Snake Plant के बारे सभी जानकारी – All About Snake Plant in Hindi

All About Snake Plant in Hindi – दोस्तों स्नेक प्लांट के बारे में आपने सुना ही होगा। की NASA ने इसे Air Purifying प्लांट में लिस्ट किया है। तो आज हम इस प्लांट के बारे में जानेंगे।

 

स्नेक प्लांट को हम Sansevieria के नाम से भी जानते हैं या Mother-in-Law’s Tongue भी कहते हैं। दोस्तों इस स्नेक प्लांट की कुछ 70 verity होती है। मेरे घर में भी है ये स्नेक प्लांट (2 Verity)। मैंने क्यूँ लगाया इसके बारे में भी बात करेंगे आज।

 

 

Table of Contents

Snake Plant के बारे सभी जानकारी – All About Snake Plant in Hindi

 

 

सबसे पहले इसके फायदे के बारे में जान लेते हैं।

 

स्नेक प्लांट (Sansevieria) के फायदे –

 

  1. ये Air Purifying Plant है।
  2. ये हवाओं में मजूद एयर पोलूटेंट्स (टॉक्सिक एयर) जैसे – फॉर्मलडीहाईड, बेंज़ीन, ऑक्सीलिन, अमोनिआ, जाइलिन etc. को एब्सॉर्व करता है अपनी पत्तिओं के जरिये।
  3. और ये स्नेक प्लांट रात में लगातार घर के टॉक्सिक एयर को purify करता रहता है। इसलिए इसे घर के अंदर रखा जाता है।
  4. अगर आप Air Purifier खरीदना नहीं चाहते हैं तो ये Sansevieria या स्नेक प्लांट ही आपके घर के लिए काफी है। क्यूंकि एक अच्छी Air Purifier 5000 रूपए से ज्यादा लेते हैं।
  5. सबसे ज्यादा फायदा नेचुरल Air Purifier है और ये आपको कभी हानि नहीं पहुंचाएगी। और बहुत ही कम प्राइस में इसे आप खरीद पाएंगे।
  6. स्नेक प्लांट को ज्यादा केयर नहीं चाहिए।
  7. स्नेक प्लांट रात में भी ऑक्सीज़न रिलीज़ करता रहता है।
  8. स्नेक प्लांट में इन्सेक्ट ऑलमोस्ट नहीं के बराबर लगते हैं।

 

हमारे घर में होने वाले सभी तरह की प्लास्टिक, सभी तरह की केमिकल युक्त सामग्री, और सभी तभी तरह डिओड्रेंट, आयल, कुशन्स, क्लोथ्स etc. से जो टॉक्सिन्स निकलते हैं और इससे हमें कोई तरह बीमारियां (थकान, साँस लेने में परेशानी, कब्ज, अलग अलग तरह की पैन, स्किन प्रॉब्लम, कैंसर etc. ) होते की संभावना बढ़ जाता है या होता है और अगर उस बीमारी को खत्म करना है तो आपके घर में शुद्ध हवा होना चाहिए।

 

तो ये स्नेक प्लांट आपके घर में मिलने वाले बहुत तरह की टॉक्सिन्स को एब्सॉर्ब कर लेता है और हवा को शुद्ध कर देता है।

 

 

घर में कितने स्नेक प्लांट (पौधे) लगाना चाहिए ?

 

अगर आप ऐसी जगह रहते हैं जहाँ Pollution बहुत ज्यादा है तो स्नेक प्लांट (Sansevieria) को घर के कोने कोने जरूर लगाए। एक इंसान के लिए 40-50 cm वाली प्लांट 3-4 काफी है और अगर आपके घर 3 या 4 लोग है तो 10 या 12 प्लांट आज ही खरीद लाइए और लगाइये।

 

 

स्नेक प्लांट दिखने में कैसा है ?

 

ये एक मजबूत, नुकीली, 18 इंच तक लंबी और चौड़ी बढ़ने वाली पत्तियों का प्लांट होता है। कुछ टाइप ऐसे है जो सांप की तरह दिखने लगता है और कुछ छोटा और राउंड shape में होते हैं, ये स्नेक प्लांट देखने में बहुत ही सुंदर है। स्नेक प्लांट को कुछ 7 कलर में देखा है मैंने, जैसे – ग्रीन, ग्रीन और येल्लो, येल्लो, ग्रीन और ग्रे, रेड, ग्रीन और वाइट, ग्रीन और ब्लू मिक्स, etc.

 

Snake Plant variety

 

ये स्नेक प्लांट यूरोप, अफ्रीका और एशिया के ज्यादातर गरम वातावरण और थोड़ा सा ठंडा वातावरण इलाके में पाए जाते है।

 

 

स्नेक प्लांट घर में लगाने से आपको कौनसी सावधानियां (Precautions) बरतनी होगी ?

 

ये एक Poisonous प्लांट है इसलिए अगर आपके घर में बच्चे या पालतू जानवर है तो आप इस प्लांट को ऐसी जगह रखे जहाँ आपका बच्चा या पालतू जानवर इस प्लांट के आसपास ना आ पाए या ना पकड़ सके। बस इसी का ध्यान रखें।

 

 

स्नेक प्लांट घर में कौनसी एरिया में लगाए ?

 

क्यूंकि स्नेक प्लान एक Indoor Plant है, इसलिए स्नेक प्लांट को घर में ऐसे जगह रखें जहाँ दिनभर Indirect Sunlight आ सके (बैडरूम, बाथरूम, ड्राइंगरूम, हॉल etc.)। आप इसे डायरेक्ट सनलाइट में कभी ना रखें (कभी रखना पड़े तो 2 घंटे से ज्यादा मत रखें)। क्यूंकि धीरे धीरे पत्तियां गलने लगता है और सिकुड़ जाता है। आप इसे आर्टिफीसियल लाइट कंडीशन में भी रख सकते हैं (लेकिन इसके लिए 10-15 दिन में एक बार कुछ 1 घंटा आप सुबह की सनलाइट में जरूर रखें)।

 

मान लीजिये की आपके घर में जो बैडरूम है उसमें सनलाइट नहीं पड़ता है तो इसके लिए आप एक लाइट दिन भर जला कर रखा सकते हैं ताकि प्लांट को लाइट मिलता रहे। मतलब स्नेक प्लांट को लौ लाइट चाहिए तो आप इसे कही पे भी रख सकते हैं।

 

लेकिन एक बात हमेशा ध्यान रखिये की इसे लाइट जरूर चाहिए। हर दिन धीमी रौशनी चाहिए ही चाहिए।

 

अगर आप इस सही माहौल में रखेंगे तो ये बहुत लम्बी लाइफ जीते है और हेल्थी होते है।

 

 

स्नेक प्लांट को कैसी मिट्टी चाहिए ?

 

क्यूंकि स्नेक प्लांट एक Succulent है और हर सुकुलेंट की जब हम मिट्टी उसमें हम 3 Important पोटिंग मिक्स करते हैं –

 

1/3 गार्डन साइल or परलाइट

1/3 रिवर सैंड (घर बनाने वाली बालू या बजरी)

1/3 कम्पोस्ट (गोबर या वर्मी कम्पोस्ट या पत्ते की खाद)

 

आप चाहे तो मिट्टी की जगह वर्मिक्युलाइट, पीट मॉस या परलाइट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं (ये आपको ऑनलाइन या आपके आसपास नर्सरी में मिल जायेंगे)।

 

 

स्नेक प्लांट में कितना पानी देना चाहिए ?

 

  1. गर्मी में एक दस या 15 दिन में एक या दो बार दीजिये। और ठंडी में एक महीने एक बार काफी होता है।
  2. पानी ऐसे दीजिये जैसे की वो पॉट से ड्रेन आउट या बाहर निकल जाये और मिट्टी थोड़ा सा moisture (गिलापन) रहे।
  3. बहुत ज्यादा पानी इसकी root को गला देता है, इसका ध्यान जरूर रखें।
  4. एक एक प्लांट में सिर्फ एक ग्लास पानी दीजिये जैसे मैं देता हूँ।
  5. गर्मी के दिन मैं हर 15 दिन में एक बार एक फुल ग्लास पानी देता हूँ (छोटे या मध्यम पॉट के लिए).
  6. और मैं बड़े पॉट को 2 ग्लास पानी देता हूँ हर 15 दिन एक बार गर्मी के दिन।
  7. और ठंडी के दिन महीने में एक बार एक ग्लास छोटे पॉट के लिए और 2 ग्लास एक बार बड़े पॉट को पानी देता हूँ।
  8. गीली मिट्टी में पानी कभी ना दीजिये, इससे इसके रूट्स गलके प्लांट ख़राब हो जायेंगे।

 

और जब आप पानी दें तो एक बात ध्यान हमेशा रखें की एक्सेस पानी बाहर निकल जाये। और मिट्टी थोड़ी सी ही moisture (नमी या गीलापन) रहें।

 

 

स्नेक प्लांट कब ग्रो होता है ?

 

  1. स्नेक प्लांट ज्यादातर देखा गया है की summer यानी गर्मिओं में ये प्लांट बहुत ज्यादा ग्रो करता है।
  2. ठंडे के दिन ये ग्रो नहीं करता है क्यूंकि ये winter सीजन स्नेक प्लांट को अच्छा नहीं लगता है।
  3. इसलिए विंटर के सीजन में overwatering ना करें।

 

 

स्नेक प्लांट हैल्दी है या नहीं कैसे पहचानेंगे ?

 

  1. जब स्नेक प्लांट हैल्दी होता है तो इसके पट्टे बहुत स्ट्रांग होता है और sturdy होता है।
  2. रुट बहुत मजबूत होंगे और ये रुट पुरे पॉट को झकड़के रहते हैं।
  3. मतलब आपको पॉट से इसे निकालने के लिए ज्यादा मेहनत लगेगी।
  4. अगर स्नेक प्लांट पट्टी थोड़ी नरम है, नीचे गिर रही है तो समझ लीजिये की आपका प्लांट हैल्दी नहीं हैं।

 

 

स्नेक प्लांट की लाइफ कितने साल की होती है ?

 

स्नेक प्लांट 5 साल – 25 साल तक जीते है अगर इसकी केयर अच्छे से हों तब।

5 से 10 साल स्नेक प्लांट बहुत आराम से चल जाते हैं। अगर कम लाइट है पट्टी ढीली हो रही है तो थोड़ी सी सनलाइट उसे दिया करें(आधा या एक घंटा)।

 

 

स्नेक प्लांट में इन्सेक्ट अटैक के लिए क्या करें ?

 

वैसे स्नेक प्लांट में 99.99% इन्सेक्ट अटैक नहीं होते हैं। हाँ अगर कोई कीड़ा लग जाये तो आप थोड़ा सा नीम खली दे सकते है। (नीम खली नीम की पत्तिओ से बना होता है।)

 

 

स्नेक प्लांट को रिपोटिंग कब करना चाहिए ?

 

हमे तब तक स्नेक प्लंट को रिपोटिंग नहीं करनी चाहिए, जब तक हमे इसकी रुट बाउंड नहीं दीखता है। बार बार अलग पॉट में लगाना इसे पसंद नहीं है।

जब आप दिखे की प्लांट बहुत बड़ा हो गया है की प्लांट पॉट के साइज तक भर गया है और जब आपको दिखें की इसकी रुट बाहर आने लगी है तो तब आप इसको रिपोटिंग करिये। और तब इसे प्रोपोगेट भी कर दीजिये।

 

 

स्नेक प्लांट को प्रोपोगेट कैसे करें ?

 

इसकी दो मेथड्स है –

  1. रुट डिवीज़न
  2. लीफ कटिंग

 

रुट डिवीज़न –

 

इसके लिए जब आपको दिखेगा की main प्लांट से अलग अलग रुट निकलके और छोटे छोटे पौधे (2 या 3 इंच की) बनने लगते है और वो आपस में जुड़े रहते हैं। और जहाँ भी जॉइंट आपको दिखें वही आप तोड़ लीजिये और उसको आप एक अलग पॉट में सॉइल मिक्सर में लगा दीजिये, और आपका एक नया पौधा तैयार हो जायेगा।

 

 

लीफ कटिंग –

 

  1. इसके लिए आप कोई भी बड़ी पट्टी को नीचे से 1 इंच छोड़ कर काट लीजिये।
  2. काटने के बाद आपको दिखेगा की कटिंग वाली जगह पर कुछ गिला substance दिखाई देगा, जब तक वो जम करके उस कटिंग एरिया को सील नहीं कर देता तब तक आप कही सूखने के लिए रख दीजिये। जहाँ सनलाइट ना हों।
  3. आप चाहे तो एक बड़ी पट्टी को 45 डिग्री एंगल पर 2 इंच के छोटे छोटे टुकड़े कर सकते हैं। ये जरूर ध्यान रखिये की नीचे का हिस्सा कौनसा है और जो नीचे का हिस्सा है वो नीचे ही रहेगा।
  4. उसके बाद थोड़ा रिवर सैंड लीजिये और इसको थोड़ा गिला कर लीजिये।
  5. पोटिंग मिक्स को गिला करने के बाद आप कटिंग की हुई पट्टीओ को नीचे की हिस्से में सॉइल मिक्स में हल्का हल्का दबा दीजिये।
  6. और उसको कम लाइट वाली जगह पर रख दीजिये। इसे और पानी बिलकुल ना दें।
  7. करीब एक महीने बाद हटा कर देखिये थोड़ी थोड़ी रूट्स देखने को मिलेगा और तब जा के आप अपने सॉइल मिक्सर में लगा दीजिये। तो आपके नए पौधे तैयार हो जायेंगे।

 

 

स्नेक प्लांट में कौन कौन से प्रॉब्लम होते हैं ?

 

जब भी हम इसमें ओवर वाटरिंग करते हैं यानी जरुरत से ज्यादा पानी देते हैं, जब इसकी रूट्स में ज्यादा moisture रहता है, तो इसके रूट्स गलने लगते है। और पौधा ख़राब हो जाता है।

 

तो इसकी यही प्रॉब्लम आती है। तो आपको ओवर वाटरिंग नहीं करना है।

 

इसे मेन्टेन करना बहुत आसान होता है। रूट्स के आलावा इसमें कोई प्रॉब्लम आता ही नहीं है।

 

तो दोस्तों आज ही इस पौधे को लेके आईये और अपने घर में शुद्ध वातावरण बनाइये।

 

Just Click Image & Buy Now –

 

 

सम्बंधित लेख –

 

तो दोस्तों आपको आज का हमारा यह Snake Plant के बारे सभी जानकारी” कैसा लगा और आपका कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये और इस “Snake Plant के बारे सभी जानकारी” को अपने गार्डनर दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

 

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद,

Wish You All The Very Best.

Leave a Comment