Motivational Story in Hindi for Success – क्या प्रैक्टिस ही हम को सक्सेसफुल बना सकता है ?

Motivational Story in Hindi for Success – प्रैक्टिस हर एक को सक्सेसफुल बना सकता है

अब मुझे अलार्म कि जरुरत नहीं पड़ती, क्यूंकि मेरा passion ही मुझे हर सवेरे जगा देता है।

 

 

 आज एक छोटी सी कहानी लेके आया हूँ फिर से दोस्तों, ये कहानी एक बुजुर्ग दंपत्ति की। जो इंडिया में एक city में जहाँ नयी नयी कॉलोनी डेवेलोप होती जा रही है।

 
 इनकी कॉलोनी में मुश्किल से 5 मकान थे, तो इन्हे हमेशा सिक्योरिटी का डर था। इनका बेटा इन्हें छोड़ करके foreign में सेटल हो चूका था अपनी वाइफ के साथ में, क्यूंकि उनकी वाइफ नहीं चाहती थी की वे इंडिया में रह कर सास-ससुर की मदद करें।
 
ये बुजुर्ग couple जहाँ कॉलोनी में रहता था, वहां इन्हे हमेशा डर लगता था की इन्हे कही कोई घटना ना हो जाये, इसलिए घर से ज्यादा बाहर नहीं निकलते थे।
 
 लेकिन फिर भी रूटीन था हर सवेरे सूरज निकलने के बाद वे दोनों मॉर्निंग वाक के निकल जाते थे। दोनों पति-पत्नी घूम करके घर आते थे, चाय पीते थे और अपना रूटीन फॉलो करते थे।
 
 एक दिन ऐसे ही निकले थे घूमने के लिए, तो उन्होंने देखा कि एक लड़का तेजी से साइकिल चलाता हुआ जा रहा है, और उसकी साइकिल पर पीछे फावड़ा बंधा हुआ था, इन्होंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया की होगा कोई।
 
 दूसरे दिन भी फिर से उसी टाइम पर वो लड़का दिखा, तीसरे दिन ऐसे ही उस लड़के को देखा और चौथे दिन भी दिखा, तो पांचवे दिन जो आंटी जी थे उन्होंने अंकल जी से पूछ ही लिया कि मुझे लगता है की कुछ तो गड़बड़ है, क्यों न हम पता करें, कही ये लड़का कोई गलत काम तो करने नहीं जा रहा है।
 
 तो अंकल जी कहा कि क्या मतलब है छोड़ो न, लेकिन वाइफ की डिमांड थी की हो सकता है हमारी कॉलोनी में कुछ गड़बड़ हो रही हो, तो वाइफ की बात ताल नहीं सके।
 
 अगले दिन अंकल जी ने decide किया की हम दोनों साथ में चलेंगे, और इस साइकिल वाले का पीछा करेंगे की ये जा कहाँ रहा है।
 
 तो अगले ये साइकिल वाला लड़का आया, फावड़ा पीछे बंधा हुआ था, तेजी से लड़का निकला, उनके पीछे पीछे अंकल जी और आंटी जी आने लगे, थोड़ी दूर गए तो उन्होंने देखा उस लड़के ने उसकी साइकिल एक जगह पर खड़ी कर दी।
 
 एक बड़े से पेड़ के पास थोड़ी सी खाली जमीन थी, जिसे वो लड़का खोदने लग गया, ये दोनों अंकल-आंटी थोड़ी देर वहां पर रुक कर देख रहे थे कि ये लड़का कर क्या रहा है ! कही कुछ गड़बड़ तो नहीं है !
 
 लेकिन लड़का जमीन खोदे ही जा रहा था, Finally इन्होंने हिम्मत करके उस लड़के से पूछा कि बेटा एक बात बताओ तुम ये जमीन क्यों खोद रहे हो ?
 
 तो उस लड़के ने कहा कि अंकल जी मैं आपको रोज देखता हूँ, आप दोनों घूमने के निकलते हैं, आपको मुझ से घबराने या मुझसे डरने की जरुरत नहीं है और यहाँ जमीन इसलिए खोद रहा हूँ, क्यूंकि मेरी नई नई नौकरी लगी है।
 
 तो उन्होंने पूछा की कहाँ नौकरी लगी है, ऐसा कौनसा काम है जिसमें जमीन खोदनी पड़ती है !
 
 तो उस लड़के ने कहा कि बड़े दिन बेरोजगार था, फाइनली मुझे फॉर्महॉउस में काम मिला है, और उन्हें ऐसे लड़के की जरुरत है जिसे खेतों में काम करने का अनुभव हो.. मेरे पास में कोई भी experience नहीं है, इसलिए मैं रोजाना ये फावड़ा लेकर के आता हूँ और रोजाना जमीन खोदने की प्रैक्टिस करता हूँ, ताकि जैसे ही वहां नौकरी पर काम शुरू हो, उसके बाद मुझे नौकरी से निकाल ना दिया जाये, इसलिए रोजाना मेहनत कर रहा हूँ, कोशिश कर रहा हूँ।
 
 उस लड़के की बात सुनने के बाद में ये जो बुजुर्ग couple है, उन्होंने इसको आशीर्वाद दिया और बोला की बहुत बढ़िया बात है प्रयास ही जिंदगी में सब कुछ है।
 
 ये छोटी सी कहानी लाइफ में बहुत बड़ी बात सिखाती है ये सचिन तेंदुलकर, उनका वीडियो आपने देखा होगा बारिश हो रही थी, मिट्टी में पानी भरा हुआ था, मिट्टी में गेंद डाल कर वो प्रैक्टिस कर रहे थे।
 
 आप सोच सकते हैं की इतना बाद खिलाड़ी बारिश के दिनों में प्रैक्टिस कर रहा है क्यूंकि वो हर दिन प्रैक्टिस करते थे, उनके नाम इतने सारे रिकार्ड्स है, इतनी बड़ी सक्सेस है, लेकिन लोग भूल जाते हैं की प्रैक्टिस ने ही उन्हें सचिन तेंदुलकर यानि क्रिकेट का भगवान बनाया है।
 
 लाइफ में आप भी याद रखिये “Practice Makes A Man Perfect”, “Practice Makes Everyone Perfect”.
 
 तो आप कुछ भी करते हो लोगों को फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन हमेशा अपने काम को प्रैक्टिस करते हो तो एक दिन हर एक को आपकी वजह से कुछ ना कुछ फर्क पड़ेगा ही पड़ेगा।
 
 
 
तो आपको आज का हमारा यह मोटिवेशनल स्टोरी कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस इस मोटिवेशनल स्टोरी को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।
 
 
आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,
 
Wish You All The Very Best.

Leave a Comment