Best Inspirational Story in Hindi – Sachin Tendulkar

The best Inspirational Story in Hindi – Sachin Tendulkar

 
Hello Friends, आज मैं ऐसे आदमी के बारे में बताने वाला हूँ जिसको सारे लोग Cricket के भगवान के नाम से जानते हो,
 
 आज मैं उसकी जीवन की ऐसा motivational story बताने वाला हूँ, जिसको पढ़ने के बाद आपको लगेगा की हम लोग तो छोटी छोटी चीजों को लेकर ही हार मान लेता हूँ, ये तो इतनी छोटी सी उम्र में इतना कुछ होने के बाद भी हर नहीं माना,
 
 वो भी mind के level पर नहीं physical level पर इतना कुछ होने के बाद भी उसने हार नहीं मानी, तो इस motivational story को पढ़िए और आप को अच्छे से समझ लेना होगा की हम जो अपनी ज़िंदगी में छोटी छोटी चीजों को लेकर हार मान लेते है क्या हम सच्चे इंसान है या फिर इस धरती की बोझ है,
 
 ये आपको इस motivational story में समझ आ जायेंगे, तो चलिए उस motivational story को पढ़ लेते है –
 
 

The best Motivational story in Hindi – Sachin Tendulkar

 
” 16 साल का एक लड़का पाकिस्तान के खिलाफ बल्लेबाजी करने उतरा, नाम था Sachin Tendulkar, 150 k/h की speed से गेंद आती थी, और 16 साल की उम्र,
 
 test cricket खेल रहा था, 4 लोग out हो चुके थे, पांचवा दिन चल रहा था, टूटी हुई field थी,
 
 run हो था 22 – 4, और tendulkar जी आ गए थे, और tendulkar जी पहले दो test match में total 10 runs बनाया था, 3rd test में drop किया, 
 
 balling कौन कर रहा है इमरान खान, आकिब जावेद, खतरनाक लोग, 5 – 6 feet के लोग, 2 feet का हाथ, ऐसा लगता था screen की ऊपर से गेंद आ रही है, 
 
 सिद्धू जी ने एक article में बताया की – ‘मैं उसको देख रहा था की मुझे लग रहा था की ये लड़का मर जायेगा आज, पाकिस्तान के अंदर match था, पाकिस्तान के लोग बॉलिंग भी करते थे, और वो बोले की गाली भी देते थे, और सब गालियाँ आती थी वो बोले हमारी तरह ही’,
 
 4 out हो सुका था, 5 days थी और tendulkar गए किसी के out होने के बाद, और सिद्धू ने उसको All The Best बोलै,
 
Sachin Tendulkar
 
 पहले गेंद आया jhoooom करके निकली, tendulkar को कुछ दिखाई नहीं दिए, सिद्धू sir गया उसके पास और उसको बोलै ok है, tendulkar बोलै बहुत ही छोटे आवाज में की – ‘ हा ठीक है ‘;
 
 तीसरी bal आया बाउंस होकर और फटाक से tendulkar की नाक पे लगी, नाक से पूरा खून निकला, नाक फट गए थे पूरा, और पूरा blood blood हो गया,
 
 सिद्धू sir ने उस article में बताये की – ‘ मैं कह रहा था की ये लड़का मर गया, ये खत्म है आज, tendulkar पूरा गिर गए नीचे, सब लोग भागे भागे आये,
 

 

 एक stretcher को भी बुलाया सिद्धू sir ने, जब तक stretcher आता, physiotherapist आ गया,
 


 तब physiotherapist के पास दो ही चीजें होती थी एक – saridon, दूसरा icebox,
 

 

 saridon मुँह में दाल देते थे और icebox लगा देते थे, ये treatment होता था उस ज़माने में, advance technology तो था नहीं ज्यादा, तो इसको लगाया और उसके बाद tendulkar को stretcher पर लिटाने लगा,
 
Sachin Tendulkar
 
 तो सिद्धू sir कहता है की मेरी कान में आवाज आयी – ” मैं खेलेगा, मैं खेलगा ” सिद्धू sir उसको पूछा की पक्का खेलेगा, उसने बोलै की sir मैं खेलेगा। 
 
 सिर्फ 16 साल का लड़का इमरान खान को face करता है, नाक पे पट्टी बांधके इमरान खान अगली ball करता है और tendulkar 2 कदम आगे बढ़के पूरा जोड़ लगाके मारते है फटाक से 4 हो जाते है,
 


 उसके बाद सिद्धू sir को बोलता है की sir मैं खेलेगा, वो लड़का जिसकी नाक फटने की वजह से पट्टी बंधी हुई है वो बोलै की sir मैं खेलेगा। ”
 
 इसलिए वो आज क्रिकेट के भगवान है और आपको कुछ हासिल नहीं होते है, क्यों पता है – आप बहुत ही जल्दी हार मान जाते है।
 
 आप भी बहुत कुछ हासिल कर सकते है और आपको भी कही और कभी भगवान कहेगा अगर आप कभी भी किसी पर हार नहीं मानते है तो, चाहे कुछ भी हो जाये आपको जो करना है न वो करके रहिये।

 तो दोस्तों मुझे नहीं लगता की इससे ज्यादा powerful inspirational story और कुछ है।

 

 अगर आपको आज का हमारा ये पोस्ट (Best Inspirational Story in Hindi – Sachin Tendulkar) अच्छा लगा तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और अगर आपको कुछ पूछना है तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछे।
 
 आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Leave a Comment