते।


 लेकिन फिर भी अलग अलग रंगो की कुछ परत होती है, जिसका एक अपना ही Design होता है, जो हर वस्तु और इंसान के आस-पास होती है। इसी को Aura कहते है।

क्या आप अपने या और किसी के Aura को देख सकते है ?

 हाँ, आज के इस आधुनिक समय में इसे Electromagnetic field के रूप में देखा जा सकता है, जो की हर हर व्यक्ति या वस्तु में होता है।
 
 इसे वैज्ञानिक तौर पर भी Proof किया जा सुका है।
 
 मजूदा समय में अभी हमारे पास में एक ऐसी Technology है, जिससे की किसी के Aura को देखा जा सकता है, और उस Technology का नाम है – Kirlian Photography.
 
 Kirlian Photography के technique से और को capture किया जा सकता है।



 अब देखिये हमारे पास में Kirlian Photography के technique नहीं है, तो हम अपने या और किसी के Aura कैसे देख सकते है ?


 दोस्त ये भी Possible है।


 इसके लिए आपको अपनी अवचेतन मन की शक्ति को जगाना होगा।


 आपके अवचेतन मन कि शक्ति से आप किसी के भी Aura का pattern देख सकते है। कि उसका Aura किस pattern में है।


 तो इसके लिए आपको Meditation करना होगा।


 आपको अपनी भीतरी खोज करनी होगी। जब आप भीतरी खोज में सक्षम हो जाते है, तो आपका Aura Strong हो जाता है, और आप दूसरे का भी Aura देख सकते है।

Aura


Aura का Uses क्या है ?

 तो देखिये कि प्रकृति की दी हुई कोई भी चीज यूँ ही नहीं होती, हर एक चीज का इस्तेमाल होता है, ऊर्जा का ये क्षेत्र आपको Protect करता है।
 
 जिस तरह से कोई इंसान Self defense के लिए हथियार रखता है, या कभी कभी इसका इस्तेमाल भी करता है, अपने आपको बचाने के लिए।
 
 उसी तरह से प्रकृति ने ऊर्जा की कुछ परतो से आपको Protect किया है।
 
 अगर आपका Aura अच्छा है, Strong है, तो आप Negative ऊर्जा से बचे रहेंगे।
 
 Negative Energy(ऊर्जा) कई तरह की होती है – अगर आपके दिमाग में गलत विचार आते है तो ये negative ऊर्जा है।
 
 या आप भुत-प्रेतों पर विश्वास करते है, तो वह भी एक Negative ऊर्जा है।
 
 ऐसी कोई भी Negative ऊर्जा आपके आभामंडल को भेद नहीं सकती। अगर आपका आभामंडल बहुत ही Strong है।
 
 तो इसे समझने के लिए आपको हिन्दू धर्म के देवी-देवताओं को देखना होगा, सभी भगवानों को Photos या Calendars में आपने देखा होगा की सभी भगवानों के सर के पीछे एक सूरज जैसा गोला बना होता है, जिसमें से रौशनी निकल रही होती है।

Lord Ganesh

 

 उसे ज्ञान की रौशनी कहते है। वो Aura का ही प्रतिक है।
 
 अगर आप किसी Enlighten Person का Aura देख सके, तो उसका Aura बिलकुल वैसा ही दीखता है जैसा Calendar या Photos में भगवान को दिखाया जाता है। Energy से बनी एक खूबसूरत Shape.



 भगवन बुद्ध को जब ज्ञान हुआ था, तो ज्ञान होने से ठीक पहले ही उनके साथी उनको छोड़ कर चले गए थे, क्यूंकि भगवान बुद्ध ने भोजन कर लिया था।


 उनके साथियों ने कहा कि इन्होने अपनी तपस्या भंग कर ली है, अब बुद्ध हमारे group में रहने लायक नहीं है।


 तो उनके साथियो ने उनका साथ छोड़ दिया था, और वो चले गए।


 लेकिन जैसे ही भगवान बुद्ध को ज्ञान हुआ, और वो लौटे तब भगवन बुद्ध के उन्हीं साथियों ने बुद्ध को आते हुए देखा।


 बुद्ध को दूर से देखते ही उनके वह साथी उन्हें कोसना चाहते थे, लेकिन जैसे जैसे भगवान बुद्ध उनके पास आते रहे, उनलोगो के मन के विचार बदलते रहे।


 उनका वो तेज बुद्ध के साथी देख पा रहे थे, क्यूंकि उन्होंने भी कुछ साधना की ही थी, जिससे वो भगवान बुद्ध का Aura देख पा रहे थे।


 वो तेज, वो चमक इसी को Aura कहते है और ऊर्जा का ये Field आपके साथ ही रहता है। जहा जहा आप जाते है वहां वहां ये भी आपके साथ जाते है।




 Aura आपके आकार जैसा ही होता है। और आपके आसपास चाहे कितने भी लोग क्यों ना हो उन सबको Positive Energy देता है।


 तो दोस्त Aura के बारे में मुझे जितना पता है उतना मैंने आपको बता दिया है और अगर आप इससे ज्यादा कुछ जानते है तो मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये, मुझे जानना है की कौन कौन लोग इसके बारे में क्या क्या जानते है।

 तो आपको आज का हमारा यह Article (What is Aura in Hindi ? Aura Kya Hota Hai ?) कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस Article (What is Aura in Hindi ? Aura Kya Hota Hai ?) को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करे।

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,
 
Wish You All The Very Best.

Leave a Comment