क्या Firstcopy Products बेचना Legal है?

Hello दोस्तों, हममें से ज्यादातर लोग इंडिया में firstcopy प्रोडक्ट्स खरीदना पसंद करते है, इस मार्किट की बढ़ती डिमांड के चलते लोग इस बिज़नेस में कदम बढ़ाना चाहते है।

इसकी डिमांड दिन व दिन बढ़ती ही चली जा रही है, क्यूंकि एक ऑरिजिनल प्रोडक्ट्स जो शोरूम में मिलता है, उससे कई गुना कम प्राइस में firstcopy प्रोडक्ट्स हमें मिल जाता है।

तो लोग भी सोचते है की वे भी यह बिज़नेस करेगा तो उनके मन में यह सवाल आता है कि क्या फर्स्टकॉपी चीजें बेचना या खरीदना India में लीगल है आइये जानते है इस पोस्ट में।

Is Firstcopy Products Business Legal or Not in India?

Firstcopy product kya hai?

Same दिखने वाली प्रोडक्ट्स और क्वालिटी भी same होने वाली प्रोडक्ट्स कुछ छोटी सी गड़बड़ के कारण कंपनी से वे प्रोडक्ट्स रिजेक्ट कर देते है और वही प्रोडक्ट्स मार्किट में sell होते है उसी प्रोडक्ट्स को Firstcopy बोलते है।

जैसे कोई shoes है, तो अगर उसमे sole के डिज़ाइन में थोड़ा कमी रह गयी है तो उस शूज को कंपनी के प्रोडक्ट मैनेजिंग टीम उसको रिजेक्ट कर देता है।

या मान लीजिये कोई टीशर्ट है, उनमें कुछ कमी रह गयी है, सिलाई वगैरह की तो कंपनी वो प्रोडक्ट्स रिजेक्ट कर देता है, और मार्किट में किसी व्होलसेलर को कम दाम में बेच देता है।

है तो वो same ही products, जैसे Nike, Reebok etc की ऑरिजिनल प्रोडक्ट्स है वही है, लेकिन firstcopy प्रोडक्ट्स में कोई कमी रह जाती है। वो 100 में से 100 नहीं होते है, सिर्फ 80 या 90 होता है और इसलिए वो प्रोडक्ट्स रिजेक्ट हो जाता है।

और उसी प्रोडक्ट्स को हम मार्किट में बहुत ही कम दामों में खरीदते है या बेचते है। तो अब बात करते है Firstcopy business के बारे में। (Legal or Not)

क्या Firstcopy Products बेचना Legal है?

इंडिया में Firstcopy प्रोडक्ट्स बेचना बिलकुल भी लीगल नहीं होते है।

लेकिन हम इंडियंस की एक आदत होती है ना जो चीज नहीं होती उसका कुछ न कुछ सलूशन निकालते है।

या फिर कही न कही से वो एक जगह खोज लेते है जहाँ से वो प्रोडक्ट्स को बेच सके।

वैसे ही इंडिया पे Firstcopy प्रोडक्ट्स Social Commerce पर बेचते है।

Instagram पर बेचते है या WhatsApp पर बेचते है।

इसमें एक Research के according 80% इंडियन Shops में ज्यादातर चीजें Firstcopy प्रोडक्ट्स होती है।

लेकिन इसमें वो Particular Brands क्यूँ कुछ नहीं करते ?

क्यूंकि Brands की कही न कही इसपे मार्केटिंग होती है।

पहली बात – जैसे Nike वालो को भी पता है कि अगर 1500 रूपए में कोई भी इंसान Nike का shoe खरीद रहा है तो वो उनका टार्गेटेड कस्टमर नहीं है।

दूसरी बात – इसमें Nike की marketing हो रही है, इसलिए इसमें कोई Brands एक्शन नहीं लेते है।

Firstcopy प्रोडक्ट्स ऑनलाइन बेचना है या नहीं बेचना है ?

दोस्त ये बेचने वालों (seller) की मर्जी के ऊपर डिपेंड करता है और खरीदने वालों (buyer) वाले की भी मर्जी के डिपेंड करता है।

अगर आप ऐसा सोच रहे हो कि आप India में बहुत बड़ा Firstcopy का Business बना सकते हो, तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

इनिशियल लेवल पर लोग Firstcopy प्रोडक्ट्स ऑनलाइन या ऑफलाइन भी बेचके पैसा बना सकता है लेकिन इस category पर Long term बिज़नेस नहीं कर सकता।

आप खुद सोचो की आप एक Firstcopy प्रोडक्ट buy करना पसंद करते है या एक बिलकुल Branded Product खरीदना!

अगर आप Firstcopy प्रोडक्ट्स का बिज़नेस करना चाहते है तो आपको जवाब मिल जायेगा, आप अपने दोस्तों से भी इसके बारे में पूछ सकते है ?

और क्या आपके दोस्त कोई भी Firstcopy प्रोडक्ट्स लेना पसंद करते है या नहीं !

Leave a Comment