Stan Lee की सक्सेस स्टोरी – सुपरहीरोज़ के क्रिएटर

Stan Lee की सक्सेस स्टोरी – Hello दोस्तों, क्या आपने Marvel की सारी मूवीज देखे है ? क्या आप सुपरहीरोज़ को पसंद करते हैं ? स्पाइडर-मैन, आयरन-मैन, फैंटास्टिक फोर, अवेंजर्स, एक्स-मैन, बैट-मैन, सुपर-मैन, थॉर, हल्क, etc. जैसे सारे मूवी सीरीज को देखा है तो उनके क्रिएटर के बारे में जानना तो बनता है, जहाँ 70 साल की मेहनत लगी हुई है, मैंने तो आज तक Marvel की कोई भी मूवीज मिस नहीं किया है, ये होते ही ऐसे है की लोगों का ध्यान बहुत जोड़ से खींचने लगता है।

तो आज हम उसी सुपरहीरो मूवीज की क्रिएटर Stan Lee के सक्सेस स्टोरी के बारे में जानेंगे की कैसे उन्होंने ऑफिस की एम्प्लॉय को लंच बॉक्स बाँटने से लेकर एक महान सुपरहीरो मूवी सीरीज की क्रिएटर बने।

तो चलिए शुरू करते हैं –

 

Stan Lee की सक्सेस स्टोरी

 

जब भी Spider Man, Batman, Superman, X-Men जैसे कैरेक्टर्स का नाम आता है तो उनके क्रिएटर के बारे में ज़रूर सोचा जाता है और इन सब सुपरहीरोज़ के पीछे एक ही इंसान थे जिनका नाम Stan Lee था, उन्होंने अपनी इमेजिनरी सोच से ऐसे कई कैरेक्टर्स को बनाया जिन्हें पूरी दुनिया बहुत पसंद करती है।

 

 

जन्म

 

Stan Lee का रियल नाम Stanley Martin Lieber था, जिनका जन्म 28 दिसंबर 1922 को न्यूयॉर्क अमेरिका में हुआ, जो एक एक्टर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और राइटर थे।

 

हर बड़ा इंसान बड़े स्ट्रगल से बड़ा बनता है और Stan Lee भी उन्ही बड़े इंसानों की तरह थे, उनका जन्म भी एक ग़रीब फ़ैमिली में हुआ था।

 

उनके पिता एक क्लोथिंग कंपनी में काम करते थे, फाइनेंसियल कंडीशन सही न होने की वजह से उन्हें स्कूल टाइम से ही पार्ट टाइम जॉब करनी पड़ी और उन्होंने डिलीवरी बॉय के रूप में काम करना शुरू किया।

 

 

सक्सेस जर्नी

 

16 साल की उम्र में उन्होंने Timely Comics में जॉइन किया, जहाँ उन्होंने काफ़ी छोटे-छोटे काम से स्टार्टिंग की जैसे पेन में इंक भरना, एम्प्लॉयीज़ के लिए लंच लाना, फ़ाइल्स को अरेंज करना और भी कई काम किये, फिर वो इसी कंपनी में एडिटोरियल असिस्टेंट बने और उन्होंने अपनी इमेजिनेशन से पहले सुपरहीरो को बनाया जिसका नाम डिस्ट्रॉयर रखा।

 

1942 में 20 साल की उम्र में वो वहाँ के एडिटर बन गए। जहाँ उन्होंने कॉमिक बुक की स्क्रिप्ट्स लिखना शुरू किया और वहाँ से उनका नाम Stan Lee हो चुका था। वो काफ़ी सालों तक उस कंपनी में एडिटर के पद पर रहे।

 

Stan Lee ने 1942 से 1945 तक सेकंड वर्ल्ड वॉर में US आर्मी भी जॉइन की और US आर्मी से वापस आने के बाद उन्होंने फिर से Timely मैगज़ीन को जॉइन किया। फिर उन्होंने दी विटनेस, जैक फॉरेस्ट और ब्लैक मार्वल नाम की बुक सिरीज़ बनाई, उस वक़्त Timely मैगज़ीन का नाम बदलकर Atlas हो चुका था।

 

उसी दौरान Stan Lee ने Atlas को छोड़ने का फ़ैसला किया क्योंकि वो उस काम को करके ऊब चुके थे और उसी दौरान उनकी एक राइवल कंपनी डी सी कॉमिक्स बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रही थी और डी सी कॉमिक्स को अगर कोई पीछे छोड़ सकता था तो वो Stan Lee थे।

 

यह बात Atlas Comics के मालिक को अच्छे से पता थी इसलिए उन्होंने Stan Lee को कंपनी न छोड़ने के लिए बहुत कन्विंस किया और Stan Lee कंपनी को न छोड़ने के लिए मान गए और अपना काम कंटिन्यू रखा।

 

1961 में Stan Lee ने उनके साथी आर्टिस्ट Jack Kirby के साथ मिलकर The Fantastic Four के कैरेक्टर्स का निर्माण किया, जिसने Stan Lee को बहुत सक्सेस दिलाई फिर उसके एक साल बाद Stan Lee ने Steve Ditko के साथ मिलकर Spiderman के कैरेक्टर को बनाया और इसके बाद में The Incredible Hulk के कैरेक्टर को भी बनाया गया।

 

Fantastic Four की सक्सेस के बाद Atlas Comics का नाम बदलकर Marvel Comics कर दिया गया और 1963 में Lee ने X-Men के कैरेक्टर को बनाया फिर 1972 में Stan Lee खुद एक पब्लिशर बन गए।

 

लगभग 60 साल तक कॉमिक्स की दुनिया में अपने जादू को दिखाने के बाद उन्होंने दूसरे प्रोजेक्ट्स में काम करना शुरू किया और 1999 में Lee ने अपनी खुद की कंपनी Stan Lee Media बनाई और अपने सुपरहीरोज़ को दुनिया के सामने लाया।

 

कुछ टाइम की सक्सेस के बाद फरवरी 2001 में उनकी कंपनी दिवालिया हो गयी, लेकिन 2004 में Pow Entertainment नाम की कंपनी बनी, जिसने Lee के सुपरहीरोज़ को फिर से पर्दे पर उतारा।

 

अगर Stan Lee की मूवीज़ की बात करे तो X-Men (2000) और Spider man (2002) इतनी हिट साबित हुई कि इन्होंने बिलियन डॉलर्स से ज़्यादा का बिज़नेस किया, इनके साथ ही Daredevil (2003), Hulk (2003) और Ironman (2008) भी ब्लॉकबस्टर साबित हुई।

 

Stan Lee भी इन मूवीज़ में गेस्ट अपीयरेंस के रूप में दिखाई दे चुके हैं, साथ ही Lee और Kirby की बनाई गई मूवीज़ भी ब्लॉकबस्टर रही जो Thor (2011), The Avengers (2012) और Ant-Man (2015) थी।

 

Lee जिन्होंने अपनी लाइफ़ में 300 से ज़्यादा सुपरहीरोज़ के कैरेक्टर्स को बनाया, जो लगभग सभी ब्लॉकबस्टर हैं, उनकी डेथ 12 नवम्बर 2018 को 95 की उम्र में हुई थी।

 

Lee ने अपनी क्रिएशन और इमेजिनेशन से दुनिया को कुछ ऐसे कैरेक्टर्स दिए जो एंटरटेनमेंट की दुनिया को एक नई ऊँचाई तक ले गए। किसने सोचा था कि ऑफिस में एम्प्लॉयीज़ के लिए लंच बॉक्स लाने वाला इंसान एक दिन महान क्रिएटर बनेगा जिसकी बनाई मूवीज़ पूरी दुनिया में बिलियन्स का बिज़नेस करेगी, बच्चों से लेकर बड़े भी उनके कैरेक्टर्स के फ़ैन हैं।

 

ये अविश्वसनीय काम हार्डवर्क, फोकस और कंसिस्टैंटली 70 से ज़्यादा साल एक काम में देने का रिज़ल्ट था।

 

 

Conclusion

 

तो दोस्तों आपने देखा कैसे एक इंसान चौकीदार से एक महान क्रिएटर बना है।

 

तो दुनिया में कुछ भी बनना आसान है। बस लगातार मेहनत करना जरुरी है।

 

आपको आज का यह पोस्ट Stan Lee की सक्सेस स्टोरी” कैसा लगा ?

 

आपने इस Stan Lee की सक्सेस स्टोरी से क्या सीखा ?

 

आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताये।

 

इस पोस्ट “Stan Lee की सक्सेस स्टोरी” को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

 

 

सम्बंधित लेख –

  1. APJ Abdul Kalam जी के सक्सेस स्टोरी – दी मिसाइल मैन
  2. Steve Jobs की सक्सेस स्टोरी – बोतल बेचने वाला Apple कंपनी को कैसे खड़ा किया ?
  3. Michael Jackson की सक्सेस स्टोरी – काला रंग उन्हें क्यूँ पसंद नहीं था?
  4. Bruce Lee की सक्सेस स्टोरी – एक इंच दुरी से पंच मारके लोगों को गिरा देते थे
  5. Charlie Chaplin की सक्सेस स्टोरी – 2000 महिलाओं के साथ Sex किया
  6. Michael Jordan की सक्सेस स्टोरी – गैंबलिंग की वजह से बास्केटबॉल छोड़ना पड़ा
  7. Albert Einstein जी की सक्सेस स्टोरी – लोगों को बोलते थे मैं आइंस्टीन नहीं हूँ
  8. Muhammad Ali की सक्सेस स्टोरी – सद्दाम हुसैन के सामने चला गया था
  9. Robert Downey Junior की सक्सेस स्टोरी – मैं ड्रग एडिक्ट थी
  10. Elon Musk की सक्सेस स्टोरी – उनके पास घर भी नहीं था
  11. Cristiano Ronaldo की सक्सेस स्टोरी – उनकी माँ उनको जन्म देना नहीं चाहते थे
  12. Bill Gates की सक्सेस स्टोरी – उन्हें हर एम्प्लॉय की कार की नंबर याद थी
  13. Walt Disney की सक्सेस स्टोरी – एक फिल्म ने उनको मिलियनेयर बना दिया
  14. Warren Buffett की सक्सेस स्टोरी – अपनी कमाई की 99% दान में दे दिया
  15. JK Rowling की सक्सेस स्टोरी – हैरी पॉटर सीरीज के लेखिका
  16. Mother Teresa की सक्सेस स्टोरी – लोगों को मदद करना उनका धर्म है
  17. Abraham lincoln की सक्सेस स्टोरी – एक टाइम में लकड़हारे का काम किया
  18. Stephen Hawking की सक्सेस स्टोरी – 58 साल उन्होंने व्हील चेयर में गुजारे

Leave a Comment