Neil Armstrong की सक्सेस स्टोरी | Neil Armstrong Biography in Hindi

Neil Armstrong की सक्सेस स्टोरी | Neil Armstrong Biography in Hindi – Hello दोस्तों, Neil Armstrong को कौन नहीं जानता, हमारे स्कूल के टेक्स्ट बुक्स, ज्यादातर मैगजीन्स, यूट्यूब या न्यूज़ में उनके बारे में लोग बातें करते रहते हैं, कुछ दिनों से यूट्यूब में लोग व्यूज बढ़ाने के लिए कहने लगे हैं की चाँद की जो सतह हमे दिखाया जाता है वो एक स्टूडियो के अंदर क्रिएट किया गया है, लेकिन ऐसा नहीं है। तो आज उन्हीं महान इंसान के बारे में बात करेंगे। तो चलिए शुरू करते हैं –

 

Neil Armstrong की सक्सेस स्टोरी | Neil Armstrong Biography in Hindi

 

Neil Armstrong एक एयरोस्पेस इंजीनियर, नेवी ऑफिसर, टेस्ट पायलट और प्रोफेसर थे जो चाँद की सतह पर पहला कदम रखने वाले पहले इंसान थे, जिनका इंटरेस्ट उन्हें एविएशन से नेवी तक और नेवी से सीधा चाँद तक ले गया।

 

 

जन्म

 

Armstrong का जन्म 5 अगस्त 1930 को Wapakoneta, Ohio में हुआ था, वो Stephen Koenig Armstrong 3 Viola Louise Engel के तीन बच्चों में सबसे बड़े थे, उनके पिता Stephen एक स्टेट ऑडिटर थे।

 

 

पढाई और सक्सेस

 

Neil का एविएशन के प्रति इंटरेस्ट तब पैदा हुआ जब उन्होंने 6 साल की उम्र में पहली बार प्लेन में का सफर किया था।

 

वो अपनी स्कूल बॉयज़ स्काउट में भी काफ़ी एक्टिव थे जहाँ उन्हें ईगल स्काउट की रैंक मिली थी, जब Neil 16 साल के थे तब वो लाइसेंस्ड पायलट बन चुके थे और 17 साल की उम्र में नावल एयर कैडेट थे।

 

1950 में जब Neil Purdue University, Indiana में एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे तब कोरियन वॉर के दौरान उन्हें पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी और युद्ध के लिए जाना पड़ा, जहाँ उन्हें तीन गोलियाँ लगी थी और उनकी बहादुरी के लिए उन्हें तीन मेडल्स भी मिले थे।

 

वॉर से वापस आने के बाद उन्होंने फिर से अपनी कॉलेज जॉइन की और 1955 में उन्होंने अपनी डिग्री कम्पलीट की और वो National Advisory Commitee For Aeronautics (NACA) के लिए सिविलियन रिसर्च पायलट बन गए (NACA को ही अभी NASA के नाम से जाना जाता है), जहाँ उन्होंने 1100 घंटे से भी ज़्यादा की फ्लाइट की।

 

 

एस्ट्रोनॉट्स की जर्नी

 

1962 में Armstrong ने एस्ट्रोनॉट्स का ग्रुप जॉइन किया, 16 मार्च 1966 को Armstrong Gemini 8 के कमांडर पायलट के तौर पर David R. Scott के साथ स्पेस डॉकिंग कर रहे थे और कुछ ख़राबी के कारण उन्होंने Gemini 8 की इमरजेंसी लैंडिंग करवाई और David R. Scott के साथ प्रशांत महासागर में छलांग लगाई।

 

16 जुलाई 1969 को Neil Armstrong अपने दो साथी Edwin E. Aldrin Jr. और Michael Collins के साथ अपोलो 11 में चाँद पर जाने के लिए रवाना हुए और उसके 4 दिन बाद रात के 10:56 बजे (ईस्टर्न डेलाइट टाइम) उन्होंने चाँद की सतह पर कदम रखा और वो चाँद पर कदम रखने वाले पहले इंसान बन गए।

 

चाँद पर पहुँचने के बाद वो इतने एक्साइटेड थे कि उन्हें वहाँ जाकर एक बयान देना था लेकिन वो उस बयान में से एक वर्ड भूल गए थे और वो बयान ये था “That’s one small step for [a] man, one giant leap for mankind”.

 

21 जुलाई 1969 को चाँद पर 21 घंटे 36 मिनट्स बिताने के बाद Armstrong अपने साथियों के साथ पृथ्वी के लिए रवाना हुए और 24 जुलाई को दोपहर 12:51 बजे वो प्रशांत महासागर में उतरे, वायरस से अफ़ेक्ट होने की संभावना के कारण Armstrong और उनके दो साथियों को 18 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया।

 

उसके बाद उन्होंने 21 देशों की यात्रा की जहाँ उनका खूब स्वागत किया गया।

 

 

रिज़ाइन

 

1971 में Armstorng ने NASA से रिज़ाइन ले लिया था, अपोलो 11 के मिशन के बाद Armstrong खुद को पब्लिक लाइफ़ से ले गए और 1971 से  1979 तक University Of Cincinnati (Ohio) में एयरोस्पेस इंजीनियर के प्रोफेसर के पद पर रहे।

 

1979 के बाद Armstrong कुछ कंपनीज़ में डायरेक्टर के पद पर रहे और 1982 से 1992 तक एविएशन कंपनीज़ में रहे, उसी समय के दौरान वो 1977 से 2002 तक AIL सिस्टम्स के भी डायरेक्टर थे जो मिलिट्री के लिए इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट्स बनाती थी।

 

2002 में रिटायरमेंट के बाद वो Ohio में अपने घर ही रह रहे थे और 25 अगस्त 2012 को दिल का दौरा पड़ने से 82 साल की उम्र में उनकी मौत हो गयी।

 

 

मेडल

 

उन्हें अपने बेहतरीन काम और राष्ट्र की सेवा के लिए 1969 में प्रेज़िडेंशियल मेडल ऑफ फ्रीडम से नवाज़ा गया था जो अमेरिका का सर्वोच्च पुरुष्कार है।

 

1978 में उन्हें स्पेस की दुनिया मे अपने कॉन्ट्रिब्यूशन के लिए Congressional Space Medal Of Honor और 2009 में Congressional Gold Medal से सम्मानित किया गया।

 

 

 

Conclusion

 

तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह आर्टिकल Neil Armstrong की सक्सेस स्टोरी | Neil Armstrong Biography in Hindi” कैसा लगा ?

आपका कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये।

क्या आपको पहले Neil Armstrong के बारे में इतना कुछ पता था ?

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

 

सम्बंधित लेख –

  1. संदीप महेश्वरी जी की पूरी जीवनी – Sandeep Maheshwari Complete Biography in Hindi
  2. Oprah Winfrey की सक्सेस स्टोरी – 14 साल की उम्र में उनको अपने रिश्तेदार ने ही Rape किया
  3. Eminem की सक्सेस स्टोरी – Rap God का खिताब उनके नाम पर है
  4. Real-Life Inspirational Story in Hindi – Super Power वाली एक माँ
  5. Sandeep Maheshwari Speech – The Greatest Real Life Inspirational Story in Hindi
  6. Dwayne Johnson की सक्सेस स्टोरी – आज वो The Rock है
  7. APJ Abdul Kalam जी के सक्सेस स्टोरी – दी मिसाइल मैन
  8. Steve Jobs की सक्सेस स्टोरी – बोतल बेचने वाला Apple कंपनी को कैसे खड़ा किया ?

Leave a Comment