Blog Kis Topic Par Banaye? | ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाये ? (Definitive Guide)

क्या आपके मन में भी यह सवाल आया है कि Blog Kis Topic Par Banaye – Hello दोस्तों, आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम बात करने वाले हैं बहुत ही एक important क्वेश्चन के बारे में जोकि आपके जैसे काफी सारे नए ब्लॉगर मेरे से पूछते ही रहते है की सर नए ब्लॉगर को ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाना चाहिए।

तो आपको easily सारी बातें समझा दूंगा, चलिए शुरू करते हैं –

Blog Kis Topic Par BanayeBlogging Niche for Beginners

दोस्तों सबसे पहले आपको बता दूँ की इंटरनेट की दुनिया में किसी टॉपिक को Niche बोला जाता है, तो मैं जो बताऊंगा उसमें टॉपिक के जगह Niche शब्द का यूज़ करूँगा।

अब ब्लॉग किस Niche पर बनाना चाहिए – इसका दो मेजर पॉइंट्स है।

  • पहला मेजर पॉइंट है – Interest
  • दूसरा मेजर पॉइंट है – Market Research

Interest + Market Research = Successful Blog

Interest-Based Blog

अगर आपको किसी भी पर्टिकुलर फील्ड में नॉलेज है। और आप चाहते हो की आपके नॉलेज को पूरी दुनिया के साथ शेयर करो, लोग आपके बारे में जान पाए और साथ ही साथ आपकी थोड़ा बहुत कमाई भी हो जाये।

तो आपको शुरुवात में इंटरेस्ट बेस्ड ब्लॉग ही बनाना चाहिए।

अगर आपका किसी पर्टिकुलर चीज में इंटरेस्ट होगी ना तब आप उस के साथ Longterm तक ब्लॉग्गिंग कर पाएंगे। भले ही आपकी earning हो रही हो या आपकी earning ना हो रही हो।

लेकिन ऐसा तो होगा ही नहीं की किसी चीज में आप काम कर रहे हो, काफी लम्बे समय तक काम कर रहे हो, काफी मेहनत कर रहे हो, और आपको उस चीज मजा भी आ रहा है, तो भले ही कुछ लोग आएंगे, लेकिन आप उससे कुछ कमाई तो कर लोगे ही।

मान लीजिये कोई एक ऐसा niche हो गया जिसमें बहुत कम ऑडियंस है, तो ऐसा नहीं आपको सर्च वॉल्यूम के पीछे भागो जाकरके।

कौनसी Keywords ढूंढे ?

आप ऐसे कीवर्ड्स को ढूंढो आपके इंटरेस्ट बेस्ड Niche के ऊपर, जिसमें सिर्फ महीने का 100 ही Search Volume हो, लेकिन competition zero, और आपने ऐसा कुछ 100 कीवर्ड्स ढूंढ लिया और तब देखता हूँ, 6 महीने से 1 साल के अंदर आपको ब्लॉग्गिंग में सक्सेसफुल होने से कौन रोक सकता है।

  • Search Volume – 100
  • Competition – 0 or 1
  • CPC – कोई फर्क नहीं पड़ता
  • Total Keywords – Approx 100

आपको तो 100 से ज्यादा low competition keywords मिल ही जायेंगे।

My Calculation –

100 × 100 = Search Volume × Total Keywords = 10000 Searches

इनमें से आपको अगर 5000 ट्रैफिक भी मिले तो कम है क्या स्टार्टिंग के 2-3 महीने?

तो अब जब आपने ऐसे कीवर्ड्स के ऊपर काम करके Google के Top पोजीशन पर ब्लॉग पोस्ट को रैंक करा लिया तो अब धीरे धीरे आप थोड़ा ज्यादा Search Volume वाला कीवर्ड्स को रिसर्च करो। Approx – 1000 से 2000

धीरे धीरे और भी ज्यादा Search Volume कीवर्ड्स के ऊपर ब्लॉग पोस्ट लिखिए, ऐसे ऐसे आगे बढ़ते जाइये।

Niche के प्रकार (Types of Niche)

Basically Blogging Field में 5 Types के Niche होते हैं –

  • Multiple Niche
  • Broad Niche
  • Single Niche
  • Micro Niche
  • Nano Niche

Multiple Niche

Multiple Niche का मलतब है कि आपने एक ब्लॉग बनाया उसमें Multiple अलग अलग categories के बारे में ब्लॉग पोस्ट लिख रहे हो।

यानी एक ही ब्लॉग पर बहुत सारे Niche को कवर कर रहे हो, जो आज के टाइम पर नहीं चलता है, जब मैंने ये ब्लॉग शुरू किया था तब तो Broad Niche or Multiple Niche ब्लॉग ही चलता था।

तो आपको ऐसा नहीं करना है, यानी एक ब्लॉग Multiple Niche पर ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखना है।

Broad Niche

Broad Niche का मतलब एक बहुत बड़ा Topic. और उसके ऊपर आप ब्लॉग बना रहे हैं।

इसमें Competition High है, फिर भी अगर आप Unique तरीकेसे काम करेंगे तो सक्सेसफुल बनने के चान्सेस है।

जैसे अगर आप Technology पर काम करना चाहते हैं तो अगर आप स्मार्टफोन, लैपटॉप, गैजेट्स, etc. के बारे एक ही ब्लॉग साइट पर लिखने लगेंगे तो आपको कभी सक्सेस नहीं मिलेगा।

लेकिन अगर आप टेक्नोलॉजी पर ही काम करना चाहते हैं और आप How to Guide लिखना चाहते हैं तो आपको सक्सेस मिल सकता है। जैसे How to Setup iPhone 13 etc.

Single Niche

Single Niche का मतलब है एक Broad Niche के अंदर से एक केटेगरी पर काम करना। जैसे अगर आप Technology के बारे में लिखना चाहते हैं तो आपको टेक के अंदर किसी एक केटेगरी पर काम करना चाहिए यानी मान लीजिये Laptops.

आप सारे Laptops के details लिख सकते हैं और इसमें सक्सेस मिलने चान्सेस ज्यादा होते हैं।

Micro Niche

दोस्तों Micro Niche का मतलब है एक Single Niche के अंदर का Niche, जैसे Technology एक Broad Niche है, और उसके अंदर Lifestyle Gadgets एक Single Niche है और इसके अंदर Smartwatch एक Micro Niche है।

या Laptops एक Single Niche है और उसके अंदर Laptop Accessories एक Micro Niche है।

और इसमें सक्सेस मिलने चान्सेस बहुत ज्यादा है। क्यूंकि इसमें आप एक Specific केटेगरी के ऊपर ही ब्लॉग बना रहे हो।

Nano Niche

Nano Niche का मतलब है Micro Niche के अंदर का टॉपिक। यानी जैसे Laptop Accessories एक Micro Niche है तो उसके अंदर सिर्फ Keyboard या Gaming Keyboard एक Nano Niche है।

या Laptop Accessories के अंदर Gaming Mouse एक Nano Niche है।

या फिर किसी एक कंपनी के ही Gaming Mouse के बारे में आप लिखेंगे तो उसको Nano Niche बोला जायेगा।

Nano Niche में सक्सेसफुल होने के चान्सेस सबसे ज्यादा है।

Focused Only Micro or Nano Niche

दोस्तों अगर आपके ब्लॉग किसी एक पर्टिकुलर Micro or Nano Niche के ऊपर है और Low Search Volume होने के बावजूद भी टार्गेटेड Traffic आने लगे तो आप बहुत सारे तरीके से एक अच्छा अमाउंट निकाल सकते हो।

अगर आपके पास 10000 का भी monthly ट्रैफिक आने लगे तो आप वहां से Affiliate Marketing के जरिये बहुत ही अच्छा इनकम कर सकेंगे।

लेकिन ज्यादातर नई ब्लॉगर ये गलती करते हैं की बहुत ज्यादा Search Volume वाला कीवर्ड्स ढूंढते हैं। जिसके वजह से उनकी ब्लॉग की एक पोस्ट भी गूगल के टॉप पर रैंक नहीं करते हैं।

और बाद में रोते रहते हैं।

आपके पास चाहे 5k का ट्रैफिक आता हो, लेकिन उन सभी के साथ आपने ट्रस्ट बिल्ड कर लिया ना तब अगर उन्हें आप कोई बढ़िया चीज रेकमेंड करोगे तो वो लोग आपके एफिलिएट लिंक से जाकर उन चीजों को खरीदेंगे ही।

क्यूंकि Micro or Nano Niche based ऑडियंस जो होती है वो बहुत ही ज्यादा एक्टिव और High Conversion वाली ऑडियंस होती है और बहुत ही ज्यादा Premium और Accurate Audience होती है।

तो मतलब जिस चीज में आपको काम करने में मजा आता हो, लिखने में मजा आ रहा हो, उस चीज के बारे में बात करने में आपको मजा आ रहा हो उसके साथ शुरुवात करें।

जैसा की मैंने ऊपर आपको Micro or Nano Niche के Example दिया है वैसे ही आपके फेवरेट Niche पर Micro or Nano Niche फाइंड कीजिये और उसपे सिर्फ 6 months से लेकर 1 साल दीजिये, आपको जरूर सक्सेस मिलेगा।

Niche Idea

Broad NicheSingle NicheMicro Niche (Low Competition)Nano Niche (Low Competition)
TechnologyLaptops, smartphones, GadgetsLaptop Accessories/ Smartphone Accessories/Smartwatch/Smartband/CameraKeyboard/Mouse/iPhone Charger/Mobile Cover/Mi Band/Amazfit Smartwatch/Action Camera
HealthWomen Health/Men Health/Kids Health/Baby HealthYoga/Meditation/Pranayama/Stress/Pregnant Women Guide/Reproductive Health/Weight Loss/Anti-aging/Digestive Health/Skin Care/Fatigue/Healthy EatingBlood Pressure/Diabetes/Back Pain/Back Pain/Headache/Zen Meditation/Yoga for Pregnant Women/Guided Meditation/Vipassana Meditation/Mindfulness/Keto Diet
FinanceFinancial Planning/Personal Finance/Investing/Insurance/Loan/SavingsBudgeting/Trading/Health Insurance/Life Insurance/Car Insurance/Bike Insurance/Term Life Insurance/Credit Card/Retirement Plans/Home Loan/Car Loan/Personal Loan/Fixed Deposit/Stock Market/Mutual FundLIC/Postal Life Insurance/Kotak Life Insurance/SBI Home Loan/Instant Personal Loan/Mutual Fund on Grow/SBI Fixed Deposit
Only Focus on Micro and Nano Niche

ब्लॉग्गिंग में मेरा एक्सपीरियंस

अगर मैं मेरे बारे में बात करूँ तो मुझे Personality development और motivation और meditation और plantation के ऊपर काम करने में बहुत मजा आता है और इसमें मेरा 6 साल से ज्यादा का एक्सपीरियंस हो चूका है।

तो इसलिए आपको ब्लॉग्गिंग के बारे में बता रहा हूँ। और ब्लॉग्गिंग सीखाते हुए मुझे बहुत मजा आ रहा है आपको और अच्छी कमाई भी हो रहे हैं।

इस ब्लॉग में तो मैंने 2 साल तक कोई एक रूपए भी नहीं कमाया था, फिर भी लगा रहा, उस टाइम मुझे मोटिवेशनल स्पीच, पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स, मैडिटेशन etc. के बारे में लिख कर मजा आ रहा था और इसलिए मैंने 2 साल बिना पैसों के भी लगा रहा। और आज महीने का लाखों ट्रैफिक आते और कमाई भी अच्छे होते हैं।

Adsense और Ezoic को मिलाकर तो Approx $800-1000 आते हैं, लेकिन Affiliate Marketing और My Own Products से उसका 10 गुना ज्यादा आता है।

आज के टाइम में मेरे पास 7 Successful Blogs है।

आजकल लोग ब्लॉग्गिंग के फील्ड में आते हैं और CPC और High Search Volume Keywords को देख कर काम करते हैं।

मैंने जब शुरू किया तब ना तो मैंने CPC देखा और ना ही Search Volume देखा बस कीवर्ड्स ढूंढा, Google Keyword Planner से और काम करना शुरू कर दिया और देखते ही देखते लोग आने भी लग गए थे Google से Organically.

अगर ब्लॉग्गिंग की शुरुवात में ही आपके किसी इंटरेस्ट बेस्ड Niche के ऊपर काम करते हो तो आप उसे बहुत लम्बे समय तक आगे लेके जा सकते हो बिना डिमोटिवेट हुए।

अगर आप ऐसा काम कर रहे हो जिसमें आपको मजा आ रही होगी, तो आप अपने जीवन के हर पल को एन्जॉय करोगे।

और वही अगर ऐसा काम कर रहे हो जिसमें आपको उसको देख के ही पहाड़ जैसा लग रहा है तो आपको हर दिन डिस्ट्रक्शन ही मिलेंगे। काम कर ही नहीं पाओगे आप।

इसलिए इंटरेस्ट बेस्ड ब्लॉग ही शुरू करे शुरुवात में ताकि आप ब्लॉग्गिंग को लम्बे समय तक कर पाओ और आपको ये भी पता होना चाहिए की ब्लॉग्गिंग कोई quick सक्सेस वाली चीज नहीं है।

कि आपको 6 महीने में या 1 साल में सक्सेस मिल ही जायेंगे, लाखों रूपए कमाने लगोगे।

अब जब आपका ब्लॉग्गिंग फील्ड में 1 या 2 साल हो तब कौन सी Niche पे ब्लॉग बनाये। क्यूंकि आपने ब्लॉग्गिंग basic से इंटरमीडिएट लेवल तक पहुँच गए और आपको लगभग जानकारी मिल गयी कैसे गूगल में ब्लॉग पोस्ट रैंक करवाते हैं। कैसे Monetized करना है ब्लॉग को, SEO कैसे करते हैं etc.

आप जो इंटरेस्ट बेस्ड ब्लॉग चला रहे हो उसको चलाते रहना।

ब्लॉग्गिंग में धैर्य बहुत जरुरी है, बिना धैर्य के आप कभी भी ब्लॉग्गिंग में सक्सेसफुल नहीं हो पाओगे।

Market Research Niche

जब आपके ब्लॉग्गिंग में 1 या दो साल हो गए, अब आप मार्किट रिसर्च के हिसाब से ब्लॉग बनाओ।

ऐसी चीजों में काम करो जिसमें एक्चुअली में Search Volume ज्यादा हो, High CPC, High RPM मिला हो, कम्पटीशन भी Low या Modarate हो।

High Commision Affiliate प्रोग्राम ज्वाइन करो और उसमें काम करना स्टार्ट कर दो।

Market के हिसाब से keywords कैसे रिसर्च करेंगे ?

आपको मैं रेकमेंड करूँगा Ahrefs या Semrush Tool को खरीदो, आपको group buying seo tools वेबसाइट seotooladda जो मैं खुद यूज़ करता हूँ उसपर जाकर महीने का सिर्फ 300 रूपए देकर उसको खरीदना है।

उसमें बड़े बड़े वेबसाइट को Analyze करें, जैसे Flipkart, Amazon, News Site, Finance site etc.

उसमें जो low competition keywords दिखाते हैं, CPC भी High मिलता है, High Search Volume है उन कीवर्ड्स को फाइंड करके आपको उस पर ब्लॉग बनाना है।

Niche According to Market Research (High CPC + High Competition) –

  • Insurance
  • Loans
  • Real State
  • Mortgage
  • Attorney
  • Credit
  • Lawyer
  • Donate
  • Degree
  • Hosting
  • Claim
  • Tech
  • Health

दोस्तों ये बहुत ही High Competative Niche, इसलिए इन टॉपिक्स के ऊपर ब्लॉग बनाने से पहले अच्छे से रिसर्च करना बहुत जरुरी है।

इन Niche के Affiliate Marketing में तगड़ा Income होता है।

Conclusion

अगर आप बिलकुल नए हो ब्लॉग्गिंग फील्ड में तो अपने Interest के हिसाब से ब्लॉग क्रिएट करो।

जब आप एक इंटरमीडिएट लेवल पर आ जाते हो, एक-दो साल का एक्सपीरियंस हो जाये, उसके बाद मार्किट रिसर्च के हिसाब से ब्लॉग क्रिएट करो।

आपको ऐसी Niche के ऊपर काम करना जिसमें आपकी इनकम बढ़ने लगे।

दोस्तों आज के टाइम में Blogger Platform में ब्लॉग मत बनाना, सक्सेस मिलने में 5-6 साल लग जाते हैं।

WordPress is the Best CMS.

तो शुरुवात से ही अगर आप धीरे धीरे आगे बढ़ते रहो और Consistently काम करते रहोगे, तो 2 साल के बाद भी आपको सक्सेस जरूर मिलेगा।

आज के टाइम में ब्लॉग्गिंग में बहुत कम्पटीशन बढ़ चूका है, तब भी जो pateince और Consistency के साथ और सही स्ट्रेटेजी के साथ ब्लॉग्गिंग करते हैं तो भले ही उसको 2-3 साल लग जाये, लेकिन एक दिन सक्सेस उसको जरूर मिलता है।

ब्लॉग्गिंग आपसे टाइम मांगता है, अगर दे सके तो सक्सेसफूल और नहीं दे सके तो फ़ैल।

दोस्तों शुरुवात में एकदम से अपना जॉब मत छोड़ो ब्लॉग्गिंग करने के लिए, जब आपको लगता है की अब ब्लॉग्गिंग से जॉब की तरह पैसा मिल रहा है तब जॉब को छोड़ सकते हो, ब्लॉग्गिंग को फूल-टाइम ले सकते हो।

अगर आप कोई जॉब नहीं कर रहे हो तब तो कोई बात नहीं, आप ब्लॉग्गिंग को Full Time करियर ले सकते हो।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

सम्बंधित लेख –

Leave a Comment