How to Start a Startups in Hindi | स्टार्टअप कैसे शुरू करें?

How to Start a Startups in Hindi | स्टार्टअप कैसे शुरू करें ? – Hello दोस्तों, आज आपको इस ब्लॉग पोस्ट में बताने की कोशिश करूँगा क्या चीज है की जो स्टार्टअप्स या बिज़नेस को सक्सेसफुल बनाती है।

जरुरी ये नहीं है की आपके पास लाखों या करोड़ो रूपए हों, तभी आपका स्टार्टअप्स सक्सेसफुल होगा।

ये भी जरुरी नहीं है की आपके पास एक बहुत ही बढ़िया आईडिया हो।

जरुरी नहीं है की आपका स्टार्टअप्स या बिज़नेस मॉडल बहुत ही हाई लेवल के हो।

ये भी जरुरी नहीं है की आपके पास एक बढ़िया टीम हो, तभी आप सक्सेसफुल हो सकेंगे।

दुनिया में बहुत सारे स्टार्टअप्स आये हैं जिनकी टॉप क्लास टीम थी, उनका आईडिया भी बहुत ही अच्छा था और उनके पास करोड़ो में फंडिंग भी थी, मॉडल, प्रोडक्ट्स सब कुछ अच्छी थी, फिर भी वो सारे फ़ैल हो गए।

तो आज हम जानेंगे की अगर पैसा, man power या टीम, प्रोडक्ट, बेहतरीन आईडिया जरुरी नहीं तो स्टार्टअप्स को शुरू करने के लिए क्या जरुरी है। तो चलिए शुरू करते हैं –

 

How to Start a Startups in Hindi | स्टार्टअप कैसे शुरू करें ?

 

स्टार्टअप्स सक्सेसफुल कैसे होता है ?

 

ऐसा क्या चीज है जिसके ऊपर काम करके छोटी सी स्टार्टअप्स एक करोड़ो की कंपनी बन जाती है ? Bill Gross जो एक बहुत ही बड़े बिज़नेसमैन है जिन्होंने पिछले 20 सालों में 100 से ज्यादा कंपनी बनाये हैं, इन्होने ये कम्पनीज इसलिए बनाये क्यूंकि उन्हें ये जानना था की एक स्टार्टअप्स सक्सेसफुल कैसे होता है। और क्यूँ होता है। और दूसरा फ़ैल क्यूँ होता है।

तो 20 साल बाद Bill Gross ने 5 ऐसी चीजें निकाले खुद के रिसर्च से जिसकी वजह से एक स्टार्टअप सक्सेसफुल होता है और बिना उसके बुरी तरीकेसे 1-2 साल के अंदर ही फ़ैल हो जाते हैं।

 

No. 1 – Idea

पहले बिल ग्रॉस को लगा की सबसे बड़ा रीज़न होता होगा की आईडिया ही सब कुछ है। तो उन्होंने एक से बढ़के एक आईडिया वाले स्टार्टअप्स बनाये, लेकिन ज्यादातर स्टार्टअप्स एक साल के अंदर ही फ़ैल हो गए और उनमें कुछ ही अगले साल तक सर्वाइव कर पाए। बाद में वो भी बंद हो गए।

 

No. 2 – Team

तब उसको लगा की स्टार्टअप्स में आईडिया उतना इम्पोर्टेन्ट नहीं होता शायद टीम अच्छी होनी चाहिए। तब उन्होंने बढ़िया टीम बिल्डिंग किया, उनके टीम में बेस्ट MBA वाले, टॉप सॉफ्टवेयर इंजीनियर, बेस्ट कस्टमर सर्विस टीम, मतलब पूरी टॉप क्लास टीम बनाई।

फिर उनके ज्यादातर स्टार्टअप्स फ़ैल ही हो गए। और कुछ ही ठीक-ठाक परफॉर्म कर पाए।

 

No. 3 – Business Model

फिर उनको लगा अच्छी टीम होना भी उतना जरुरी नहीं है, शायद अच्छा बिज़नेस मॉडल होना जरुरी होता होगा। तो उसके बाद उन्होंने बहुत सारे स्टार्टअप्स शुरू किये जिसमें उन्होंने हर स्टार्टअप के एक से बढ़के एक बिज़नेस मॉडल बनाया की हम यूनिक तरीकेसे पैसे कमाएंगे और कैसे हम पुरे यूनिक तरीकेसे मार्किट में उतरेंगे।

फिर भी इनके ज्यादातर स्टार्टअप्स बंद हो गए और कुछ हो स्टार्टअप्स ठीक-ठाक चल पा रहे थे। इनको अभी तक समझ नहीं आया की उनके स्टार्टअप्स चल क्यूँ नहीं पा रहे हैं।

इनका बिज़नेस मॉडल, इनका आईडिया, इनके पास टॉप क्लास टीम भी है फिर वो फ़ैल क्यूँ हो रहे हैं !!

 

No. 4 – Funding

उसके बाद बिल ग्रॉस को लगा की फंडिंग सबसे ज्यादा जरुरी होगी एक स्टार्टअप्स को सक्सेसफुल बनाने के लिए। तो ये बड़े बड़े इन्वेस्टर के पास गए की हमे फंडिंग चाहिए, हमारे पास अच्छा आईडिया है, हमारे पास अच्छी टीम है और बहुत ही बढ़िया बिज़नेस मॉडल भी है, बस हमे फंडिंग चाहिए, जिससे ये स्टार्टअप्स आगे जाके बिलियन डॉलर कंपनी बन सके।

पर फिर वही दिक्कत, इनके ज्यादातर स्टार्टअप्स एक साल के अंदर ही फ़ैल हो गए हैं और कुछ ही स्टार्टअप्स अच्छा कर पाते हैं।

फिर भी इनको समझ नहीं आ पा रहा था की क्यूँ इनकी ज्यादातर स्टार्टअप्स फ़ैल हो जाते हैं, जबकि उनके पास सब कुछ टॉप क्लास के चीजें (अच्छी टीम, बहुत सारा फण्ड, टॉप बिज़नेस मॉडल, बेस्ट आइडियाज) हैं।

 

No. 5 – Timing

उसके बाद उन्हें लगा की timing सबसे जरुरी होगी की किस समय स्टार्टअप्स को लॉन्च करना है, यानी जल्दी शुरू करना है या देर से शुरू करना है।

जल्दी यानी की जो सर्विस देने वाले हो आपके कस्टमर अभी तैयार है भी या नहीं ?? या पहले आपको आपके कस्टमर को educate करना पड़ेगा अपने प्रोडक्ट्स के बारे में।

और लेट यानी की पहले से इस इंडस्ट्री में बहुत सारे कम्पटीशन है और सर्वाइव करना इम्पॉसिबल है।

 

 

Five-Factor

 

अब इनके पास जो सारे पांच Factor आ गए थे –

  1. Idea,
  2. Team,
  3. Business Model,
  4. Funding,
  5. Timing.

 

तो इन्होने सारे स्टार्टअप्स को जो की बुरी तरीकेसे फ़ैल हुए थे उनको बिलियन डॉलर स्टार्टअप के साथ जोकि अब एक बहुत बड़ी कंपनी बन चुकी है। जैसे की Youtube, Airbnb, Uber, Google, Tesla, Linkedin, Instagram, Facebook जैसे बड़े कंपनी के साथ compare करके देखा।

 

इन्होने देखा की इन स्टार्टअप्स से ज्यादा अच्छी टीम हमारे पास थी, हमारा आईडिया भी बहुत अच्छी थी, हमारा बिज़नेस मॉडल भी बहुत अच्छी थी, हमारे पास अच्छी फंडिंग थी, फिर हमारे स्टार्टअप्स कैसे फ़ैल हो गया।

 

तो अब फाइनली इनको पता चला की एक स्टार्टअप्स सक्सेसफुल होता है और दूसरी बुरी तरीकेसे फ़ैल।

 

इन्होने अपनी सारी 100+ स्टार्टअप्स की लिस्ट निकाला और उनके 5 फैक्टर रिसर्च करें और इनमें से जो स्टार्टअप्स सबसे अच्छा परफॉर्म कर रहे थे, तो इन्होने देखा की सबसे बड़ी चीज थी उन स्टार्टअप्स की Timing.

 

यानी की उनके जो सबसे ज्यादा सक्सेसफुल स्टार्टअप्स थी वो Timing की वजह से ही सक्सेस हुई थी

 

मतलब वो स्टार्टअप्स की जो प्रोडक्ट्स या सर्विसेज थी, उस टाइम मार्किट में उसकी डिमांड काफी थी। मतलब Timing. सही टाइम पर उन्होंने सही प्रोडक्ट्स या सर्विसेज को मार्किट में कस्टमर के सामने लेके आया।

 

दूसरी चीज इनको पता लगा की उनकी टीम की वजह से भी कुछ स्टार्टअप्स सक्सेसफुल हो गए थे, इसमें इन्होने देखा कैसे इनके टीम ने अपने कस्टमर को मैनेज किया और उनको सटिस्फाई किया।

 

उसके बाद उन्होंने पाया की कुछ ऐसे स्टार्टअप्स जो आईडिया की वजह से सक्सेसफुल हो चुके थे।

 

उसके अगले नंबर इन्होने पाया की कुछ स्टार्टअप्स के बिज़नेस मॉडल के कारण उनको सक्सेस मिला।

 

आज फेसबुक ज्यादातर मीम्स के वजह से चलता है, लेकिन क्या आपको पता है जब फेसबुक शुरुवात में बन रहा था तो क्या उनको पता था की आगे जाकर मीम्स से ही पूरा फेसबुक का बिज़नेस चलेगा।

 

शुरुवात में बिज़नेस मॉडल उतना ज्यादा मायने नहीं रखता है।

 

फंडिंग सबसे लास्ट में आती है। इन्होने देखा की जिस स्टार्टअप्स के इन्होने सबसे ज्यादा फंडिंग उठाई थी वही सबसे बुरी तरीकेसे फ़ैल हुए हैं।

 

अब जब आपकी प्रोडक्ट्स या सर्विस को मार्किट में जरुरत ही नहीं है तो आप चाहे पुरे वर्ल्ड में अपना बिज़नेस एक्सपैंड कर दो, करोड़ो में फंडिंग उठाके, उसको फ़ैल तो होना ही है।

 

 

Airbnb क्यूँ सक्सेसफुल हुआ ?

 

क्यूंकि पहले कोई नहीं चाहता है की अपने घर का कोई रूम किसी बाहर वाले को रेंट पे दे और सारे इन्वेस्टर ने भी इनको मना कर देता फंडिंग के लिए की ये कैसा आईडिया है।

पर इनकी टाइमिंग बहुत ही मस्त थी। इन्होने Airbnb तक लॉन्च किया जब 2008 में तगड़ा रिसेशन चल रहा था। जैसे आज कोरोना के वजह 95% बिज़नेस और जॉब वालो की जो सिचुएशन है वैसी उस टाइम रिसेशन की वजह थी।

और लोगों को पैसों की बहुत ज्यादा जरुरत भी थी। तो तब आया Airbnb और उन्होंने सर्विस प्रोवाइड किया की आप अपने घर का कोई एक रूम भी बाहर वाले को रेंट पे दे सकते हो। और हमारे साथ मिलकर पैसे कमा सकते हो।

तो यहाँ से Airbnb चल पड़ा।

अब अगर इनकी टाइमिंग ख़राब होती तो शायद ये बुरी तरीकेसे फ़ैल हो चुके होते।

तो अब आपको पता चल गया होगा की आईडिया उतना इम्पोर्टेन्ट नहीं है जितना टाइमिंग होती है।

 

 

Paytm क्यूँ सक्सेसफुल हुआ ?

 

Paytm कब सक्सेसफुल हुआ, जब हमारे देश में Demonetization हुआ, उससे पहले Paytm पर ज्यादातर लोग भरोषा नहीं किया करते थे। और Demonetization के अगले दिन ही 80% लोग Paytm को यूज़ करने लग गए थे।

और एक साल के अंदर ही ये स्टार्टअप्स देखते ही देखते ये बिलियन डॉलर बिज़नेस बन गया।

आप किसी भी स्टार्टअप्स की एक्साम्प्ल ले लो चाहे यूट्यूब हो, चाहे उबेर हो या जिओ हो, इन सभी कंपनी में एक ही चीज परफेक्ट थी – परफेक्ट टाइमिंग।

 

 

Recommended Books –

 

 

 

Conclusion

 

तो अगर आप कोई स्टार्टअप्स को शुरू करने जा रहे हो तो ये जरूर देख लीजिये की मार्किट में अभी आपकी प्रोडक्ट्स या सर्विस की जरुरत है भी या नहीं।

इस पोस्ट “How to Start a Startups in Hindi | स्टार्टअप कैसे शुरू करें ?” के बारे में अगर कुछ भी पूछना है तो मुझे नीचे कमेंट में जरूर पूछ सकते हैं। आपको आज का यह पोस्ट कैसा लगा ?

इस पोस्ट “How to Start a Startups in Hindi | स्टार्टअप कैसे शुरू करें ?” के बारे में आपका कोई भी सुझाव है तो मुझे जरूर बताये।

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

 

सम्बंधित लेख –

  1. 31 स्माल बिज़नेस जिसको कम इन्वेस्टमेंट से शुरू कर सकते हैं – Business Ideas in Hindi
  2. How to Start a Business with No Money? By Sandeep Maheshwari Motivational Video in Hindi
  3. Business Tips in Hindi – 10 Best Business Formula for Startups
  4. नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? – What is Network Marketing in Hindi
  5. लोगों के प्रॉब्लम से बिज़नेस आईडिया कैसे ढूँढना है? – How to Find Business Ideas in Hindi?
  6. 10,000 रूपए में शुरुवात किये जाने वाला Business Ideas in Hindi
  7. नमकीन मूंगफली का बिज़नेस कैसे शुरू करे ? How to Start Salted Peanuts Making Business?
  8. आइस क्रीम का बिज़नेस कैसे शुरू करे ? How to Start Ice Cream Making Business?
  9. आटा चक्की का बिज़नेस कैसे शुरू करें ? How to Start Flour Mill Business?
  10. मसाला चना का बिज़नेस कैसे शुरू करें ? How to Start Masala Chana Making Business?
  11. माचिस बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करे ? How to Start Match Box Making Business?
  12. दलिया बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें? How to Start Dalia Making Business?
  13. मिनी फ्लौर मील का बिज़नेस कैसे शुरू करे ? How to Start Mini Flour Mill Business?
  14. बेसन का बिज़नेस कैसे शुरू करें ? How to Start Besan Manufacturing Business?
  15. दाल मिल का बिज़नेस कैसे शुरू करे ? How to Dal Mill Processing Business?
  16. Auto Rickshaw Business Ideas in Hindi in India | ऑटो वाले कितना कमाता है इंडिया में ?
  17. What is Amazon Business Account | Amazon Business Account 9 Benefits in Hindi

Leave a Comment