Scope of Blogging in Hindi – Blogging के बारे में A to Z जानकारी

Scope of Blogging in Hindi – Hello दोस्तों, आज हम बात करेंगे ब्लॉग्गिंग के हर एक बात के बारे में। की What is Blogging ? (ब्लॉग्गिंग क्या है ?) Types of Blogging, Blogging vs Youtube Channel, एक सक्सेसफुल ब्लॉग कैसे बनाये ? ब्लॉग्गिंग के लिए कितना Investment चाहिए आपको ? अपने ब्लॉग को Monetize कैसे करें ? Scope of Blogging in India, Hindi Blog vs English Blog, क्या ब्लॉग्गिंग एक Long Term Career है ? तो इन सभी के बारे में आज मैं बताने वाला हूँ।

 

दोस्तों मैंने 2016 से ब्लॉग्गिंग शुरू की है। तो आप को मैं इसी चार साल की Experience से आपको सब कुछ बताऊंगा ब्लॉग्गिंग के बारे में।



Table of Contents

Blogging के बारे में A to Z जानकारी – Scope of Blogging in Hindi

 

What is Blogging? Blog Meaning in Hindi

 

 ब्लॉग्गिंग वो होता है जिसमें आप एक Blog बनाते हैं, या फिर आप कह सकते हैं आपने एक वेबसाइट बनाया और उसमें आप आर्टिकल लिखते है, आर्टिकल यानी अपने Ideas, Tips, Experiences, Knowledge को आप लिख कर लोगों के साथ Share करते हैं। जो आप लिखते है उसी को हम ब्लॉग Post या Article कहते हैं, और और उसी काम को करने का जो Process है उसको हम ब्लॉग्गिंग कहते हैं।

 

Blog एक तरह की वेबसाइट ही है। लेकिन Difference ये है दोनों में की आप ब्लॉग में सिर्फ और सिर्फ अपना Knowledge, Ideas, Experience लिख कर शेयर करते हैं और वेबसाइट में आप एक Blog section भी बना सकते हैं और आप बहुत सारे Services बेच भी सकते है। वेबसाइट में आप हर एक काम को कर सकते हो।

 

 जैसे Amazon.com Products Sell करता है, Youtube.com पर आप Video देखते हैं या फिर आप अपना वीडियो बनाकर उसमें Upload भी कर सकते हैं। ऐसे ही Facebook.com पर आप हर एक लोगों के साथ Connect कर सकते हैं जो फेसबुक चलाते हैं। तो ऐसे ही आप और Website को देखते हैं और Use भी करते हैं।

 

 लेकिन मेरे जो वेबसाइट है जिसमें आप अभी पढ़ रहे हैं, उसमें सिर्फ आपको आर्टिकल ही आर्टिकल दिखेगा तो ये एक Blog है और इसमें जो काम मुझे करना पड़ता है उसी को ब्लॉग्गिंग कहते हैं।

 

इतना Simple है ब्लॉग्गिंग को समझना।

 

 

Types of Blogging –

 

Personal Blog –

 

Personal ब्लॉग्गिंग वो होता जिसमें आप सिर्फ आपका Ideas, Experience and Knowledge शेयर करते हैं लोगों के साथ, और ऐसा ब्लॉग आप Private भी लिख सकते हैं। और उसको आपने Particular किसी बंदे के साथ शेयर करके उसको पढ़ने के लिए देते हैं। इसमें simple तरीकेसे बताऊँ तो आप सिर्फ इसको Personal काम के लिए use करते हैं, इसमें आपको ज्यादा Popularity नहीं चाहिए होता है।

 

 

Professional Blog –

 

तो ये जो मेरा ब्लॉग है इसको Professional ब्लॉग बोलते हैं। इसको मैं Monetize करने के लिए बनाया हुआ है। और इसमें मैं Professional तरीकेसे ब्लॉग्गिंग करता हूँ। आज कल जो लोग ब्लॉग्गिंग करते हैं वे सभी Professional तरीकेसे ही ब्लॉग्गिंग करते हैं।

 

 

Business Blog या Website –

 

ये basically एक Professional वेबसाइट होता है जिसमें आप कोई भी Digital या Physical Products या Services बेचते हैं।

 

 और यहाँ पे भी आप कुछ Knowledge लिखकर लोगों के साथ शेयर कर सकते हो। लेकिन आप Main Focus है Products या Services Sale करना, तो इसलिए इस type की ब्लॉग वेबसाइट को Business Type में रखा जाता है। इसमें basically आप एक कंपनी run करते हैं।

 

 

Personal Branding Blog –

 

इसमें क्या होता की कुछ बिज़नेस Type की ही है क्यूंकि इसमें भी आप Services बेचते हैं। लेकिन difference ये होता है इसमें अगर एक Trainer हो यानी आपका कुछ Courses है जो आप बेचते हो, आपका कोई कंपनी नहीं है तो आप इसमें Personal Branding ब्लॉग्गिंग करते हैं।

 

 

Niche Blog –

 

Niche ब्लॉग्गिंग का मतलब simple होता है की आप सिर्फ एक Particular Topic के ऊपर ब्लॉग बनाते हैं। सिर्फ एक ही टॉपिक इससे ज्यादा नहीं। इससे ज्यादा टॉपिक होगा तो वो प्रोफेशनल ब्लॉग्गिंग के अंदर आएगा। इसमें Micro Niche भी होते हैं, यानी की एक Particular Niche के अंदर भी जो topic होता है उसको use करके ब्लॉग बनाना। तो आज के टाइम में बहुत Popular है Niche Blogging. क्यूंकि आपके ब्लॉग में सिर्फ वही लोग आते हैं जो सिर्फ किसी एक Topic के बारे में जानना चाहते हैं।

 

जैसे – Clothing एक Niche या Topic है। तो जो Men Clothing या Women Clothing है वो Sub-niche हो गया और जो Trouser है या जो Jeans है उसको Micro Niche कहाँ जाता हैं।

 

 

Affiliate Blog –

 

Affiliate ब्लॉग वो होता है जिसमें आप किसी कंपनी Amazon, Flipkart, Jvzoo, Clickbank, Maxbounty जैसे बहुत सारे कंपनी जो अपना Affiliate Program run करते हैं उनके Products, Services यानी Tools, Software या किसी Physical items के बारे में Reviews लिखते हैं और उन Products की Buying Link देते हैं, जिसमें लोग आपके ब्लॉग आर्टिकल को पढ़के अगर उनको अच्छा लगता है, अगर वे Convince होते हैं आपके ब्लॉग पढ़के, तो आपका लिंक क्लिक करके उस Products को खरीद लेते हैं और आपको उस कंपनी से कुछ % Commission मिलता है।

 

आज के तारीख में जो English ब्लॉगर है वो सभी Affiliate Marketing के थ्रू सबसे ज्यादा इनकम करता है।

 

 

आप अपने ब्लॉग को Monetize कैसे करें ?

 

blog-monetization



ब्लॉग को Monetize करने का 6 तरीका है –

 

1. Adsnese or Other Ad Network

 ये दोस्तों सबसे ज्यादा इसी तरीके को use करते हैं अपने Blog को Monetize करने के लिए। मैं भी इसी को Use करता हूँ। Google Adsense को 95% ब्लॉगर लोग Use करते हैं।

 

 जैसे आपने मेरे ब्लॉग में देखा होगा Ad को तो वो Google Adsense का ही Ad है। इसमें आपको करना कुछ थोड़ा सा ही होता हैं की आपको Adsense के लिए Apply करना है, उसके बाद Google आपके वेबसाइट को check करेगा और अगर सब कुछ ठीक ठाक है तो आपको Approval मिलेगा और आपको एक Code मिलेगा, उसको आपको अपने ब्लॉग में Paste करना होता है और जितना ज्यादा आपके ब्लॉग में Views यानी Traffic आएगा और जितना ज्यादा क्लिक होंगे उस Ads पर, आपको उतना ज्यादा Income मिलेगा Adsense से।

 

आपको हर महीने आपके Account में पैसा मिलता रहेगा, अगर आप कुछ गलती न करें तो। ये तरीका सबसे Easy है ब्लॉग्गिंग से पैसा कमाने का। अगर आपको ज्यादा दिमाग नहीं लगाना हैं तो।

 

तो इसकी Approval की बात करें तो आप चाहे blogger.com use करें या फिर wordpress use करें आपको सभी प्लेटफार्म में approval मिल जायेगा। बस आपने जो कंटेंट लिखा वो Unique होना चाहिए।

 

 

2. Affiliate Marketing

इसमें क्या होता है की आप किसी एक या दो Affiliate प्रोग्राम Join करके उसमें आप किसी Products को Select करके उसके ऊपर आप आर्टिकल लिख सकते हैं।

 

जैसे आपने लिखा Best Software for Bloggers, या फिर Best Hosting Provider in India या फिर Best Budget Friendly Laptops for Bloggers ऐसा कुछ आर्टिकल और आपने उसमें उस कंपनी का Affiliate लिंक भी दे दिया (Amazon या किसी दूसरे Affiliate Program का Affiliate लिंक), तो लोग आपके ब्लॉग में आएंगे और उस लिंक को क्लिक करके उस सॉफ्टवेयर को खरीदेगा तो आपको Commission मिलेगा। ये किसी किसी Products में बहुत ज्यादा हो सकता है और किसी किसी में कम।

 

जैसे जो Hosting कंपनी है उनसे ज्यादा Commission मिलता है। और जो मोबाइल या सॉफ्टवेयर है उसमें थोड़ा कम मिलता है। इसमें आपको बहुत ज्यादा Research की जरुरत है। तभी आप ज्यादा से ज्यादा Commission पा सकेंगे।

 

 

3. Memberships

अगर आप कुछ प्रीमियम टाइप की Content Provide करते हैं आपके ब्लॉग के थ्रू, तो आप क्या कर सकते हो की आप एक नार्मल ब्लॉग बनाये और उसमें आप लोगो को फ्री कंटेंट दीजिये और आपके पास कुछ लोग होंगे तो आप इस membership कंटेंट को पब्लिश कर सकते हैं। जैसे Digital newspaper पढ़ने के लिए या Ebooks पढ़ने के लिए लोग किसी न किसी का Membership लेते हैं, आप भी वैसा कर सकते हैं।

 

 

4. Selling Own Products and Services

 आप अपना कुछ Ebooks बना सकते हैं या अपना खुद का कोई Tools Develop करके उनको अपने ब्लॉग में इम्प्लीमेंट करके आप इनकम कर सकते हैं।

 

इसमें अगर आप अपना कोई Ebooks बनाते हैं तो आपकी ब्लॉग की Authority high होनी चाहिए। बहुत ज्यादा Traffic आना चाहिए आपके पास, तभी आप इसमें Sale कर पाएंगे। लेकिन अगर आप कोई Paid Tool की Services देते हैं तो आपको कोई अथॉरिटी नहीं चाहिए। बल्कि जब आप ये Service बेचोगे तो आपकी अथॉरिटी अपने आप ही बढ़ता चला जायेगा। तब आप अपना Ebooks sale कर सकते हैं।

 

 

5. Sponsored Posts

इसमें होता क्या है की आप जब एक पॉपुलर ब्लॉगर बन जायेंगे तब आपको अलग अलग वेबसाइट owner आपके लिए ब्लॉग लिख कर देंगे और कुछ लोगों ने पोस्ट लिख नहीं भी देते हैं और आप उनके लिए ब्लॉग पोस्ट लिखेंगे और आपको इसके बदले पैसा देंगे वो लोग।

 

सिंपल शब्द में बताऊँ तो आपको किसी और का ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करना होता है और बदले में आपको उसका पैसा मिलता है।

 

 

6. Courses

 जब आपका ब्लॉग पॉपुलर हो जायेंगे तो आप अपने खुद के Courses भी सेल कर सकते हैं। जैसे आजकल ज्यादातर ब्लॉगर Digital Marketing के courses अपने वेबसाइट में बेचते हैं। या कोई Business Training बेचते हैं। तो आपके अंदर भी कोई भी Skill है जो आप लोगों को सीखा सकते हैं। तो आपको उससे related एक या ज्यादा courses बनाना है। और उसका मार्केटिंग करके उसको सेल करना है। चाहे कुछ महीने ही क्यों लग जाये लेकिन अपने courses में कोई कमी मत छोड़िये, क्यूंकि Quality बहुत ज्यादा Depend करता हैं आपके Courses का। क्यूंकि लोग हज़ार Courses के Preview देखंगे और उसके बाद ही choice करेंगे। तो Quality औरों से Better होना चाहिए।

 

 

ब्लॉग्गिंग Start करने के लिए आपको कौन कौन सी चीजों की जरुरत होती हैं ?

 

1. Domain and Hosting

 

2. Laptop and Internet

 

3. Niche or Topic

 

4. Writing Skill (आपको Writer बनने की जरुरत नहीं हैं, इसमें राइटिंग स्किल का मतलब ब्लॉग में लिखने का एक तरीका होता है तो उस स्किल acquire करने की बात कही जा रही है) and Knowledge और कुछ नया सिखने का जूनून

 

Writing Skills की बात करें तो कोई भी बंदा जन्म से Writer नहीं बनता हैं। Writing स्किल को डेवेलोप करना होता है। जब आप बाकि ब्लॉगर के Blogs पढोगे तो आप उस को देख सकते हैं की वो लोग कैसे लिख रहे हैं या फिर मैं कैसे लिख रहा हूँ, और जब आप ऐसे करके सिर्फ एक आर्टिकल लिख लोगे तब आपका Confidence बढ़ेगा और आप धीरे धीरे अपनी क्वालिटी को Improve करके आप का Writing स्किल बढ़िया बना सकते हैं।

 

 

ब्लॉग्गिंग के लिए कितना Investment चाहिए आपको ?

 

 फ्री में आपका ब्लॉग कभी सक्सेस नहीं होंगी। होंगी भी तो 5 साल लग जायेंगे या उससे भी ज्यादा। जैसे बहुत सारे क्या करते हैं की blogger.com पर ब्लॉग बनाते हैं और जो सब कुछ फ्री में मिलता है उसमें ब्लॉग बना लेते हैं, अपना एक भी रूपया खर्स नहीं करते हैं। अरे कमसे कम एक Domain Name तो ले ही लेना चाहिए। हाँ अगर आप Hosting नहीं ले सकते हो तो ठीक है लेकिन डोमेन name तो 500 या 600 रूपए में मिल जाता है उसको आपको जरूर लेना चाहिए।

 

तो अगर आप hosting ले सके तो और भी अच्छा है। 5000 के अंदर आपको बढ़िया hosting मिल जातें हैं एक साल के लिए।

 

आपका Time और Efforts एक बहुत बड़ा Investments हैं। क्यूंकि यही होता है जो आपको एक Successful Blogger बनाते हैं। इसमें बहुत सारी चीजें सीखनी होती हैं और बहुत कुछ काम करना पड़ता है पहले कुछ 6 महीने या एक साल में उसके बाद धीरे धीरे आपका काम कम होता चला जायेगा।

 

हाँ अगर आपके अंदर कुछ सीखने का जूनून है तभी आप ब्लॉग्गिंग में सक्सेस पा सकते हैं। क्यूंकि बहुत सारी चीजें जो होती है सीखना तो पड़ता ही है और उसके साथ साथ उसको आपके ब्लॉग में Implement भी करना पड़ता हैं।

 

 

Blogging vs Youtube Channel

 

Blogging vs Youtube



बहुत सारे लोगों के मन में ये Confusion रहता है की मैं ब्लॉग्गिंग स्टार्ट करूँ या फिर यूट्यूब चैनल स्टार्ट करूँ। तो इन दोनों में difference क्या होता हैं ?

 

तो देखिये Videos आज की तारीख में बहुत ज्यादा बूम कर रहे हैं। मतलब इसका जो मार्किट है वो continuously Grow कर रहा है। जो लोग वीडियो Creators है उन लोगों का फ्यूचर बहुत ब्राइट है। और उनके साथ साथ उन लोगों का फ्यूचर बहुत ब्राइट है जो वीडियो marketers है।

 

 Youtube एक Top प्लेटफार्म है वीडियो के लिए। इनके अलावा भी कुछ वीडियो प्लेटफार्म है जैसे की Facebook, Instagram etc.

 

लेकिन Compare करके देखा जाये तो Blogging एक बहुत ज्यादा Income देने वाला Way है। और इसका डिमांड कभी कम होने वाला नहीं हैं। क्यूंकि जो भी हो लोगों को पढ़ना अच्छा ही लगता हैं। और ये बहुत बड़े बड़े Experts का कहना है।

 

 

Youtube और ब्लॉग्गिंग के बारे में कुछ बातें 

 

1. ये Passive Learning है। इसका मतलब आपको इसमें Actively कुछ सीखना नहीं पड़ता है, आप multitasking करके भी videos देख सकते हैं।

 लेकिन ब्लॉग्गिंग में आपको Active Learning करना पड़ता हैं। जो भी text होते हैं उसको Active तरीकेसे ही पढ़ना होता है। लेकिन आज भी लोग text को पढ़ते हैं।

 

2. Youtube स्टार्ट करने के लिए आपको एक कैमरा और Video Editing Tool चाहिए होता है।

 ब्लॉग्गिंग स्टार्ट करने के लिए आपको Domain name और Hosting की जरुरत होती है। और एक लैपटॉप।

 

3. यूट्यूब के आपको कोई राइटिंग स्किल की कोई जरुरत नहीं होती। आप सिर्फ points लिख कर भी वीडियो create कर सकते हो। लेकिन ब्लॉग्गिंग में आपको Writing Skills जरुरत होती है।

 

4. यूट्यूब में कंटेंट क्रिएट करने के लिए आपको बहुत ज्यादा टाइम लगता है, जैसे की पहले वीडियो की script लिखना पड़ता है। उसके बाद वीडियो बनाना होता है, एक ही बात को बार बार shoot करना होता है एक अच्छे वीडियो के लिए और उसके बाद उसको edit करना होता है और उसके बाद अपलोड करने के लिए title, description और tags का use करना होता है और उसको use करने के लिए आपको पहले उसका research करना होता है।

 लेकिन ब्लॉग्गिंग में ब्लॉग पोस्ट लिखा कुछ keywords को research करके और उसके बाद photos या इन्फोग्राफिक लगाया और उसको publish किया उसके बाद धीरे धीरे बैकलिंक बनाया उस ब्लॉग पोस्ट का। तो काम खत्म।

 

5. यूट्यूब में आपको हर 1000 views का $0.2 से $2 या $5 मिलता है Adsense से। लेकिन ब्लॉग्गिंग में आपको 1000 views का $1 से $10 या $50 तक मिल जाता है। $50 आपको तभी मिलेगा अगर आपकी ब्लॉग अमेरिका में देखा गया है तो।

मेरा जो ब्लॉग है उसमें मुझे हर 1000 views पर $5 से $10 मिलता है। ये depend करता है आपके ब्लॉग में आपने कितने CPC वाले keywords को use किया है।

 

6. यूट्यूब में आपको सिर्फ आपको यूट्यूब से ही visitors मिलेंगे यानी subscriber या viewers सिर्फ यूट्यूब से ही आएंगे।

 लेकिन ब्लॉग्गिंग में आपको ट्रैफिक कही से भी मिल सकता है। आपको गूगल से, फेसबुक से, ट्विटर से, ईमेल से, direct ट्रैफिक भी मिलते हैं, push notification होता है।

 

7. यूट्यूब और ब्लॉग्गिंग दोनों में ही आप Ad, Affiliate मार्केटिंग, Sponsored और Course या services sell करके पैसा कमा सकते हैं। लेकिन ज्यादा तर लोगों का main इनकम source सिर्फ adsense की ads ही होता है।

 

8. यूट्यूब फ्यूचर में और भी बहुत ज्यादा Grow करने वाली है। ब्लॉग्गिंग भी ग्रो करने वाली है लेकिन प्रोसेस स्लो है। लेकिन अगर आपको बहुत ही अच्छे इनकम चाहिए तो वो आपको सिर्फ ब्लॉग्गिंग ही दिला सकते हैं।

 

इन points को जाकर आपको यही decide करना है की आप ब्लॉग्गिंग भी करें और यूट्यूब पर भी एक चैनल बना लीजिये। दोनों में काम कीजिये। कोई नहीं कह सकता की आपको सक्सेस कहाँ मिलेगा। हो सकता है आपको यूट्यूब ज्यादा जल्दी सक्सेस मिल जाये और हो सकता है आपको जल्दी सक्सेस न मिलें, आपको ब्लॉग्गिंग में ही बहुत जल्दी सक्सेस मिले। तो दोनों में काम कीजिये। हो सकता है दोनों में आपको जल्दी सक्सेस मिल गया हो। तो ऐसा होता है दोस्त।

 

 

Scope of Blogging in India

 

Content2Bconsistently2BUpload2BUpdate2BPublish



 आप मुझे और दूसरे बहुत सारे सक्सेसफुल ब्लॉगर को देख सकते हैं। तो देखिये इंटरनेट पे कुल मिलकर 1.7 Billion Websites हैं और इनमें से 600 Millions सिर्फ Blogs हैं।

 

600 Millions blogs में से 55% English language में हैं और बाकि 45% blogs other languages में हैं।

 

31 million bloggers सिर्फ USA में ही हैं। लेकिन India में सिर्फ 10 हज़ार Bloggers ही हैं, इतनी बड़ी Population में। हिंदी blogger कुछ 4-5 हज़ार ही हैं।

 

तो इनके हिसाब से हिंदी और Other Regional Languages में Future Bright हैं। अभी Internet Users तो हर दिन बढ़ रहा हैं। आप सोच भी नहीं सकते की अभी Blogging खास कर हिंदी ब्लॉगर के लिए बहुत सारा Scope है।

 

2011 में सिर्फ 110 Million इंटरनेट users थे, 2016 में 409 million थे और लेकिन KPMG के reports के मुताबिक 735 million से भी ज्यादा लोग इंटरनेट use करेंगे।

 

77% लोग Daily कुछ न कुछ ऑनलाइन पढ़ते रहते हैं। और Successful bloggers हैं वो सभी Average 4 Hours देते हैं ब्लॉग पोस्ट को लिखने के लिए।

 

67% लोग जो डेली पोस्ट पब्लिश करते हैं और वो लोग सक्सेस्फुल हैं।

 

97% लोग सोशल मीडिया का use करते हैं सिर्फ ब्लॉग को प्रमोट करने के लिए।

 

61% US के लोग blogs को पढ़ने के बाद कुछ न कुछ खरीदते हैं।

 

तो आप इन Reports से जान गए होंगे की India में Bloggers का कितना Scope हैं आने वाले दिनों में। जब ये Reports मैं बना रहा था तो मुझे भी अच्छा लगा ये जानके की मैं और बहुत कुछ कर सकता हूँ ब्लॉग्गिंग फील्ड में। और आप भी कर सकेंगे।

 

 

Hindi Blogs vs English Blogs

 

 तो India में हिंदी कंटेंट को करोड़ो लोग पढ़ते हैं और इसका डिमांड पहले से ज्यादा है। लेकिन लोग सोचते हैं की वो अगर इंग्लिश में ब्लॉग बनाएंगे तो ही चलेंगे, उससे पैसा कमा पाएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हैं अभी इंडिया में इंग्लिश से ज्यादा तो हिंदी blogs पढ़ी जाती है।

 

हाँ इंग्लिश ब्लॉग का फायदा ये है आपके ब्लॉग पुरे World Wide पढ़ा जायेगा, लेकिन नुकसान ये है की इतने करोड़ो इंग्लिश blogs है जिसमें हर दिन आर्टिकल पब्लिश किये जाते है तो अभी अगर आप इंग्लिश में ब्लॉग शुरू करते हैं आपका कही का नहीं रहेगा। इससे अच्छा है की आप हिंदी या Other Regional Language में Blogs बनाओ।

 

क्यूंकि India में अभी भी blogs की कमी हैं। अगर Compare करें इंग्लिश blogs से तो।

 

ऐसे कुछ ही लोग मतलब कुछ 100-200 लोग हैं जो blog से लाखों कमा रहे हैं। उनमें मैं भी एक हूँ।

 

तो अभी के टाइम में Hindi Blog ज्यादा better है इंग्लिश Blog की Comparison में। English blogs में जितना Competition हैं उसके तुलना में Hindi blog में उसका 1% ही Competition हैं। हाँ लेकिन ये बढ़ रहा हैं।

 

क्या आपको पता है Google आपके हिंदी ब्लॉग को ज्यादा Promote करेंगे, क्यूंकि हिंदी blogs की बहुत कमी हैं। तो आज अगर अभी के टाइम में एक हिंदी या कोई Other Regional languages के ऊपर ब्लॉग बनाते हैं तो आपको ज्यादा मेहनत नहीं करना पड़ेगा। क्यूंकि गूगल आपको बहुत ज्यादा support करता है।

 

 

एक सक्सेसफुल ब्लॉग कैसे बनाये ?

 

how to run a successful blog

 

तो एक सक्सेसफुल ब्लॉग का मतलब क्या होता है –

  •  अगर आपका ब्लॉग एक Authority ब्लॉग है,
  •  और एक सक्सेसफुल ब्लॉग एक ब्रांड की बिल्ड होता है।
  •  एक सक्सेसफुल ब्लॉग एक ही ट्रैफिक source पे डिपेंडेंट नहीं होता हैं।
  •  एक सक्सेसफुल ब्लॉग सिर्फ एक इनकम source के डिपेंडेंट नहीं होता है।

 

तो इस टाइप का एक सक्सेसफुल ब्लॉग आप कैसे बना सकते हैं ताकि long term में आपको एक stable इनकम दे सकें !

 

• Step 1 – Select your Niche

अगर आपको एक सक्सेसफुल ब्लॉग बनाना है तो आपको एक अच्छा Niche select करना बहुत जरुरी होता है। तो एक ऐसा Niche या Category ढूंढिए जिसमें आपका इंटरेस्ट हों, जिसमें आपका नॉलेज हो, जिसमें आपका ideas हों, जिसमें आपका पैशन हों, और जिसमें इनकम का पोटेंशियल हों।

 

 

• Step 2 – Book your domain & hosting

आपने जैसे ही Niche ढूंढ लिया तो आपको उससे रिलेटेड एक अच्छा सा डोमेन name choose कर लीजिये और उसके बाद आप अगर ले सकते हैं तो Hosting ले लीजिये, 5000 के अंदर डोमेन और होस्टिंग दोनों मिल जायेंगे आपको, नहीं तो आप Blogger.com से भी शुरुवात कर सकते हैं।

 

जब आप डोमेन ले रहे हैं तो बात का ध्यान रखें की आपको एक short मतलब 2-3 शब्द के अंदर ही एक डोमेन select करना हैं। और एक ऐसा डोमेन ले जो पहली बार नाम सुनके ही लोगों को वो याद रह जाएँ।

 

 

• Step 3 – Design your blog with themes and important plugins

आपने डोमेन ले लिया और होस्टिंग भी ले लिया, या फिर होस्टिंग न लेकर आप blogger.com पे ही शुरू किया है। तो आपको अपने ब्लॉग को एक बहुत ही look देना हैं। आपको पहले गूगल पे सर्च करना है की बेस्ट themes for blogger, तो आपको हज़ारों themes मिल जायेंगे। और उनमें से आपको एक अच्छा सा theme select करना है और purchase करना है और उसके बाद उस theme को अपने ब्लॉग में डालिये।

 

 अगर आपने होस्टिंग लेके वर्डप्रेस को use किया है तो आपको पहले एक अच्छा theme इनस्टॉल करना है और उसके बाद कुछ plugins install करना हैं।

 

 

• Step 4 – Research for long-tail keywords that can give rank fast

आपको अभी ब्लॉग पोस्ट लिखने की तैयारी करनी चाहिए की आपको ऐसे ऐसे keywords को ढूँढना है जोकि आपके ब्लॉग niche या टॉपिक से रिलेटेड हैं। आपको low competition और high cpc वाले keywords ढूँढना हैं। वो मैंने एक और ब्लॉग पोस्ट में लिखा हैं। नीचे मैंने उसका लिंक दिया है तो आपको उसको पढ़ने के बाद सारे डाउट क्लियर हो जायेंगे।

 

 

• Step 5 – Write Excellent content on researched keywords

आप मेरे कंटेंट को देख सकते हैं की मैंने कैसे लिखा और बाकि सारे ब्लॉगर के ब्लॉग भी आपको पढ़ना पड़ेगा तभी आपको लिखने का idea बहुत अच्छी तरीकेसे लग सकता हैं। पहले आप पढ़िए और ब्लॉग को उसके बाद ही आपने जो keywords research किया उसको use करके आर्टिकल लिखिए। आपको एक बात हमेशा ध्यान में रखना चाहिए की आपको किसी और का लिखा हुआ ब्लॉग पोस्ट कभी copy नहीं करना है। ऐसा करने से आपको कभी ब्लॉग्गिंग में सक्सेस नहीं मिलेगा।

 

 

• Step 6 – publish Content (Proofread & on-page SEO)

आपने ब्लॉग पोस्ट लिख लिया और उसके बाद आपको On-Page SEO करना है। और एक बाद आपको उस कंटेंट को अच्छे से पढ़ लेना है।

 

 

• Step 7 – Off-page SEO

आपने ब्लॉग पोस्ट को पब्लिश कर दिया तो उसके बाद आपको Off-page SEO करना पड़ेगा।

 

 

• Step 8 – Analyze (Engagement, Monetisation, Updates etc.)

तो जब आपने सब कुछ कर है तो आपको अभी पुराने पोस्ट फिर कुछ इम्प्लीमेंट करके उसको update करना होता है। आपको ये analyze करना आपकी ब्लॉग में लोगों का engagement कैसा है, लोग कितने टाइम आपके ब्लॉग पोस्ट को पढ़ रहे हैं और कमेंट में लोग आपसे क्या क्या पूछ रहे हैं उन सभी बात को आपको बारीकी से एनालाइज करना होता हैं।

 

इससे होगा क्या की आपके ब्लॉग continuously Grow होता रहेगा। नहीं तो ब्लॉग में धीरे धीरे लोग आने में बंद कर देगा। गूगल भी आपको support नहीं करेगा।

 

 

 Step 9 – Build authority on social platforms

 

use social media

 

अब आपको सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म में अकाउंट बना लेना है और सभी में आपकी कंटेंट को शेयर करना है और उसमें भी आपको लोगों को engage कराना है ताकि आपकी ब्लॉग में Authority build हों। गूगल आजकल आपकी ब्लॉग की अथॉरिटी पे बहुत ज्यादा ध्यान देता हैं।

 

आपको करना क्या है की सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म में आप लोगों को रेगुलर बेसिस पे कुछ न कुछ सीखाना शुरू कर दीजिये और इससे लोग आपके साथ जोड़ेंगे और आपका अथॉरिटी अच्छा बनता चला जायेगा।

 

 

Step 10 – Outsource your work

तो इसका मतलब क्या है की लोग महीने का $1000 कमाने लग गए हैं, लेकिन वो सभी पैसा अपने बैंक में जमा करके रख देते हैं। हमेशा खुद ही सारे काम को खुद ही करते रहते हैं। आपको ऐसा नहीं करना है, आप अगर ब्लॉग्गिंग को as a बिज़नेस देखते हैं तो आपको अपने काम को outsource करना ही पड़ेगा। जैसे fiver या upwork से लोगों को hire कर सकते हो। उनसे काम करवा सकते हो थोड़े पैसे खर्स करके। आपको ज्यादा करने की जरुरत नहीं है, आपको सिर्फ अपने ब्लॉग को maintain करना है।

 

बाकि ब्लॉग पोस्ट लिखना, बैकलिंक बनाना, seo करना वो सब आप किसी Freelancers Professionals से करवा सकते हैं। ऐसा करने से आपकी ब्लॉग जल्दी और ज्यादा Grow करेगी।

 

अगर आप अकेले $1000 कमा रहे हैं तो काम को Outsource करने से आपको महीने $5000 भी मिल सकता है। तो आप जब अच्छा इनकम कर रहे होंगे तो आपको लोगों को hire करना ही पड़ेगा।

 

मैं भी लोगों से लिखवाता हूँ। backlink बनाने का पैसा देता हूँ। seo करके देने का पैसा देता हूँ।

 

तो ये 10 Step से आप lifelong इनकम कर सकेंगे। पहला 6 steps बहुत जरुरी होती है और उसको बहुत जल्दी करना पड़ता हैं और बाकि जो 4 steps है उसको धीरे धीरे ही आपको करना पड़ता हैं।

 

 

क्या ब्लॉग्गिंग एक Long Term Career है ?

 

is blogging long term career

 

Yes, मैं 4 साल से ब्लॉग्गिंग कर रहा हूँ तो ये continuously grow होता चला जा रहा है। आप ये मानके चलिए की जब तक गूगल और इंटरनेट रहेगा, तब तक ब्लॉग्गिंग भी रहेगा। और गूगल कभी खत्म होने वाला है ही नहीं। क्यूंकि 90% इंटरनेट डिपेंडेंट हैं Google के ऊपर।

 

ये एक Safe Long Term करियर है। हाँ इसमें सक्सेस पाने में थोड़ी देर हो सकती है, लेकिन करियर के मामले में अगर ब्लॉग्गिंग के साथ साथ youtube, facebook page, instagram profile, pinterest इन सभी के ऊपर काम करेंगे तो आपको कोई सक्सेस होने से रोक नहीं सकता।

 

 

Best way to Learn Blogging in Hindi

 

अगर आपको ब्लॉग्गिंग सीखना है तो इसको कैसे सीखें ? तो ब्लॉग्गिंग सीखने की कुछ 6 तरीका है –

 

1 – Read Popular Blogs

बहुत सारे Blogs हैं जो ब्लॉग्गिंग बारे में लिखते हैं, जैसे मेरा ब्लॉग – thoughtinhindi.com , shoutmeloud.com , hindimehelp.com , supportmeindia.com , shoutmehindi.com , blogginghindi.com , allhindimehelp.com , backlinko.com etc.

 

मैंने इन सभी पढ़ा था जब मैंने ब्लॉग्गिंग शुरुवात की थी। तो आप भी इसे पढ़े। मैं आज भी पढता हूँ इन blogs को। हर दिन नहीं, क्यूंकि टाइम मिलता नहीं है मुझे। लेकिन महीने में दो या तीन बार विजिट तो करता ही रहता हूँ।

 

 

2 – Attend Webinars and Seminars

आप ऑनलाइन webinars अटेंड कीजिये। ज्यादातर webinars paid होते हैं, लेकिन कही कही आपको फ्री में webinars कराया जाता है तो उसको आपको ढूँढना होगा, और ऑफलाइन सेमिनार्स अटेंड कीजिये। उससे भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं।

 

 

3 – Practice and Implement

आप खुद से प्रैक्टिस कर सकते है, और आपने other ब्लॉग को पढ़के जो कुछ भी सीखा उसको अपने ब्लॉग में इम्प्लीमेंट कर सकते हैं और उससे आपको सबसे ज्यादा बेनिफिट मिलेगा, क्यूंकि खुद का experience बहुत ज्यादा हेल्प करता है लॉन्ग टर्म में, हाँ इससे आपको समय ज्यादा लगेगा, लेकिन आप जो बनोगे न आप सोच भी नहीं सकते !

 

मैं इसी तरीकेसे 90% ब्लॉग्गिंग सीखा है। इम्प्लीमेंट कर करके सीखा क्या कुछ काम करता है और क्या नहीं करता है। और उसके साथ मैं यूट्यूब की वीडियोस देखके भी मैंने कुछ दो-चार बातें सीखी हैं।

 

इन तरीकेसे ब्लॉग्गिंग सिखने से आप किसी और को भी Easily सीखा सकते हो।

 

 

4 – Watch Youtube Videos

आप यूट्यूब पर videos देख के सीख सकते हैं। बहुत ब्लॉगर जो है उनका यूट्यूब चैनल भी है तो आप उनसे सीख सकते हैं। और ऐसे में आप updated रह पाएंगे।

 

 

5 – Mentorship from Experts

आप Experts से mentorhsip ले सकते हों, जैसे मैं भी एक Expert हूँ। तो आप मुझसे भी सीख सकते हों।

 

 

6 – Join Courses

बहुत सारे ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग के ऑनलाइन और ऑफलाइन courses मिलेगा और उसको खरीद सकते हैं आप। हाँ आपको फ्री courses भी मिल जायेंगे। आप वो भी ले सकते हों।

 

तो ये सारे तरीके हैं जिससे आप ब्लॉग्गिंग सीख सकते हैं।

 

 

तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह Blogging के बारे में A to Z जानकारी – Blogging in Hindi कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस ब्लॉग पोस्ट से आपको क्या सिखने को मिला और क्या नहीं मिला मुझे वो भी बताये और इस Blogging के बारे में A to Z जानकारी – Blogging in Hindi को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

 

Wish You All The Very Best.

Leave a Comment